लाइव टीवी

चुनावों का सितारा: फायरब्रांड नेता दिलीप घोष ने दी है 2021 में BJP को जीत की आशा

News18Hindi
Updated: January 21, 2020, 11:01 PM IST
चुनावों का सितारा: फायरब्रांड नेता दिलीप घोष ने दी है 2021 में BJP को जीत की आशा
बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष की फाइल फोटो

55 साल के बंगाल बीजेपी (BJP) प्रमुख दिलीप घोष (Dilip Ghosh) अब पार्टी का एक जरूरी हिस्सा बन चुके हैं. इसमें उनके व्यक्तित्व और बोलने की कला का खास योगदान रहा है. भले ही कभी-कभी उनके बयान विवादास्पद (controversial) क्यों न साबित होते हों.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2020, 11:01 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. उन्होंने विदेशी गायों (foreign cows) को 'आंटी' कहा और दावा किया कि भारतीय गायों (Indian cows) के दूध में सोना होता है, पार्टी के कार्यकर्ताओं से पुलिसकर्मियों को पीटने को कहा और जो बुद्धिजीवी भारत के नागरिकता संशोधन विधेयक (CAA) का विरोध कर रहे हैं उन्हें 'शैतान' और 'परजीवी' कहा. विश्लेषक मानते हैं कि जब विवाद (controversies) पैदा करने और भड़काऊ भाषण देने कि बात आती है तो भारतीय राजनीति में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बंगाल प्रमुख दिलीप घोष के मुकाबले के कम ही लोग दिखते हैं.

वह आदमी, जिसने कभी खुद की हिंदी सिनेमा के सबसे प्रसिद्ध खलनायक गब्बर सिंह (Gabbar Singh) से बराबरी की थी, वह राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) के लिए एक कठिन चुनौती बनकर उभरा है.

'दिलीप दा के बिना नगरपालिका और 2021 विधानसभा में TMC को टक्कर देना मुश्किल'
घोष जिन्होंने 3014 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से आकर बीजेपी ज्वाइन की थी धीरे-धीरे पश्चिम बंगाल में बीजेपी के पहिए की धुरी बन गए. 2015 में उन्हें राज्य की बीजेपी का अध्यक्ष बनाया गया और फिर से इस महीने उन्हें इस पद पर केंद्रीय नेतृत्व ने फिर से नियुक्त कर दिया. एक वरिष्ठ बीजेपी नेता (BJP Leader) ने अपना नाम न बताने की शर्त पर कहा- "दिल्ली में बैठे वरिष्ठ नेता जानते हैं कि दिलीप दा के बिना, पार्टी के लिए आने वाले नगरपालिका चुनावों और महत्वपूर्ण 2021 के विधानसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस को टक्कर देना मुश्किल होगा."

'नारू दा' ने कार्यकर्ताओं को दे दिया है नगरपालिका चुनावों के लिए संदेश
16 जनवरी को घोष जिन्हें 'नारू दा' भी कहते हैं, को फिर से अध्यक्ष नियुक्त किए जाने के तुरंत बाद से ही उन्होंने कोलकाता (Kolkata) के नगरपालिका चुनावों के लिए काम करना शुरू कर दिया है. ये चुनाव अप्रैल में होने वाले हैं. सूत्रों ने बताया कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा है कि वे सभी 144 वार्ड्स में लोगों से संपर्क कार्यक्रम चलाने को कहा है. इस संपर्क कार्यक्रम के लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं को साफ संदेश दिया हुआ है- बीजेपी नगरपालिका को तृणमूल कांग्रेस (TMC) से बेहतर ढंग से चला सकती है.

यह भी पढ़ें: रजनीकांत ने कहा- पेरियार के बारे में छपी हैं कई खबरें, मैं क्‍यों मांगू माफी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 11:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर