पार्टी नेता की हत्या पर बिफरी बीजेपी, बोली- पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हत्याएं आम बात

संबित पात्रा ने पश्चिम बंगाल सरकार को आड़े हाथों लिया है.
संबित पात्रा ने पश्चिम बंगाल सरकार को आड़े हाथों लिया है.

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के उत्तर 24 परगना जिले में पार्टी के नेता मनीष शुक्ला (Manish Shukla) की हत्या हो गई है. बीजेपी ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 9:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तृणमूल कांग्रेस सरकार (TMC Government) पर हमला बोलते हुए भाजपा ने सोमवार को आरोप लगाया कि ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के राज में पश्चिम बंगाल ‘हत्याओं का मैदान’बन गया है और ‘राजनीतिक हत्याएं' सामान्य हो गई हैं. गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में पार्टी के नेता मनीष शुक्ला की हत्या हो गई है.

ममता बनर्जी से पूछे सवाल
शुक्ला की हत्या की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग करते हुए पार्टी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पूछा कि जिस प्रकार राज्य के बाहर हुई घटनाओं के दौरान वह अपने नेताओं के प्रतिनिधिमंडल भेजती हैं, क्या उसी प्रकार वह भाजपा पार्षद के घर जाएंगी? राज्य के उत्तर 24 परगना जिले के टीटागढ़ के निकट स्थानीय पार्षद मनीष शुक्ला की रविवार को मोटरसाइकिल सवार दो बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

115 भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या
राजधानी स्थित भाजपा मुख्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने दावा किया कि अब तक राज्य में 115 भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है. उन्होंने कहा कि राज्य की जनता लोकतांत्रिक तरीके से इसका जवाब देगी.



उन्होंने पूछा, ‘चोरी और सीनाजोरी का माहौल बनाकर अब तक राज्य में लगभग 115 भाजपा नेताओं या उससे जुड़े कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है. मैं ममता जी से पूछना चाहता हूं, क्या यही न्याय है? क्या यही बंगाल में लोकतंत्र है ममता जी?’ पात्रा ने कहा कि नकाबपोश लोगों ने बंदूक निकालकर पुलिस थाने के सामने शुक्ला हत्या कर दी, जो चिंता का विषय है.



टीएमसी ने पश्चिम बंगाल को बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या का मैदान बनाया
उन्होंने कहा, ‘जिस प्रकार यह हत्या हुई वह अपने आप में बहुत ही निंदनीय और चिंता का विषय है. कानून की ड्योढ़ी पर कानून दम तोड़ दे तो इससे ज्यादा दुखद कुछ नहीं हो सकता. तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल को भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या का मैदान बना दिया है. बंगाल में राजनीतिक हत्याएं एक न्यू नॉर्मल हो गई हैं.’ पात्रा ने कहा कि जिस प्रकार आप (ममता) दूसरों राज्यों की घटनाओं के बारे में सवाल उठाती हैं और अपने प्रतिनिधियों को भेजती हैं, क्या आप मनीष शुक्ला के घर जाएंगी.

उन्होंने कहा, ‘मैं पूछता हूं कि तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को आप कब मनीष शुक्ला के घर भेजेंगी.’ उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल मां दुर्गा की आराधना की भूमि हैं. ‘मां ने जैसे त्रिशूल से महिषासुर का वध किया था, वैसे ही पश्चिम बंगाल के लोग गणतांत्रिक तरीके से अन्याय और कुशासन का प्रतिवाद करेंगे.’

पात्रा ने इस मामले में स्थानीय पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाते हुए मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की. उन्होंने कहा कि खुद शुक्ला और भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने इस बात की आशंका जताई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज