बड़ा खुलासा: पीओके के अफसर ने कबूली सर्जिकल स्ट्राइक की बात

आईबीएन7 ने सेना की ओर से अंजाम दिए गए सर्जिकल स्ट्राइक पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया है।

आईबीएन7 ने सेना की ओर से अंजाम दिए गए सर्जिकल स्ट्राइक पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया है।

आईबीएन7 ने सेना की ओर से अंजाम दिए गए सर्जिकल स्ट्राइक पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया है।

  • News18India
  • Last Updated: October 6, 2016, 12:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। आईबीएन7 ने सेना की ओर से अंजाम दिए गए सर्जिकल स्ट्राइक पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया है। पाकिस्तान लाख कहे कि सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई, लेकिन आईबीएन7 ने पाकिस्तान के दावों की पोल खोल दी है। नियंत्रण रेखा (एलओसी) के उस पार भारतीय सैनिकों की जांबाजी की कहानी एक पाकिस्तानी पुलिस अफसर ने ही मान ली। ये अफसर गुलाम कश्मीर के मीरपुर का एसपी है, जिससे आईबीएन7 के संवाददाता मनोज गुप्ता ने फोन पर अपनी पहचान बदलकर बात की। आईबीएन7 संवाददाता ने पाकिस्तान का यह सच सामने लाने के लिए खुद को इलाके का आईजी बताया।



आईजी का फोन आते ही पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानि पीओके के मीरपुर इलाके का एसपी गुलाम अकबर सच्चाई बयां करने लगा। जब मनोज गुप्ता ने पूछा कि आखिर वहां क्या कुछ हुआ था और कितने लोग भारतीय कार्रवाई में मारे गए थे? तो उसने सर्जिकल स्ट्राइक पर पाकिस्तान के झूठ को पूरी तरह से बेनकाब कर दिया।



गुलाम अकबर को गुमान भी न था कि वो अपने आला अफसर से नहीं बल्कि एक भारतीय पत्रकार से फोन पर बातें कर रहा है। वह एक के बाद एक चौंकाने वाले खुलासे करता जा रहा था। गुलाम अकबर ने यह भी बताया कि भारतीय कमांडो टीम की कार्रवाई में मारे गए आतंकवादियों के शवों को भी ताबूत में ठिकाने लगाया गया।





आतंकियों के शवों के बारे में एसपी गुलाम अकबर ने बिना लाग लपेट साफ कह दिया कि सभी शवों के लिए ताबूत जुटाए गए और उन्हें अपने-अपने इलाकों में भेज कर वहां चुपचाप दफना दिया गया।
पीओके में मीरपुर के एसपी गुलाम अकबर की आईबीएन7 संवाददाता मनोज गुप्ता के साथ हुई बातों से साफ है पाकिस्तानी हुकूमत, पाकिस्तानी फौज और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी यह नहीं चाहते थे कि पूरी दुनिया जाने कि किस तरह वह आतंकवादियों के ट्रेनिंग कैंप और उनके लॉन्चिंग पैड की निगहबानी और निगरानी करते हैं। यही वजह है कि पाकिस्तान अब तक सर्जिकल स्ट्राइक की बात को झुठलाता आ रहा है।



नवाज की पोल खोलने के अलावा गुलाम अकबर ने एक और चौंकाने वाला खुलासा किया, जिसने आईबीएन7 को भी चौंका दिया। बातचीत में गुलाम ने साफ-साफ जिक्र किया कि आतंकवादियों के जिन ठिकानों को तबाह करने का दावा भारतीय फौज और सरकार भी कर रही है, वह जगहें पाकिस्तानी सेना की ही पोस्ट थीं।



यही नहीं आईबीएन7 संवाददाता मनोज गुप्ता ने जब आईजी बनकर पीओके के मीरपुर इलाके के एसपी गुलाम अकबर से पूछा कि आखिर शवों का क्या किया गया तो उसने उन लोगों को नाम भी बता दिए, जो इस स्ट्राइक में मारे गए। (लेकिन हम सुरक्षा कारणों से इन लोगों के नाम नहीं बता रहे हैं।)



यह वही पाकिस्तान है जो लगातार भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के दावों को झुठलाता रहा है, लेकिन अब तो खुद पाकिस्तान की पुलिस के ही आला अफसर का कबूलनामा उसके दावों की कलई खोल रहा है। गुलाम अकबर ने सर्जिकल स्ट्राइक पर पाकिस्तान का झूठ बेनकाब कर दिया। इसके बाद आईबीएन7 ने गुलाम अकबर के बारे में भी पता किया। गुलाम अकबर की पहचान के बारे में आईबीएन7 ने पाकिस्तान के ही वरिष्ठ पत्रकार शाहजेब गिलानी से बात की, जिन्होंने  गुलाम अकबर के पीओके के होने की तस्दीक की है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज