Exclusive: 'राज बनकर मिला था मेहुल चोकसी, गिफ्ट में दिए थे हीरे'- मिस्ट्री गर्ल ने किए ये बड़े खुलासे

बारबरा इंवेस्टमेंट एडवाइजर हैं (twitter)

Mehul Choksi Case: मेहुल चोकसी के वकीलों ने चार लोगों के खिलाफ लंदन में एक शिकायत दर्ज कराई है. इसमें बारबरा जराबिका का नाम भी शामिल है, जिसे चोकसी की कथित गर्लफ्रेंड बताया जा रहा था. CNN-News18 से खास बात करते हुए बारबरा ने मेहुल चोकसी के बारे में कई खुलासे किए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक (PNB Scam) घोटाले का आरोपी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) खुद डोमिनिका गया या उसे अगवा किया गया, यह गुत्थी अभी भी उलझी हुई है. मेहुल चोकसी के केस की जांच का दायरा अब एंटीगा और डोमिनिका से भी आगे बढ़ गया है. चोकसी के वकीलों ने चार लोगों के खिलाफ लंदन में एक शिकायत दर्ज कराई है. इसमें बारबरा जराबिका का नाम भी शामिल है, जिसे चोकसी की कथित गर्लफ्रेंड बताया जा रहा था. अब बारबरा जराबिका (Barbara Jarabica) ने अपना पक्ष रखा है.

    CNN-News18 से खास बात करते हुए बारबरा ने मेहुल चोकसी के बारे में कई खुलासे किए. जराबिका ने बताया कि वह मेहुल चोकसी की दोस्त थीं, मेहुल ने बारबरा को खुद का नाम ‘राज’ बताया था. बारबरा के मुताबिक, मेहुल चोकसी ने पिछले साल अपनी विजिट के दौरान उनसे बात की थी. उसने दोस्ती बढ़ानी शुरू की और फ्लर्ट किया. बाद में उसने उन्हें डायमंड और ब्रेसलेट गिफ्ट में दिए, लेकिन वो भी नकली निकले.

    मेहुल चोकसी के 'किडनैपिंग' मामले में पुलिस को मिला नया एंगल, कौन है वो मिस्ट्री मैन?

    उसका ये भी कहना है कि चोकसी की किडनैपिंग में उसका कोई हाथ नहीं है. दोनों सिर्फ अच्छे दोस्त थे. उसका भारत में चोकसी के फ्रॉड में भी कोई हाथ नहीं है. चोकसी से मुलाकात के दौरान सब कुछ नॉर्मल लग रहा था और उसने चोकसी को सिर्फ एक अच्छे दोस्त के रूप में ही देखा.

    मेहुल चोकसी केस में बारबरा जराबिका से हुई बातचीत के खास अंश:-

    ऐसी खबरें हैं कि आप मेहुल चोकसी के साथ काफी समय से जुड़ी हुई हैं?
    हां, मैंने ये खबरें देख रही हूं. पिछले सप्ताह से मेरे पास कुछ मैसेज, स्टोरी लिंक्स और फोन कॉल्स भी आ रहे हैं. उसके बाद ही मुझे यह कहानी पता चली. ये भी पता चला कि मेरा तथाकथित दोस्त राज... जिसने एक दिन मुझे राज के रूप में अपना परिचय दिया था. रेस्टोरेंट में भी सभी उन्हें राज के नाम से जानते थे. वो झूठा है.

    मुझे मालूम हुआ कि उसका नाम राज नहीं, बल्कि मेहुल चोकसी है. मुझे उसके बारे में भी पता चला कि वो बड़ा ज्वैलर्स है. लेकिन उसने अपना बिजनेस बेच दिया है. लेकिन यह वास्तव में सच नहीं है, क्योंकि वह धोखेबाज है. उसने कई झूठ बोले थे, जिनके बारे में हाल ही में मुझे मालूम चला. यह चौंकाने वाला है.

    आप मेहुल चोकसी से कैसे मिलीं?
    मैं उनसे मिली... ठीक है, मैं एंटीगा में थी. मैंने पिछले कुछ वर्षों में आमतौर पर कैरिबियन देशों का दौरा किया है. मैं बहुत यात्रा करती हूं. दो साल पहले मैं पहली बार एंटीगा गई थी और उससे मिली. मैं राज से अगस्त में मिली थी. यानी करीब आठ महीने पहले. हमने उस क्षेत्र में एक Airbnb किराए पर लिया था, क्योंकि कोविड के कारण, वहां बहुत सारे होटल या अन्य घर उपलब्ध नहीं थे.

    हम कुछ दिनों के लिए उस क्षेत्र में रहे. जब मैं चेक आउट कर रही थी, तो उसने कहा कि अगर आपको कोई मदद चाहिए, तो हम वहां चाबियां छोड़ सकते हैं. उसने कहा कि वह आईलैंड में मदद के लिए 'सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति' है. फिर उसने मेरा नंबर मांगा और इस तरह हम अगस्त से एक-दूसरे को जानते हैं.

    तो क्या मेहुल चोकसी की पत्नी को आप दोनों के रिश्ते के बारे में पता था?
    मैं ठीक-ठीक नहीं कह सकती. मुझे ऐसा नहीं लगता. मैं कभी उसकी पत्नी से नहीं मिली. लेकिन अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट और आर्टिकल में मुझे चोकसी की गर्लफ्रेंड, लवर या पुलिस अफसर बताया जा रहा है. लेकिन मैं साफ कर दूं कि हम दोनों सिर्फ दोस्त हैं.

    मेहुल चोकसी जानता था कि एंटीगा के PM उसे भारत भेज देंगे, इसलिए गढ़ी अपहरण की कहानी

    व्यक्तिगत रूप से मेरा दोस्ताना व्यवहार है. मैं चूंकि ज्यादा यात्राएं करती हूं, तो कई देशों के लोगों से मेरी दोस्ती हो जाती है. और राज (मेहुल चोकसी) वाकई दिमागदार लग रहा था, स्मार्ट और रसूखदार लग रहा था. इसलिए मुझे वो एक अच्छा इंसान लगा, जिसके जरिए मैं कैरिबियाई लोगों को जान और समझ सकती थी. शायद इसलिए ही हम अच्छे दोस्त बन गए.

    अप्रैल और मई में वह मुझे अपने ज्वेलरी बिजनेस में शामिल होने के लिए प्रपोजल दे रहा था. उसने कहा था कि भले ही उसने रिटायरमेंट ले लिया हो, लेकिन उसके पास अच्छे सोर्स हैं. उसने मुझे कुछ सैंपल दिए. ये एक डायमंड रिंग और ब्रेसलेट थी. उस समय हमारे बीच बहुत सारी बातचीत हुई थी. वह मुझे विश्वास दिलाना चाहते थे कि यह एक बेहतरीन व्यावसायिक अवसर है. इसलिए मुझे लगता है कि इसलिए उन्होंने मुझे गहने भी दिए, ताकि मैं प्रोडक्ट देख सकूं और इस बिजनेस में आने के लिए खुद को राज़ी कर सकूं.

    ऐसी खबरें हैं कि आप उसके अपहरण में शामिल थीं; एंटीगा से डोमिनिका तक तथाकथित 'अपहरण' हुआ. क्या यह सच है?
    समाचारों में नेटफिलिक्स जैसी बहुत सारी पागल कहानियां चल रही हैं; जैसे मैं उसके साथ डोमिनिका में डिनर डेट पर गई थी. जॉली हार्बर में मैं नाव पर थी. ऐसी बहुत सी कहानियां हैं, जो बेसलेस हैं. आखिरी बार मैंने उसे रविवार को देखा था. हम वास्तव में नाश्ते के लिए गए थे. दोपहर 12:00 बजे से पहले हमने एक-दूसरे को अलविदा कह दिया.

    फिर मैं अपने अपार्टमेंट में लौट आई. मैंने कुछ कॉल्स अटेंड किए. करीब तीन बजे मैं एयरपोर्ट के लिए निकल गई. मैं उसके साथ भी नहीं थी और न नाश्ते के बाद उससे मुलाकात हुई. मेरा उसके अपहरण में कोई हाथ नहीं है. सबसे अहम बात... आप स्थानीय निवासियों से पूछ सकते हैं कि जॉली हार्बर में रविवार को शाम लगभग 5:00 बजे किसी का अपहरण करना शारीरिक रूप से असंभव है. मेरा मतलब है,अगर आप क्षेत्र को जानते हैं, तो आप सुरक्षित हैं. यहां किसी तरह के क्राइम की संभावना नहीं है.

    क्या मीटिंग और मुलाकातों के दौरान आपको कभी उसके भारत में धोखाधड़ी के बारे में पता चला? क्या आपको कभी इस बात का अंदाजा हुआ कि उसने भारत में कोई बड़ा अपराध किया है या वह एक बैंक चीटर है?
    नहीं, बिल्कुल नहीं. उसने इसके बारे में कभी कुछ नहीं बताया. वह शायद जानता था कि अगर उसने मुझे अपना असली बैकग्राउंड बता दिया तो मैं उसके साथ नहीं घूमूंगी या उससे दोस्ती नहीं रखूंगी. शायद इसलिए उसने मुझसे झूठ बोला. मुझे थोड़ा शक तो था. मैंने उसे फोन किया और हल्के-फुल्के अंदाज में पूछा कि वह अपने नंबर क्यों बदलता रहता है? मैंने सोचा कि ये शायद उसकी पत्नी की वजह से था, या कुछ और, जिसके बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं थी. क्योंकि वो बहुत जल्दी जल्दी अपने मोबाइल नंबर बदल देता था. लगभग एक महीने के अंदर ही. वो मुझे दूसरे नंबर से मैसेज भेजता था. इसके अलावा उसमें सबकुछ नॉर्मल था.

    क्या अब तक भारत, एंटीगा या डोमिनिका की किसी जांच एजेंसी ने आपसे संपर्क किया है?
    मुझे लगता है कि मुझे किसी भी जांच के बारे में मीडिया में कमेंट नहीं करना चाहिए.

    अगर वे आपको किसी जांच के लिए बुलाते हैं तो क्या आप उनका सहयोग करेंगी?
    हां, बिल्कुल. मुझे जांच में सहयोग और समर्थन करने में खुशी होगी. मुझे जो भी जानकारी है, मैं उसे प्रोवाइड कराऊंगी.