लाइव टीवी

पुलिस ने हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर की सुनाई पूरी कहानी, पढ़ें 5 बड़ी बातें

News18Hindi
Updated: December 6, 2019, 11:31 PM IST
पुलिस ने हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर की सुनाई पूरी कहानी, पढ़ें 5 बड़ी बातें
साइबराबाद पुलिस आयुक्त सी वी सज्जनार हैदराबाद एनकाउंटर की जानकारी देते हुए

मुठभेड़ का ब्योरा देते हुए साइबराबाद पुलिस आयुक्त सीवी सज्जनार (Cyberabad Police Commissioner CV Sajjanar) ने कहा कि बरामद किए गए एक मोबाइल फोन और अन्य सामग्री के मद्देनजर आरोपियों के ‘कबूलनामे’ के आधार पर पुलिस टीम वहां उन्हें वहां लेकर गयी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2019, 11:31 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि हैदराबाद (Hyderabad gangrape and murder case) में महिला पशु चिकित्सक से दुष्कर्म और हत्या के दो आरोपियों ने सुबह हथियार छीनने के बाद पुलिस पर गोलियां चलायीं, जिसके बाद पुलिस ने ‘जवाबी’ गोलीबारी की. साइबराबाद पुलिस आयुक्त सी वी सज्जनार (Cyberabad Police Commissioner CV Sajjanar) ने बताया कि आरोपियों में एक मोहम्मद आरिफ ने सबसे पहले गोली चलायी. वारदात स्थल पर पुलिस की जो टीम उन्हें लेकर वहां गई थी, उस पर भी ईंट-पत्थरों से हमला किया गया. उन्होंने कहा कि छीने गए हथियार 'अनलॉक' (फायरिंग के लिए तैयार) स्थिति में थे.

यहां पढ़ें सज्जनर की प्रेस वार्ता की पांच बड़ी बातें

1-साइबराबाद पुलिस आयुक्त सी वी सज्जनार ने बताया, 'चारों आरोपी 10 दिनों से पुलिस हिरासत में थे. हमने उन सभी से पूछताछ की थी. जब उन्होंने अपराध कबूल कर लिया, तो हम उन्हें घटना स्थल पर ले गए, जहां सीन रिक्रएट किया जाना था. जब हम मौके पर पहुंचे तो आरोपी ने हमला कर दिया. हम पर पत्थरबाजी कर वे हमारी बंदूकें छीनने में कामयाब रहे. आप देख सकते हैं कि आरोपी अभी भी हथियारों के साथ वहां पड़े हुए हैं. परिणामस्वरूप हमें एनकाउंटर करना पड़ा.'

2- उन्होंने कहा, 'हमें संदेह है कि आरोपी कर्नाटक में कई अन्य मामलों में भी शामिल थे, जांच जारी है.' पुलिस कमिश्नर ने कहा कि शुक्रवार सुबह 5.45 से 6.15 के बीच में एनकाउंटर हुआ, इन आरोपियों का नाम कई अन्य केस से भी जुड़ा है, इसकी जांच चल रही है.

3- पुलिस के मुताबिक, इसी दौरान आरोपी मोहम्मद आरिफ और केशवुलु ने हथियार छीन लिए. वे फायरिंग करते हुए भागने की फिराक में थे. पुलिस कमिश्नर सीवी सज्जनार ने दावा किया कि इस मामले में उनके पास ठोस सबूत हैं.

4-राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग द्वारा मामले के स्वतः संज्ञान लिए जाने के सवाल पर  सीवी सज्जनार ने बताया,' जो कोई भी संज्ञान लेता है, हम उत्तर देंगे. राज्य सरकार, एनएचआरसी, सभी को. मैं केवल यह कह सकता हूं कि कानून ने अपना कर्तव्य निभाया है.'

5- सज्जनार ने बताया, 'मुठभेड़ के समय आरोपी व्यक्तियों के साथ लगभग 10 पुलिसवाले थे. हमने घटनास्थल पर पीड़िता का सेलफोन बरामद किया है. हमने आरोपी व्यक्तियों से दो हथियार भी जब्त किए हैं. आरोपियों के शव को पोस्टमार्टम के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल में भेज दिया गया है. इसके बाद शव उनके परिजनों को सौंप दिये जाएंगे.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 11:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर