लाइव टीवी

JNU के रिसर्च स्टूडेंट शरजील इमाम की गिरफ्तारी के लिये मुंबई, पटना, दिल्ली में छापेमारी

भाषा
Updated: January 27, 2020, 11:19 PM IST
JNU के रिसर्च स्टूडेंट शरजील इमाम की गिरफ्तारी के लिये मुंबई, पटना, दिल्ली में छापेमारी
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र शरजील इमाम. (फाइल फोटो)

पुलिस (Police) ने बताया कि बिहार (Bihar) निवासी इमाम की तलाश में अपराध शाखा (Crime Branch) के पांच दल लगाए गए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान “भड़काऊ” भाषण देने के आरोपी शोध छात्र शरजील इमाम (Sharjeel Imam) के खिलाफ कई राज्यों में देशद्रोह (Sedition) का मामला दर्ज होने के बाद उसकी गिरफ्तारी (Arrest) के लिये मुंबई (Mumbai), पटना (Patna) और दिल्ली (Delhi) में छापेमारी (Raid) की जा रही है. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने कहा कि बिहार (Bihar) निवासी इमाम की तलाश में अपराध शाखा (Crime Branch) के पांच दल लगाए गए हैं.

जेएनयू के चीफ प्रॉक्टर ने भी शरजील को किया है तलब
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के इतिहास अध्ययन केंद्र के पीएचडी छात्र (PhD Student) इमाम को जेएनयू के चीफ प्रॉक्टर ने भी तलब किया है. उन्होंने इमाम से तीन फरवरी तक प्रॉक्टोरियल समिति (Proctorial Board) के समक्ष पेश होकर कथित भड़काऊ भाषण पर अपनी स्थिति स्पष्ट करने को कहा है.

शाहीन बाग प्रदर्शन के शुरुआती आयोजकों में से एक इमाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) द्वारा रविवार को भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 124 ए, 153 ए और 505 के तहत मामला दर्ज किया गया था.

असम और अलीगढ़ में शरजील के खिलाफ दर्ज किया गया है मुकदमा
इसके अलावा उसके खिलाफ 16 जनवरी को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में दिए गए एक भाषण को लेकर शनिवार को देशद्रोह का मामला दर्ज किया. असम पुलिस ने भी शरजील के भाषणों को लेकर उसके खिलाफ आतंकवाद रोधी कानून यूएपीए (UAPA) के तहत एक मामला दर्ज किया है.शरजील इमाम को बताया जा रहा है शाहीन बाग धरने का मुख्य आयोजक
शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद का रहने वाला है. शरजील इमाम ने IIT बॉम्बे से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है. कहा जाता है कि शरजील ने कुछ दिनों तक वहां पढ़ाया भी. ग्रेजुएशन (Graduation) के बाद दो साल तक उसने बेंगलुरु में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में डेवेलपर के तौर पर काम किया.  2013 में जेएनयू में आधुनिक इतिहास में मास्टर्स करने के लिए एडमिशन लिया. यहां से उसने Mphil और फिर PHD भी किया.

शरजील आइसा में दो साल से अधिक रहा और एक साल के लिए इसकी कार्यकारिणी का सदस्य भी रहा. इसके अलावा उसने आइसा (AISA) के प्रत्याशी के तौर पर काउंसलर के पद के लिए 2015 का जेएनयूएसयू (JNUSU) चुनाव लड़ा.

कहा जा रहा है कि शरजील शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में हो रहे धरना प्रदर्शन का मुख्य आयोजक था. वो सोशल मीडिया (Social Media) पर लोगों को लगातार इस धरने में शामिल होने की अपील करता था.

यह भी पढ़ें: AIMPLB का SC से अनुरोध- दूसरों को मुस्लिम नियमों में न करने दें हस्तक्षेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 11:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर