• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 27 सितंबर को पीएम मोदी 'प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन' की करेंगे शुरुआत, एक क्लिक में जानें क्या हैं इसके फायदे

27 सितंबर को पीएम मोदी 'प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन' की करेंगे शुरुआत, एक क्लिक में जानें क्या हैं इसके फायदे

 इस सिस्टम के तैयार होने के बाद नागरिकों को ज्यादा बेहतर और तेजी से स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी. (फाइल फोटो)

इस सिस्टम के तैयार होने के बाद नागरिकों को ज्यादा बेहतर और तेजी से स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी. (फाइल फोटो)

इस स्वास्थ्य मिशन को अभी राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (National Digital Health Mission) के नाम से जाना जाता है और अब पीएम मोदी (PM Modi) 27 सितंबर को प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के नाम से पूरे देश में रोल आउट करेंगे. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट करके कहा कि इसके तहत लोगों को डिजिटल हेल्थ आईडी दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (Prime Minister Digital Health Mission) की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी (PM Modi) ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी. इस योजना के लागू होने के बाद पूरे देश में एक डिजिटल हेल्थ सिस्टम (Digital Health System) तैयार किया जा सकेगा. प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट करके कहा गया है इस सिस्टम के तैयार होने के बाद नागरिकों को ज्यादा बेहतर और तेजी से स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी.

    इस स्वास्थ्य मिशन को अभी राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के नाम से जाना जाता है और अब पीएम मोदी 27 सितंबर को प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के नाम से पूरे देश में रोल आउट करेंगे. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट करके कहा कि इसके तहत लोगों को डिजिटल हेल्थ आईडी दी जाएगी.

    कैसे काम करेगी ये डिजिटल स्वास्थ्य मिशन योजना

    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस योजना में देश के सभी नागिरकों के लिए एक यूनिट हेल्थ आईडी तैयार की जाएगी. इस आईडी में उस व्यक्त के स्वास्थ्य की पूरी जानकारी होगी. कहा जा रहा है कि इस आईडी को बनाने के लिए व्यक्ति के आधार नंबर और मोबाइल नंबर को प्रयोग में लाया जाएगा. इस आईडी में यह सभी जानकारी रहेंगी कि उस व्यक्ति ने पहले कहां कहां इलाज कराया और उसे कौन कौन सी बीमारियां थी.

    यहां पहले से ही चल रही योजना

    बता दें कि यह परियोजना वर्तमान में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लद्दाख, लक्षद्वीप और पुडुचेरी के केंद्र शासित प्रदेशों में लागू है. इस परियोजना में मुख्य रूप से चार भाग होंगे जिसमें अद्वितीय डिजिटल स्वास्थ्य आईडी, स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर रजिस्ट्री, स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री और इलेक्ट्रॉनिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड होंगे.

    इस मिशन में सरकार सबसे पहले एक यूनिक आईडी जनरेट करेगी. व्यक्ति को आधार नंबर की तरह ही एक हेल्थ यूनिक आईडी मिलेगा. अगर कोई व्यक्ति इलाज के लिए किसी डॉक्टर के पास जाता है को डॉक्टर इसी नंबर से ही उस व्यकित का पूरा हेल्थ रिकॉर्ड चेक कर सकता है.

    ये होंगे योजना के फायदे

    प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन को भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है. इससे न केवल मरीजों को बल्कि डॉक्टरों, शोधकर्ताओं को भी काफी लाभ पहुंचेगा. डिजिटल होने की वजह से कागजी कार्रवाई सं छुटकारा मिल जाएगा और डॉक्टर भी भली प्रकार से समझ सकेगा कि मरीज को पूर्व में कौन कौन सी बीमारी थी और आगे कौन से कदम उठाने हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज