मोतीलाल वोरा बोले- राहुल ही करेंगे नेतृत्व, BJP नेताओं ने साधा निशाना

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि वो कांग्रेस के प्रेसिडेंट क्यों बने और क्यों इस्तीफा दिया? ये अपने आप में एक पहेली है.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 7:13 PM IST
मोतीलाल वोरा बोले- राहुल ही करेंगे नेतृत्व, BJP नेताओं ने साधा निशाना
राहुल गांधी ने ट्वीट कर अपने इस्तीफे की कॉफी शेयर की.
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 7:13 PM IST
राहुल गांधी ने अधिकारिक तौर पर बुधवार को अपने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. राहुल गांधी ने ट्वीट कर अपने इस्तीफे की कॉफी शेयर की. राहुल के इस फैसले के बाद राजनीतिक गलियारों सियासत तेज हो गई. अलग-अलग पार्टियों के नेताओं के रिएक्शन सामने आ रहे

राहुल के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री और अमेठी से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी ने कहा ‘जय श्रीराम’. 2019 लोकसभा चुनाव में ईरानी ने अमेठी सीट से राहुल गांधी को कई हजार वोटों से हराया था. वहीं, बीजेपी नेता नलिन कोहली ने इस्तीफे पर चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस परिवार केंद्रित पार्टी है. वहां आशीर्वाद से अध्यक्ष बनते हैं.

‘लोकसभा के चुनाव में राहुल ने कोई कसर नहीं छोड़ी’
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोती लाल वोरा ने कहा कि 25 मई 2019 की वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी ने इस्तीफे की बात कही थी. वर्किंग कमेटी ने कहा था हम आपका इस्तीफा स्वीकार नहीं करते, इस पर आप विचार करें.  2017 से वो अध्यक्ष बने हैं, तब से हर प्रदेश में संगठन को मजबूत किया. लोकसभा के चुनाव में राहुल ने कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी, जो सरकार की नाकामयाबियां हैं उनके बारे में कहते थे. राहुल गांधी का नेतृत्तव कांग्रेस को मंजूर है, मुझे तो कोई जानकारी नहीं है. वर्किंग कमेटी की बैठक में ही सारा निर्णय होता है, जो जनरल सेक्रेटरी है. कांग्रेस के कॉन्स्टीट्यूशन के हिसाब से भी कांग्रेस प्रेसिडेंट का निर्णय भी उसी में होता है.

राज बब्बर ने कहा-पद उन्हें परिभाषित नहीं करता
कांग्रेस नेता राज बब्बर ने ट्वीट किया, “राहुल गांधी जी हमारे सर्वोच्च नेता रहे हैं और आप हमेशा रहेंगे. पद और पॉजिशन आपको परिभाषित नहीं करते हैं. आपके नेतृत्व में फिर लड़ेंगे और इस बार जरूर जीतेंगे.

‘हार के हीट स्ट्रॉक का ईलाज प्याज होती है, पिज्जा नहीं’
Loading...

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि वो कांग्रेस के प्रेजिडेंट क्यों बने और क्यों इस्तीफा दिया? ये अपने आप में एक पहेली है. उन्होंने क्या खोया और पाया, कांग्रेस रिसर्च करेगी. अजीब दास्तां है ये कहां शुरू कहां खत्म, ग्रांड ओल्ड पार्टी का जो ये ग्रांड न्यू ड्रामा है. इससे हमारा कोई लेना देना नहीं है. जो भी डेमोक्रेशी पर विश्वास करता होगा, हार के हीट स्ट्रॉक का ईलाज प्याज होती है. पिज्जा नहीं होता. उन्होंने कहा कि हार पर चिंतन नहीं करेंगे, इसी नकारात्मकता के साथ चलेंगे. कांग्रेस परिवार की पार्टी है, वो तय करेंगे कौन बनेगा.

उनका संकल्प बहुत दृढ था- खुर्शीद
कांग्रेस नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने राहुल गांधी के इस्तीफे पर कहा कि अब वो उनके नेता नहीं हैं. हमें उम्मीद बहुत दिन से थी, शायद धीरे-धीरे उन्हें मना लेंगे. सभी ने बहुत प्रयास किया, उनका संकल्प बहुत दृढ होता है, उस संकल्प कोई बदल नहीं सकता. सोनिया गांधी हमारी नेता थीं, हैं, पार्टी कार्यकर्ताओं कि तरफ से राहुल गांधी को हमेशा आदर, प्यार और भरोसा मिलता रहेगा.

'राहुल का अध्यक्ष पद छोड़ना कांग्रेस के लिए क्षति'
कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार ने कहा कि अगर राहुल गांधी ने पद छोड़ने का फैसला लिया है तो यह बहुत बड़ी क्षति है. गांधी परिवार के बिना कांग्रेस टूट जाएगी. मेरा दृढ़ मत है कि गांधी परिवार कांग्रेस को एकजुट करता है और कांग्रेस भारत को एकजुट करती है.

हार की जिम्मेदारी हमारी भी- अमीन पटेल
कांग्रेस नेता अमीन पटेल ने कहा कि राहुल गांधी कल शिवड़ी कोर्ट में जो केस है, उसमें आ रहे हैं. जो कांग्रेस नेताओं की इच्छा है कि जब राहुल कोर्ट में पहुंचे तो वह लोग भी वहां पर मौजूद रहें. उसी को लेकर पार्टी के लोग किस तरह से खड़े रहने का है उसको लेकर तैयारी चल रही है. अमीन ने कहा कि हमारा मानना है कि राहुल गांधी को ही लीड करना चाहिए. हार की नैतिक जिम्मेदारी हमारी भी तो है.

कुमार विश्वास ने साधा निशाना
कुमार विश्वास ने ट्वीट कर राहुल गांधी के इस्तीफे पर कांग्रेस पर हमला बोला. उन्होंने ट्वीट किया, कांग्रेस की हताशा समझ से बाहर है. जब सब तरफ़ एक ही सत्ता हो तब तो विपक्ष के लिए सबसे मुफ़ीद मैदान होता है! ज़मीनी,सच्चा मुश्किल जनसंघर्ष 100% सफलता का रास्ता है! डगमगाता विपक्ष जनहितों के खिलाफ है व हर सत्ता का अहंकार ऐतिहासिक सत्य, अत: असहमति के हाथो पर ज़्यादा ज़िम्मेदारी है.

वो आगे भी कांग्रेस अध्यक्ष बन सकते हैं: फारूक अब्दुल्ला
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला ने राहुल गांधी के इस्तीफे पर कहा कि वह अपने इस्तीफे पर अड़ रहे, ये अच्छा है. उन्होंने कहा कि राहुल आगे भी कांग्रेस के अध्यक्ष बन सकते हैं.

लोकतंत्र में लोगों को जिम्मेदारी लेनी चाहिए- हरदीप पुरी
केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि जो भी जिम्मेदारी है वो कांग्रेस पार्टी को देखना होगा. कांग्रेस को देखना होगा कौन उनकी जगह लेता है. लोकतंत्र में लोगों को जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

ये भी पढ़ें-

राहुल के इस्तीफे के बाद नया अध्यक्ष चुनने तक कौन संभालेगा कांग्रेस, क्या कहता है पार्टी का संविधान?
First published: July 3, 2019, 6:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...