हिमाचल चुनाव: धूमल, वीरभद्र के बेटों की भी जिम्मेदारी कम नहीं!

वीरभद्र सिंह 83 और प्रेम कुमार धूमल 73 साल के हो चुके हैं, फिर भी कांग्रेस, बीजेपी ने इन्हीं चेहरों पर भरोसा करके चुनाव लड़ा.

News18Hindi
Updated: November 9, 2017, 2:41 PM IST
हिमाचल चुनाव: धूमल, वीरभद्र के बेटों की भी जिम्मेदारी कम नहीं!
हिमाचल प्रदेश के चुनाव प्रचार के दौरान वोटरों की चुप्पी नतीजे आने पर नेताओं को चौंका भी सकती है.
News18Hindi
Updated: November 9, 2017, 2:41 PM IST
हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव भले ही दो बुजुर्ग नेताओं वीरभद्र सिंह एवं प्रेम कुमार धूमल के नेतृत्व में लड़ा जा रहा हो लेकिन जिम्मेदारी उनके बेटों की भी कम नहीं है.

धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर अपने पिता की सियासी विरासत को आगे बढ़ाने में जुटे हुए हैं तो निवर्तमान मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह भी इस मामले में कम नहीं हैं.

अनुराग ठाकुर हमीरपुर से सांसद हैं. वह भाजपा युवा मोर्चा और बीसीसीआई के अध्यक्ष रह चुके हैं. जबकि विक्रमादित्य पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. इसके लिए क्षेत्र चुना है शिमला ग्रामीण का.

यह सीट वीरभद्र सिंह की खानदानी सीट कही जाती है. इस चुनाव में विक्रमादित्य सिंह के सामने पिता की राजनीतिक विरासत संभालने की बड़ी चुनौती है.

himachal pradesh election, himachal pradesh election 2017, himachal election 2017, assembly election 2017, assembly election, हिमाचल चुनाव, हिमाचल चुनाव 2017, विधानसभा चुनाव, himachal pradesh assembly elections 2017, himachal pradesh Vidhan Sabha election 2017, election commission, हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव, प्रेम कुमार धूमल, वीरभद्र सिंह, अनुराग ठाकुर, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, Prem Kumar Dhumal, Virbhadra Singh, Anurag Thakur, Narendra Modi, Rahul Gandhi, Vikramaditya Singh         वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह

विक्रमादित्य सिंह ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के हंसराज कॉलेज से बीए ऑनर्स और सेंट स्टीफेंस कॉलेज से लॉ की पढ़ाई की है. विक्रमादित्य ने हिमाचल प्रदेश की ओर से शूटिंग स्पर्धा में राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधित्व किया है. साल 2007 में ट्रैप शूटिंग में उन्होंने कांस्य पदक जीता था. जबकि अनुराग ठाकुर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष रहे हैं.

himachal pradesh election, himachal pradesh election 2017, himachal election 2017, assembly election 2017, assembly election, हिमाचल चुनाव, हिमाचल चुनाव 2017, विधानसभा चुनाव, himachal pradesh assembly elections 2017, himachal pradesh Vidhan Sabha election 2017, election commission, हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव, प्रेम कुमार धूमल, वीरभद्र सिंह, अनुराग ठाकुर, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, Prem Kumar Dhumal, Virbhadra Singh, Anurag Thakur, Narendra Modi, Rahul Gandhi,Vikramaditya Singh        प्रेम कुमार धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर

वीरभद्र सिंह 83 और बीजेपी की ओर से सीएम कंडीडेट प्रेम कुमार धूमल 73 साल के हो चुके हैं, फिर भी कांग्रेस और बीजेपी ने इन्हीं चेहरों पर भरोसा करके चुनाव लड़ा. हिमाचल की राजनीति पिछले दो दशक से इन्हीं नेताओं के इर्द-गिर्द घूमती रही है. लेकिन चुनाव में दोनों नेताओं के बेटों ने जमकर मेहनत की है. वे दोनों अपने-अपने पिता की इमेज मेकिंग और जीत के लिए जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर