PM मोदी ने राज्‍यपालों के साथ की बेकाबू कोरोना पर चर्चा, बातचीत के अहम बिंदु

प्रधानमंत्री मोदी ने सभी राज्‍यों के राज्‍यपालों के साथ की बैठक. (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री मोदी ने सभी राज्‍यों के राज्‍यपालों के साथ की बैठक. (फाइल फोटो)

Covid-19 Pandemic: पीएम मोदी ने कहा कि माइक्रो कंटेनमेंट बनाने में राज्य सरकारों के साथ सामाजिक संस्थाएं सक्रियता से जुड़े, इसमें राज्यपाल भूमिका निभा सकते हैं. उनके सामाजिक नेटवर्क से अस्पतालों में एंबुलेंस, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की जरूरतों को बढ़ाया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 1:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बुधवार को देश के सभी राज्यों के राज्यपाल और उप-राज्यपालों के साथ बैठक की. इसमें उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, गृह मंत्री अमित शाह और स्वास्थ्य मंत्री भी शामिल हुए. प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि पिछले साल देश के लोग इस जंग में अपने कर्तव्य को समझते हुए शामिल हुए, जन भागीदारी की इस भावना को ही अब भी बढ़ावा देने की जरूरत है. अपनी सामाजिक दायित्व के कारण इस कार्य में राज्यपालों की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है. राज्य सरकारों और सामाज के बीच राज्यपाल एक महत्वपूर्ण कड़ी हैं. सभी राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों और आम लोगों की सामूहिक ताकत बहुत जरूरी है.

पीएम मोदी ने कहा कि माइक्रो कंटेनमेंट बनाने में राज्य सरकारों के साथ सामाजिक संस्थाएं सक्रियता से जुड़े, इसमें राज्यपाल भूमिका निभा सकते हैं. उनके सामाजिक नेटवर्क से अस्पतालों में एंबुलेंस, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की जरूरतों को बढ़ाया जा सकता है. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था में युवाओं की बड़ी भूमिका है. लिहाजा ये सुनिश्चित हो कि वो सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें. राज्यपाल विश्वविद्यालयों के छात्रों को भी जन भागीदारी में जोड़ने की दिशा में काम कर सकते हैं. पिछले साल की तरह ही अब भी एनसीसी और एनएसएस कोरोना रोकथाम में काम करने की जरूरत है.

Youtube Video


ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में 8 बजे से लग गया सख्‍त कर्फ्यू, जानें क्‍या खुलेगा और क्‍या बंद, यहां जान लें सभी जरूरी नियम
ये भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना का अब तक का सबसे बड़ा विस्फोट, 24 घंटे में आए 17, 282 नए केस और 104 लोगों की हुई मौत

इस साल की लड़ाई में पिछले साल के अनुभव से सिखना चाहिए: PM

कोरोना के बढ़ते मामलों पर पीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ इस बार की लड़ाई में देश को पिछले साल के अनुभव से सीखना चाहिए. उन्होंने कहा कि आरटी-पीसीआर टेस्ट की संख्या लगातार बढ़ रही है.





अब देश कोरोना से संबंधित अनेक चीजे खुद ही तैयार कर रहा है. सरकार वेक्सीन की उपलब्दता सुनिश्चित करने के लिए भी प्रतिबद्ध है. देश दुनिया में सबसे पहले 10 करोड़ वेक्सीन लगाने वाला बन गया है. टीका उत्सव के दौरान भी वेक्सीन लगाने के काम में काफी तेजी आई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज