Union Budget 2018-19 Union Budget 2018-19

तमिलनाडु में उल्लास के साथ मनाया जा रहा है फसल का त्यौहार पोंगल

आईएएनएस
Updated: January 14, 2018, 1:18 PM IST
तमिलनाडु में उल्लास के साथ मनाया जा रहा है फसल का त्यौहार पोंगल
(Image:ANI)
आईएएनएस
Updated: January 14, 2018, 1:18 PM IST
तमिलनाडु के लोग रविवार को फसल का त्यौहार पोंगल को उल्लास के साथ मना रहे हैं. लोग बारिश, सूर्य और मवेशियों के प्रति आभार जता रहे हैं. लोग एक दूसरे को पोंगल की बधाई देते हैं और चकराई पोंगल का आदान-प्रदान कर रहे हैं. आज ही के दिन राज्य के कुछ हिस्सों में जलीकट्टू का भी आयोजन किया जाता है.

लोग सुबह जल्दी उठ गए और नए कपड़े पहनकर मंदिरों में गए. घरों में घी में तले काजू, बादाम और इलायची की खूशबू आ रही थी क्योंकि पारंपरिक पकवान चावल, गुड़ और चने की दाल बनाई जा रही है.

चकराई पोंगल की सामग्री दूध में उबाल कर लोग 'पोंगलो पोंगल', 'पोंगलो पोंगल' बोल रहे हैं.


भगवान सूर्य के प्रति आभार जताने के लिए उन्हें पोंगल का पकवान का भोग लगाया जाता है, जिसके बाद उसे प्रसाद के रूप में ग्रहण किया जाता है. पोंगल का त्योहार चार दिनों तक मनाया जाता है. पहला दिन भोगी होता है, जो शनिवार के दिन मनाया गया. इस दिन लोग पुराने कपड़ों, दरी आदि चीजों के जलाते हैं और घरों का रंग-रोगन करते हैं.


दूसरे दिन पोंगल का मुख्य त्योहार होता है, जो तमिल महीने थाई के पहले दिन मनाया जाता है.

तीसरा दिन मट्टू पोंगल होता है, जब गाय, बैलों को नहलाकर उनके सींगों को रंगा जाता है और उनकी पूजा की जाती है.

महिलाएं पक्षियों को रंगे हुए चावल खिलाती हैं और अपने भाईयों के कल्याण के लिए प्रार्थना करती हैं.

चौथे दिन कन्नम पोंगल मनाया जाता है. इस दिन लोग अपने मित्रों और रिश्तेदारों के घर जाकर उनसे मुलाकात करते हैं और घूमने-फिरने जाते हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर