PMC घोटाला : HDIL के डायरेक्टर्स के घर से रोल्स रॉयस और बेंटली समेत 12 लग्जरी गाड़ियां बरामद

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक के बाहर मौजूद लोग.

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक के बाहर मौजूद लोग.

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC) ने नियमों की अनदेखी कर अपने कर्ज का एक बड़ा हिस्सा भूमि और भवन निर्माण का कारोबार करने वाले हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) को दिया था. बैंक का 73 प्रतिशत से अधिक कर्ज एनपीए (अवरुद्ध) हो चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2019, 12:33 PM IST
  • Share this:
मुंबई. पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC) मामले में आर्थिक अपराध शाखा ने पूर्व एमडी जॉय थॉमस (Joy Thomas) को गिरफ्तार कर लिया है. इससे पहले पीएमसी घोटाला मामले प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 6 जगहों पर छापेमारी की थी. इस छापेमारी के दौरान ईडी को पीएमसी बैंक घोटाले के आरोप में हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) के दो डायरेक्टर्स के घर से करोड़ों रुपये और 12 लग्जरी गाड़ियां बरामद हुई हैं. दोनों आरेापी के घर से जो गाड़ियां बरामद की गई हैं, उनमें रेंज रोवर, रोल्स रॉयस, बेंटली, बीएमडब्‍ल्‍यू, बलेनो, क्‍वालिस और मर्सिडीज बेंज जैसी कारें भी शामिल हैं. इन कारों की कुल कीमत 40 करोड़ से अधिक होने का अनुमान है.



जानकारी के मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय ने जिन छह स्थानों पर छापेमारी की, उसमें बांद्रा (पूर्व) में एचडीआईएल के मुख्य कार्यालय और राकेश वधावन के निवास स्थान शामिल हैं, जिसे बांद्रा (पश्चिम) में वाधवन हाउस के रूप में जाना जाता है. ईडी ने पूर्व पीएमसी बैंक के चेयरमैन वरियाम सिंह और वर्तमान एमडी जॉय थॉमस के ठिकानों पर भी छापा मारा. दिलचस्प बात यह है कि छापेमारी के दौरान पाया गया है कि एचडीआईएल, कोलकाता नाइट राइडर्स के प्रायोजकों में से एक थी जो कि आईपीएल की एक क्रिकेट टीम थी.



Bank, Bank fraud, Enforcement Directorate, Raid, Mumbai





इस बीच रिजर्व बैंक ने बैंकिंग प्रणाली की स्थिति को लेकर व्याप्त आशंकाओं को दूर करने के लिए ग्राहकों से कहा है कि घबराने की कोई बात नहीं है. रिजर्व बैंक ने कहा कि वह सहकारी बैंकों के लिए नियामकीय रूपरेखा की समीक्षा करेगा. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि थॉमस को पूछताछ के लिए आर्थिक अपराध शाखा के कार्यालय में बुलाया गया था. पूछताछ के बाद उन्हें वहीं गिरफ्तार कर लिया गया.
Bank, Bank fraud, Enforcement Directorate, Raid, Mumbai



बताया जा रहा है कि पीएमसी ने नियमों की अनदेखी कर अपने कर्ज का एक बड़ा हिस्सा भूमि और भवन निर्माण का कारोबार करने वाले एचडीआईएल समूह की कपंनियों को ही दिया था. बैंक का 73 प्रतिशत से अधिक कर्ज एनपीए (अवरुद्ध) हो चुका है.एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आर्थिक अपराध शाखा ने एचडीआईएल की 3,500 करोड़ रुपये की संपत्तियां जब्त की है.



Bank, Bank fraud, Enforcement Directorate, Raid, Mumbai



बताया जाता है कि 31 मार्च, 2018 को समाप्त वर्ष के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक को सौंपे गए ऋण खातों के विवरण में पीएमसी ने एचडीआईएल और उस समूह के 44 ऋण खातों को 21,049 फर्जी ऋण खातों में बदल दिया. उन ऋणों का ब्यौरा कोर बैंकिंग सिस्टम में दर्ज नहीं किया गया. इसमें कहा गया है कि बैंक के निदेशक मंडल और अधिकारियों को इसकी पूरी जानकारी थी.



इसे भी पढ़ें :- 


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज