लाइव टीवी

पाकिस्तान को भारी पड़ सकता है हाफिज सईद पर मुकदमा चलाना- पूर्व ISI प्रमुख

News18Hindi
Updated: May 27, 2018, 7:40 PM IST
पाकिस्तान को भारी पड़ सकता है हाफिज सईद पर मुकदमा चलाना- पूर्व ISI प्रमुख
हाफिस सईद की फाइल फोटो (AP)

'स्पाई क्रॉनिकल्स: रॉ, आईएसआई और द इल्यूशन ऑफ पीस' नाम की किताब में दुर्रानी सर्जिकल स्ट्राइक, कुलभूषण जाधव, नवाज शरीफ, समेत कश्मीर और बुरहान वानी पर कई अहम मुद्दों का जिक्र किया.

  • Share this:
'मुंबई हमले के मास्टमाइंड हाफिज सईद पर मामला चलाने के लिए बड़ी राजनीतिक कीमत चुकानी होगी.' यह बात पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के पूर्व प्रमुख असर दुर्रानी ने अपनी एक किताब में कही है. दुर्रानी ने यह किताब पूर्व रॉ प्रमुख एएस दुलत के साथ मिल कर लिखी है.

दुर्रानी ने कहा, ''अगर सईद पर मुकदमा चलता है, तो पहली प्रतिक्रिया यह होगी कि भारत के दबाव में ऐसा हो रहा है. लोग ऐसा मानेंगे कि हाफिज निर्दोष है. इसका राजनीतिक खामियाजा बहुत बड़ा होगा."

'स्पाई क्रॉनिकल्स: रॉ, आईएसआई और द इल्यूशन ऑफ पीस' नाम की किताब में दुर्रानी और दुलत के बीच बातचीत के कई अंश हैं, जिसमें दोनों ने सर्जिकल स्ट्राइक, कुलभूषण जाधव, नवाज शरीफ, समेत कश्मीर और बुरहान वानी पर बात की.

जब दुलत ने पाकिस्तान से सईद  की 'कीमत' के बारे में पूछा ,तो उस पर दुर्रानी ने कहा, ''उस पर मामला चलाने की बड़ी कीमत अदा करनी पड़ेगी.''


बता दें कि सईद पर आतंकवादी गतिविधियों में उसकी भूमिका के लिए 10 मिलियन अमेरिकी डॉलर का इनाम है. पिछले साल जनवरी से नवंबर तक वो हाउस अरेस्ट था. पाकिस्‍तान की सरकार ने हाल ही में हाफिज सईद की चैरिटी संस्‍थाओं जमात उद दावा (जेयूडी) और फलाह-ए-इंसानियत फांउडेशन (एफआईएफ) को बैन किया है, तब से एंटी-टेररिज्‍म एक्‍ट-1997 के तहत उसकी संपत्तियों को भी जब्त  किया जा रहा है. सईद को मुंबई हमलों के बाद संयुक्त राष्ट्र ने 'वैश्विक आतंकवादी' घोषित किया था.

किताब में दुर्रानी ने सईद को हिरासत में लिए जाने पर  लिखा है, ''उसे अदालत ले जाने में कुछ नया नहीं था. अभी भी इसकी संभावना है अगर उसे हिरासत में लिया जाए तो कोई नया तूफान खड़ा हो जाए. 6 महीने में वो बाहर आ जाएगा.''

हार्पर कोलिंस इंडिया द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक में दुलत और दुर्रानी की आदित्य सिन्हा से बातचीत हुई है.
जब दुलत ने पूछा कि सईद की नजरबंदी बस एक नाटक था तो दुर्रानी ने कहा , ‘‘ जहां तक हाफिज सईद की बात है तो नई बात यह है कि (क्या) और सबूत उपलब्ध है? कोई भी उम्मीद लगा सकता है कि हाफिज सईद के साथ समझौता है. ’’

जब उनसे पूछा गया कि क्या सईद की नजरबंदी का भारत पाकिस्तान संबंधों पर कोई सकारात्मक परिणाम है , तो उन्होंने कहा , ‘‘ फिलहाल भारत पाकिस्तान संबंध मोर्च पर बहुत ही कम सकारात्मक चीजे हैं. लेकिन इससे उस देश को एक बड़ी राहत मिल सकती है जो लगातार दबाव में है. ’’

इस बीच , पाकिस्तान की प्रभावशाली सेना ने दुर्रानी पर सैन्य आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है और उन्हें उनकी पुस्तक ‘ द स्पाई क्रोनिकल्स : रॉ , आईएसआई एंड इल्यूजन ऑफ पीस ’ को लेकर स्पष्टीकरण के लिए तलब किया है.


दुर्रानी पुस्तक में जिक्र करते हैं कि मुम्बई एक मात्र ऐसी घटना रही है जिसमें उन्होंने फैसला किया कि वह यह कहने के लिए किसी भी भारतीय और पाकिस्तान चैनल के सामने उपलब्ध होंगे कि जिस किसी ने यह हरकत की है. वह चाहे राज्य की ओर से कराया गया हो , या आईएसआई की ओर से या सेना की ओर से , उसे पकड़ा जाना चाहिए और दंडित किया जाना चाहिए.

उन्होंने कहा , ‘‘ बात बस यह नहीं है कि 168 लोग मरे थे , चार दिनों तक नरसंहार चला , आदि आदि. उस समय पाकिस्तान अपनी पूर्वी सीमा पर युद्ध की जहमत नहीं उठा सकता था. पश्चिम में और देश में ढेरों समस्याएं थीं. मैं नहीं जानता कि किसने यह किया , लेकिन कुछ सवाल थे जैसे डेविड हेडली ने एक आईएसआई मेजर का नाम लिया. उससे हमारे लिए मुश्किल खड़ी हो गयी. ’’

इस खबर पर कि हेडली ने सईद के साथ साठगांठ की तो उन्होंने कहा कि लोग आगे बढ़ कर जांच कर सकते हैं क्योंकि इस तरह की खबरें आयी हैं.


उन्होंने कहा , ‘‘ आठ सालों तक , हम दोनों ने संयुक्त जांच , संयुक्त सुनवाई , खुफिया सूचनाओं के आदान प्रदान और आतंकवाद निरोधक प्रणाली पर सहमति की बस इस कारण वकालत की कि हम तबतक कुछ नहीं कर सकते जबतक ऐसा नहीं हो जाता. तब तक , हाफिज सईद , आईएसआई , जैश ए मोहम्मद : यह संभव है कि उनका इससे कोई लेना - देना नहीं हो , कि तीसरी , चौथी या पांचवीं पार्टी शामिल हो. ’’

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें: अभी भी 12 जून को हो सकती है किम जोंग उन और ट्रंप की शिखर वार्ता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 27, 2018, 4:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर