लाइव टीवी

पीएमके प्रमुख ने राजीव मामले में 7 दोषियों की रिहाई की पीएम मोदी से की मांग

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 6:15 PM IST
पीएमके प्रमुख ने राजीव मामले में 7 दोषियों की रिहाई की पीएम मोदी से की मांग
PMK के संस्थापक एस रामदास ने की पीएम मोदी से मुलाकात

पीएम (PM) से मुलाकात के दौरान रामदास ने राजीव गांधी (Rajeev Gandhi) हत्या मामले के सात दोषियों की रिहाई के लिए हस्तक्षेप का अनुरोध किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 6:15 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. पाट्टाली मक्कल कॉची (PMK) के संस्थापक एस रामदास (S.Ramadoss) ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) से नई दिल्ली में मुलाकात की. मुलाकात के दौरान उन्होंने राजीव गांधी (Rajeev Gandhi) हत्या मामले के सात दोषियों की रिहाई के लिए हस्तक्षेप का अनुरोध किया. पार्टी की ओर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि रामदास अपने पुत्र एवं राज्यसभा सदस्य अंबुमणि के साथ यहां पहुंचे और उन्होंने प्रधानमंत्री से 20 मिनट की मुलाकात की जो अच्छी और सार्थक रही.

पीएमके प्रमुख ने मोदी को एक पत्र सौंपा है. इसमें उन्होंने कहा है कि पिछले वर्ष उच्चतम न्यायालय ने तमिलनाडु सरकार को सात दोषियों- मुरुगन, संथन, पेरारिवलन, रॉबर्ट पायस, रविचंद्रन, जयकुमार और नलिनी की रिहाई के बारे में फैसला लेने की अनुमति दे दी थी.

रामदास ने बताया कि इसके बाद राज्य सरकार ने 9 सितंबर 2018 को एक मंत्रिमंडल का प्रस्ताव स्वीकार किया था जिसमें राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को उनकी रिहाई की सिफारिश भेजी थी. राज्यपाल कार्यालय ने इस मामले पर अभी कोई फैसला नहीं लिया है. उन्होंने कहा कि इसके कारण दुनियाभर के लाखों तमिल लोग निराश हैं.

रामदास ने कहा कि सातों लोग बिना किसी ठोस कारण के बीते 28 साल से जेल में हैं और यह मानवाधिकार का गंभीर उल्लंघन है. उन्होंने कहा कि यह अनुचित है.

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई 1991 में हत्या कर दी गई थी. श्रीपेरंबदुर में एक चुनावी प्रचार करने के दौरान प्रतिबंधित लिट्टे की एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था. मतदाता की उम्र 21 वर्ष से कम करके 18 वर्ष तक के युवाओं को चुनाव में वोट देने का अधिकार राजीव गांधी ने दिलवाया था.

ये भी पढ़ें : भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा को ‘Z’ कैटेगरी की सुरक्षा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 6:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...