Corona Vaccination in India: PM मोदी 16 जनवरी को शुरू करेंगे वैक्सीनेशन कैंपेन, COWIN ऐप भी करेंगे लॉन्च

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 16 जनवरी को सुबह 11 बजे वैक्सीनेशन प्रोग्राम की शुरुआत करेंगे. (फाइल फोटो)

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) की ओर से कोविड-19 (Covid-19) के इलाज के लिए दो वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है. जिनमें कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxine) शामिल हैं. वैक्सीनेशन के पूरे प्रोसेस की जानकारी के लिए कोविन ऐप लॉन्च किया जाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश में 16 जनवरी से कोरोना को हराने के लिए वैक्सीनेशन कैंपेन (Corona Vaccination in India) शुरू होने जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 16 जनवरी को सुबह 11 बजे इस वैक्सीनेशन प्रोग्राम की शुरुआत करेंगे. इस अवसर पर पीएम मोदी वैक्सीनेशन के लिए बनाई गई कोविन ऐप (COWIN) को भी लॉन्च करेंगे.

    सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट के साथ सोमवार को 1.1 करोड़ खुराक के लिए और भारत बायोटेक से 55 लाख खुराक के लिए खरीद समझौते पर हस्ताक्षर किए है. अधिकारियों का अनुमान है कि अगले छह से आठ महीनों में जोखिम भरी परिस्थिति में काम करने वाले लगभग 30 करोड़ ज्यादा लोगों को टीके लगाए जाएंगे.

    कोरोना टीकाकरण के लिए भारत तैयार, जानें इससे जुड़े हर सवाल का जवाब

    तीन फेज में होगा वैक्सीनेशन
    कोविड-19 का वैक्सीनेशन तीन चरणों में किया जाएगा. पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल होंगे. इसके बाद इमरजेंसी वर्कर्स का वैक्सीनेशन होगा. वहीं, तीसरे चरण में वैसे लोग जो पहले से ही किसी बीमारी से ग्रसित हैं, उनका वैक्सीनेशन किया जाएगा. एक व्यक्ति के वैक्सीनेशन का समय लगभग 30 मिनट का हो सकता है.

    ऐसे दी जाएगी वैक्सीन की खुराक
    कोविड-19 वैक्सीन की दो खुराक 28 दिनों के अंतर पर दी जाएगी. दूसरी खुराक दिए जाने के 14 दिन बाद वैक्सीन को सुरक्षा प्रदान करने की उम्मीद है. प्रशासित किए जाने वाले टीके की प्रभावशीलता खुराक मिलने के 14 दिनों के बाद देखी जाएगी और दो खुराकों के बीच 28 दिनों के अंतराल को बनाए रखना होगा.



    Covid-19 Vaccination: आधार-SMS और डिजीलॉकर... वैक्सीनेशन के लिए बनाए गए CoWIN ऐप की 10 खास बातें

    वैक्सीनेशन के पूरे प्रोसेस के लिए बना ये ऐप
    वैक्सीनेशन के पूरे प्रोसेस की जानकारी के लिए कोविन ऐप लॉन्च किया जाएगा. पिछले साल दिसंबर में, केंद्र सरकार ने को-विन ऐप लॉन्च करने की घोषणा की थी जिससे कि नागरिकों को वैक्सीन के वितरण में एजेंसियों को सहायता मिल सके. ऐप को, खासतौर पर नागरिकों को टीकाकरण प्रक्रिया के लिए खुद से रजिस्ट्रेशन कराने के लिए सक्षम करने के लिए भी डिज़ाइन किया गया है.

    आइए जानते हैं CoWIN ऐप से जुड़ी 7 बड़ी बातें....
    CoWIN पर रजिस्ट्रेशन करने से पहले इस ऐप को गूगल प्लेस्टोर से डाउनलोड करना होगा. इसके बाद पूरी ज़रूरी जानकारी डालकर अपना नाम रजिस्टर करना होगा. रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस जैसे आइडेंटिटी कार्ड जरूरी होंगे.
    वैक्सीनेशन में लगे हेल्‍थवर्कर्स और लोगों को जानकारी देने के 12 भाषाओं में SMS भेजे जाएंगे. इस ऐप पर अपना नाम रजिस्टर करने के बाद वेरिफिकेशन के लिए टाइमिंग और डेट के बारे में भी आपसे जानकारी ली जाएगी.
    CoWIN ऐप के जरिए आप यूनिक हेल्थ आईडी भी जनरेट कर सकते हैं. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पूरा करने के बाद ऐप पर दी गई गाइडलाइन्स जरूर पढ़ लें.
    गवर्नमेंट डॉक्‍यूमेंट एप DigiLocker को भी QR कोड बेस सर्टिफिकेट के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है. इसके लिए 24x7 हेल्‍पलाइन होगी. वैक्सीन लगवाकर एक QR कोड सर्टिफिकेट भी मिलेगा, जिसे सेव करके रखा जा सकता है.
    सरकार की ओर जानकारी दी गई कि कोविन ऐप के सॉफ्टवेयर को चेक करने के लिए अलग-अलग स्तर पर कई बार पूर्वाभ्यास किया गया है. 700 जिलों में 90 हजार से ज्यादा लोगों को सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल के बारे में जानकारी दी गई है.
    जहां तक प्राथमिकता वाले उम्र वर्ग की बात है तो उन्हें कोविन ऐप में ऑटोमेटिक तरीके से सेशन निर्धारित कर दिया जाएगा. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट टीकाकरण कार्यक्रम की तारीख निर्धारित करेंगे.
    स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि सभी राज्यों के 125 जिलों में 285 सेशन कोविन ऐप के आयोजित किए गए. पूर्वाभ्यास में मिले फीड बैक के आधार पर मंत्रालय ने कहा कि वैक्सीन को मंजूरी मिलने के 10 दिनों के भीतर टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.