• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • बंगाल: भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल का आरोप, पुलिस ने उपचुनाव में प्रचार करने से रोका

बंगाल: भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल का आरोप, पुलिस ने उपचुनाव में प्रचार करने से रोका

मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं प्रियंका टिबरेवाल. (File pic)

मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं प्रियंका टिबरेवाल. (File pic)

भवानीपुर (Bhawanipur) विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा उम्मीदवार (BJP Candidate) प्रियंका टिबरेवाल (Priyanka Tibrewal) का मंगलवार को पुलिसकर्मियों के साथ उस समय विवाद हो गया, जब उन्हें पुलिस कर्मियों ने घर-घर प्रचार करने से कथित तौर पर रोक दिया. तृणमूल कांग्रेस (trinamool congress) प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) से चुनावी मुकाबला कर रही टिबरेवाल ने कहा कि वह 'पुलिस कार्रवाई' के खिलाफ चुनाव आयोग से संपर्क करेंगी.

  • Share this:

    कोलकाता. भवानीपुर (Bhawanipur) विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा उम्मीदवार (BJP Candidate) प्रियंका टिबरेवाल (Priyanka Tibrewal) का मंगलवार को पुलिसकर्मियों के साथ उस समय विवाद हो गया, जब उन्हें पुलिस कर्मियों ने घर-घर प्रचार करने से कथित तौर पर रोक दिया. प्रियंका, तीस सितंबर को होने वाले उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस (trinamool congress) प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) से चुनावी मुकाबला कर रही  हैं. पुलिस के व्‍यवहार से नाराज टिबरेवाल ने कहा कि वह ‘पुलिस कार्रवाई’ के खिलाफ चुनाव आयोग से संपर्क करेंगी और घटनाक्रम के बारे में पूरी जानकारी देंगी.

    इधर, इसी इलाके में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि उन्हें कोविड​​​​-19 की स्थिति के मद्देनजर लोगों के एक बड़े समूह के साथ नहीं जाने के लिए कहा गया, लेकिन भाजपा प्रत्‍याशी प्रियंका पुलिसकर्मियों के साथ बहस करती रहीं. उन्‍होंने नियमों को सुनने से मना कर दिया. हालांकि, इससे ठीक विपरीत,  टिबरेवाल ने दावा किया कि उन्हें पुलिसकर्मियों और तृणमूल समर्थकों ने चुनावी क्षेत्र के कुछ हिस्सों में, यहां तक ​​कि छोटे समूहों में भी प्रचार नहीं करने दिया.

    ये भी पढ़ें :  AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी के दिल्ली आवास पर तोड़फोड़, पांच पुलिस हिरासत में

    ये भी पढ़ें :   Corona in India: देश में कम हुई कोविड R वैल्यू, मुंबई, बेंगलुरु और चेन्नई के लिए अभी भी खतरा!

    भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल ने कहा, ‘पुलिस ने मुझे मतदाताओं के साथ बातचीत करने से रोक दिया. मैं पुलिस के इस आचरण के खिलाफ जल्द ही चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाऊंगी. मैं चुनाव आयोग से यह भी अनुरोध करूंगी कि वह उपचुनाव के दिन भवानीपुर थाने के प्रभारी अधिकारी को ड्यूटी पर न रखे.’ उनके आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए, पश्चिम बंगाल के मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा, टिबरेवाल भवानीपुर में चुनाव हारने वाली हैं, और इसलिए वह नाटक कर रही हैं.

    बता दें कि टिबरेवाल बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो की कानूनी सलाहकार भी रह चुकी हैं. बाबुल सुप्रियो के कहने पर ही प्रियंका टिबरेवाल ने साल 2014 में बीजेपी जॉइन की थी. साल 2015 में, प्रियंका ने भाजपा उम्मीदवार के रूप में वार्ड संख्या 58 (एंटली) से कोलकाता नगर परिषद का चुनाव लड़ा, लेकिन उन्‍हें तृणमूल कांग्रेस के स्वप्न समदार से हार का सामना करना पड़ा था. भाजपा जॉइन किए प्रियंका को अभी छह साल का ही समय हुआ है, लेकिन उन्‍होंने कई महत्‍वपूर्ण मोर्चे पर काम संभाला है. अगस्‍त 2020 में उन्‍हें पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता युवा मोर्चा का उपाध्‍यक्ष बनाया गया था. इस साल उन्होंने एंटली से विधानसभा चुनाव भी लड़ा था. हालांकि इस चुनाव में उन्‍हें टीएमसी के स्वर्ण कमल साहा से 58,257 मतों से हार का सामना करना पड़ा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज