लाइव टीवी

सुधरने के बाद भी 'खराब' है दिल्ली की आबोहवा

भाषा
Updated: November 4, 2018, 3:36 PM IST
सुधरने के बाद भी 'खराब' है दिल्ली की आबोहवा
प्रतीकात्मक तस्वीर

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 370 दर्ज किया गया था जोकि शनिवार को 336 हो गया.

  • Share this:
दिल्ली की वायु गुणवत्ता में रविवार को सुधार देखने को मिला. पिछले तीन सप्ताह से लगातार प्रदूषण स्तर 'गंभीर' और 'बेहद खराब' चल रहा था, जिसमें सुधार होते हुए अब यह 'खराब' की श्रेणी में आ गया है. रविवार को संपूर्ण वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 231 दर्ज किया गया जोकि 'खराब' श्रेणी के तहत आता है.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 370 दर्ज किया गया था जोकि शनिवार को 336 हो गया. रविवार को पीएम 2.5 (कणों की माप 2.5 माइक्रोमीटर से कम थी) का स्तर 106 दर्ज किया गया जबकि पीएम 10 (कणों की माप 10 माइक्रोमीटर से कम थी) का स्तर 198 दर्ज किया गया.

गौरतलब है कि सूचकांक शून्य से 50 तक होने पर हवा को 'अच्छा', 51 से 100 होने पर 'संतोषजनक', 101 से 200 के बीच 'सामान्य', 201 से 300 से 'खराब', 301 से 400 तक 'बहुत खराब' और 401 से 500 के बीच को 'गंभीर' श्रेणी में रखा जाता है. दिल्ली प्रशासन ने प्रदूषण से निपटने के लिए कई तरह के प्रयास किए हैं, जिसमें निर्माण कार्य को रोकने सहित यातायात संबंधी गतिविधियों पर नियंत्रण लगाना शामिल है.

ये भी पढ़ें: प्रदूषण से निपटने के उपाय बेअसर, बेहद खराब बनी हुई है दिल्ली की वायु गुणवत्ता



खुदाई समेत दिल्ली में सभी तरह के निर्माण कार्यों को रोक दिया गया है. दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के जिलों में नागरिक निर्माण कार्य भी रोक दिए गए हैं. धूल को बढ़ाने वाले कामों जैसे पत्थरों को तोड़ने वाले कार्य और मिश्रण बनाने के कार्यों पर भी रोक है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) ने यातायात विभाग और यातायात पुलिस को निर्देश दिया है कि वह 1-10 नवंबर के बीच प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों की जांच करें और यातायात की भीड़ को नियंत्रित करें.

ये भी पढ़ें: चीन ने कैसे जीती वायु प्रदूषण की जंग, भारत को लेनी चाहिए सीख

प्रदूषण गतिविधियों की निगरानी रखने, तत्काल कार्रवाई करने के लिए 1-10 नवंबर तक 'क्लीन एयर कैंपेन' चलाया जा रहा है. दिल्ली-एनसीआर में इस अभियान के तहत शुक्रवार और शनिवार को नियमों का उल्लंघन करने वालों से कुल 80 लाख रुपये का जुर्माना वसूला गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बताया कि 465 शिकायतों के आधार पर सिर्फ शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी में 52 टीमों ने 41,82,500 रुपये जुर्माना वसूला.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2018, 1:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,685

     
  • कुल केस

    1,604,072

    +788
  • ठीक हुए

    356,656

     
  • मृत्यु

    95,731

    +38
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर