• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • शरद पवार की सलाह- PM मोदी, राजनाथ, गडकरी को करनी चाहिए किसान संगठनों से बात

शरद पवार की सलाह- PM मोदी, राजनाथ, गडकरी को करनी चाहिए किसान संगठनों से बात

किसान पिछले करीब चार महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं (फाइल फोटो)

किसान पिछले करीब चार महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं (फाइल फोटो)

Farmer Protest: शरद पवार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह एवं नितिन गडकरी जैसे वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों को किसान संगठनों से वार्ता करनी चाहिए.

  • Share this:

    मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने रविवार को कहा कि तीन नए कृषि कानूनों को लेकर जारी गतिरोध को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) एवं नितिन गडकरी जैसे वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों को किसान संगठनों से वार्ता करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि कृषि सुधारों से संबंधित मतभेदों को विचार-विमर्श के जरिए सुलझाया जा सकता है.

    पवार ने पुणे जिले के बारामति में संवाददाताओं से यह बात कही. उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह एवं नितिन गडकरी जैसे वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों को किसान संगठनों से वार्ता करनी चाहिए. पीयूष गोयल भी मुंबई से हैं और मुझे इस बात की जानकारी नहीं है कि वह कृषि के बारे में कितना जानते हैं.’’

    किसान प्रतिनिधियों के साथ हुई वार्ता में गोयल और अन्य केंद्रीय मंत्री शामिल रहे हैं. पवार ने कहा कि कृषि राज्य से जुड़ा मुद्दा है और राज्य सरकारों के साथ विचार-विमर्श के बाद ही इन कानूनों को लागू करना चाहिए था. पूर्व कृषि मंत्री के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल के दौरान वर्ष 2003 से ही कृषि सुधार के लिए कानूनों पर चर्चा की जा रही थी.

    ये भी पढ़ेंः- उत्तराखंड आपदाः रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान लोगों में जोश भरते नजर आए ITBP के जवान, Video Viral

    उन्होंने कहा, ‘‘मेरे समय में भी राज्य सरकारों से चर्चा की गई थी क्योंकि यह राज्य से जुड़ा मसला है. कानूनी मसौदा तैयार करने और अध्ययन के लिए नौ राज्यों के कृषि मंत्रियों की एक समिति गठित की गई थी. मसौदा तैयार कर राज्यों से इस पर चर्चा के लिए कहा गया था जबकि वर्तमान सरकार ने अपना कानून तैयार किया और बिना चर्चा किए हंगामे के बीच इन्हें संसद में पारित भी कर लिया.’’

    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज