Home /News /nation /

ओपिनियन - ऐसे ही नहीं हैं मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, यह नतीजा है दूरदृष्टि और संकल्प के प्रति समर्पण का

ओपिनियन - ऐसे ही नहीं हैं मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, यह नतीजा है दूरदृष्टि और संकल्प के प्रति समर्पण का

कुल मिलाकर राजनीति में नरेंद्र मोदी होना हर किसी नेता के वश की बात नहीं है. (फाइल फोटो)

कुल मिलाकर राजनीति में नरेंद्र मोदी होना हर किसी नेता के वश की बात नहीं है. (फाइल फोटो)

Morning Consult Political Intelligence Rating: मोदी इस समय अगर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं, तो यह ऐसे ही नहीं है. भारत की किसी पालतू एजेंसी ने उन्हें विश्व का सर्वाधिक पॉप्यूलर नेता करार नहीं दिया है.बल्कि यह आकलन है 'मार्निंग कंसल्ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस' वेबसाइट का. वेबसाइट ने विश्व के 13 नेताओं की लोकप्रियता सूची तैयार की है. पसंदीदा नेताओं की सूची में नरेंद्र मोदी का नाम क़रीब 71 प्रतिशत रेटिंग के साथ सबसे ऊपर है.

अधिक पढ़ें ...

डिजिटल दौर है, दुनिया ग्लोबल विलेज (Global Village) कहलाने लगी है.ऐसे में लोग एक-दूसरे को व्यक्तिगत तौर पर भले ही नहीं जानते हों, लेकिन वे समान विचारों के कारण एक मंच पर एकजुट ज़रूर हो जाते हैं. डिजिटल दौर में वैश्विक राजनीत में दिलचस्पी रखने वाले लोग दुनिया के कुछ सर्वाधिक चर्चित नेताओं की ख़ामियां और उनकी अच्छाइयों के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं. बहुत से घटनाक्रम ऐसे होते हैं, जिनसे जुड़े निर्णय लेने वाले नेताओं की लोकप्रियता का ग्राफ़ गिरता और ऊपर उठता है, लेकिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ऐसे नेता हैं, जिनकी लोकप्रियता का ग्राफ़ बहुत ज़्यादा ऊपर-नीचे नहीं होता.

लोकप्रियता के शिखर पर
मोदी इस समय अगर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं, तो यह ऐसे ही नहीं है. भारत की किसी पालतू एजेंसी ने उन्हें विश्व का सर्वाधिक पॉप्यूलर नेता करार नहीं दिया है.बल्कि यह आकलन है ‘मार्निंग कंसल्ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस’ वेबसाइट का. वेबसाइट ने विश्व के 13 नेताओं की लोकप्रियता सूची तैयार की है. पसंदीदा नेताओं की सूची में नरेंद्र मोदी का नाम क़रीब 71 प्रतिशत रेटिंग के साथ सबसे ऊपर है. दुनिया का सबसे ताक़तवर देश कहे जाने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन छठे नंबर पर हैं और उन्हें 43 प्रतिशत रेटिंग हासिल हुई है.

बाइडन के बाद कनाडा के राष्ट्रपति जस्टिन ट्रूडो का नाम है, उन्हें भी 43 प्रतिशत रेटिंग मिली है. ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन की रेटिंग 41 फ़ीसदी है.प्रधानमंत्री मोदी नवंबर, 2021 में भी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेताओं की सूची में अव्वल नंबर पर थे. यह वेबसाइट ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इटली, जापान, मैक्सिको, दक्षिण कोरिया, स्पेन, यूनाइटेड किंगडम और अमेरिका में प्रभावशाली नेताओं की लोकप्रियता रेटिंग का हिसाब रखती है।

नवीनतम रेटिंग 13 से 19 जनवरी, 2022 के बीच जुटाए गए आंकड़ों के आधार पर तय की गई है. मॉर्निंग कंसल्ट ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि रेटिंग प्रत्येक देश के वयस्क नागरिकों के सात दिन के औसत सर्वे पर आधारित होती है. सर्वे में शामिल लोगों की संख्या हर देश के मुताबिक अलग-अलग होती है. उल्लेखनीय है कि मई, 2020 में भी वेबसाइट ने नरेंद्र मोदी को सबसे ज़्यादा रेटिंग दी थी.उस वक्त उन्हें 84 प्रतिशत रेटिंग मिली थी.

दूरदृष्टि और संकल्प के प्रति समर्पण
मोदी अगर लोकप्रियता की सूची में लगातार शीर्ष पर हैं, तो इसका मुख्य कारण है कि उनकी दूरदृष्टि और संकल्पों के प्रति उनका समर्पण. केवल भावनात्मक रूप से ही नहीं, बल्कि भौतिक रूप से भी. अपने लगभग साढ़े सात के कार्यकाल में मोदी ने भारत के विकास की राह में कई ऐसे मील के पत्थर जड़वा दिए हैं, जिनकी बराबरी निकट भविष्य में केवल मोदी ही कर सकते हैं. कोई दूसरा ऐसा नहीं कर पाएगा, यह तय लगता है.

विकास का नया शिखर
जम्मू-कश्मीर में नई व्यवस्था हो या फिर एक साथ तीन तलाक़ के विरोध में क़ानून. अयोध्या में भव्य राम मंदिर का मामला हो या फिर काशी विश्वनाथ का भव्य रूप. देश में एक्सप्रेस वे के जाल का मामला हो देश में मेडिकल कॉलेज क्रांति लाने की बात या ग़रीबों का पांच लाख रुपये तक मुफ़्त इलाज का मसला, या फिर पाकिस्तान और चीन से लगे सीमाई इलाक़ों में बुनियादी ढांचे के विकास की बात… नई शिक्षा नीति लागू करने का मामला हो या फिर गांवों में पक्के आवास, बिजली, पानी, रसोई गैस और सड़कों का मामला… देश के सांस्कृतिक गौरव की भावना को शिखर पर ले जाने के प्रयास… हर मामले में मोदी सरकार ने मीलों आगे है.कोरोना के कारण स्थतियों में थोड़ा ठहराव सा ज़रूर आया है, लेकिन सही हालात फिर रफ़्तार पकड़ेंगे, यह तय है।

कुल मिलाकर राजनीति में नरेंद्र मोदी होना हर किसी नेता के वश की बात नहीं है. आइए अब आपको बताते हैं कि मोदी के बाद लोकप्रियता के शिखर पर कौन खड़ा है? उनके बाद दूसरे नंबर पर मैक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रे मैनुएल लोपेज ओब्राडोर हैं, जिनकी रेटिंग 66 प्रतिशथ है.तीसरा नंबर इटली के प्रधानमंत्री मारियो द्राघी का है, जिन्हें 60 प्रतिशत रेटिंग मिली है. जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा 48 प्रतिशत रेटिंग के साथ चौथे और 44 प्रतिशत रेटिंग के साथ जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज पांचवें नंबर पर हैं.

मोदी विरोधी करें अनुकरण
ज़ाहिर है कि अगर मोदी वैश्विक स्तर पर लोगों का दिल जीतने में कामयाब हैं, इस किसी को मन मसोसने की ज़रूरत नहीं है. भारत के लिए यह अच्छी बात है कि उसका नेता वैश्विक स्तर पर सर्वोच्च लोकप्रिय नेता के तौर पर स्वीकार किया जाता है. जिन्हे यह ख़बर अच्छी नहीं लगी होगी, उनके लिए यही सुझाव है कि अच्छी बातों को कम से कम मन ही मन तो स्वीकार कर ही लेना चाहिए और प्रयास करना चाहिए कि जो अच्छाइयां मोदी के व्यक्तित्व और कृतित्व में हैं, उन्हें अपनाया कैसे जाए, इस पर विचार कर चुपचाप उनका अनुकरण करना चाहिए.

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर