दलबदल पर कांग्रेस MLA ने कहा- गोवा में जो हुआ वो राजनीतिक वेश्‍यावृत्ति है

ए रेजिनाल्‍डो लोरेंको ने गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी) के अध्‍यक्ष एवं उप मुख्‍यमंत्री विजय सरदेसाई से मुलाकात के बाद यह बयान दिया है.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 6:59 PM IST
दलबदल पर कांग्रेस MLA ने कहा- गोवा में जो हुआ वो राजनीतिक वेश्‍यावृत्ति है
कांग्रेस विधायक ए रेजिनाल्‍डो लोरेंको ने कांग्रेस के 10 विधायकों के बीजेपी में शामिल होने को 'राजनीतिक वेश्‍यावृति' करार दिया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 6:59 PM IST
गोवा कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और विधायक ए रेजिनाल्‍डो लोरेंको ने अपनी पार्टी के विधायकों के बीजेपी में शामिल होने पर विवादित बयान दिया है. लोरेंको ने कांग्रेस के 10 विधायकों के बीजेपी में शामिल होने को 'राजनीतिक वेश्‍यावृति' करार दिया है. गुरुवार को कांग्रेस के 15 में से 10 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए. लोरेंको उन 5 विधायकों में से हैं जो अभी भी कांग्रेस के साथ बने हुए हैं.

ए रेजिनाल्‍डो लोरेंको ने गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी) के अध्‍यक्ष एवं उप मुख्‍यमंत्री विजय सरदेसाई से मुलाकात के बाद यह बयान दिया है. उन्‍होंने कहा कि इस बार जो हुआ है वे राजनीतिक वेश्यावृत्ति है. मुलाकात पर उन्‍होंने कहा कि सरदेसाई के साथ उनकी मुलाकात अनौपचारिक थी.



सूत्रों के अनुसार, बीजेपी में शामिल हुए बागी कांग्रेसी विधायकों को समायोजित करने के लिए उप मुख्‍यमंत्री विजय सरदेसाई और उनकी पार्टी के दो अन्‍य मंत्रियों को कैबिनेट से हटाया जा सकता है. लोरेंको ने सरदेसाई और जीएफपी के दो अन्‍य विधायकों के भविष्‍य की ओर इशारा करते हुए कहा, 'लोग किसी से तभी मिलते हैं, जब वे सत्‍ता में रहता है. लेकिन, मैंन उनसे तब मिल रहा हूं, जब वह नहीं हैं.'

कांग्रेस के 10 MLA हुए थे BJP में शामिल

गोवा में गुरुवार को कांग्रेस के 10 विधायक पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत की उपस्थिति में बीजेपी में शामिल हो गए. सत्तारूढ़ भाजपा के साथ विलय के बाद कांग्रेस एक और संकट का शिकार हो गई. राज्य के 40 सीटों वाले सदन में बीजेपी के पास अब 27 विधायक हैं. कावलेकर के साथ बीजेपी में शामिल होने वाले विधायक अतानासियो मोनसेराटे, जेनिफर मोनसेराटे, फ्रांसिस सिलवीरा, फिलिप नेरी रॉड्रिक्स, क्लियोफैसियो डायस, विलफ्रेड डीएसए, नीलकांत हलनकर, इसिडोर फर्नांडिस और एंटोनियो फर्नांडीज हैं.

स्पीकर को सौंपी चिट्ठी

बुधवार शाम को सावंत की मौजूदगी में विलय का पत्र स्पीकर राजेश पटनेकर को सौंप दिया गया. बाद में पाटनकर ने पत्र मिलने की पुष्टि की. इससे पहले गुरुवार को, सावंत ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की और माना जाता है कि दोनों नेताओं ने राज्य मंत्रिमंडल में फेरबदल पर विचार-विमर्श किया है. सावंत 10 विधायकों के साथ दिल्ली पहुंचे और नड्डा सहित भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से मिले.
Loading...

ये भी पढ़ें: सुब्रमण्यम स्वामी बोले- BJP का बढ़ता कद लोकतंत्र के लिए खतरा

ये भी पढ़ें: गोवा सरकार का आदेश, नौकरियों और शिक्षा में लागू हो EWS कोटा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...