अपना शहर चुनें

States

पोंजी घोटाला: गिरफ्तार पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी को अदालत ने 24 नवम्बर तक न्यायिक हिरासत में भेजा

फाइल फोटो
फाइल फोटो

रेड्डी के वकील आर पी चंद्रशेखर ने बताया कि रेड्डी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 204, 120बी और 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

  • Share this:
खनन कारोबारी एवं कर्नाटक के पूर्व मंत्री जी. जनार्दन रेड्डी को रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्हें षष्ठम अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें 24 नवम्बर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इससे पहले पुलिस ने पोंजी घोटाला मामले में रेड्डी से लंबी पूछताछ की. यह जानकारी पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने दी.

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) आलोक कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि रेड्डी कहां हैं इसके बारे में पता नहीं था और बुधवार से उनसे सम्पर्क भी नहीं हो पा रहा था. वह शनिवार को केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) कार्यालय पहुंचे थे. रविवार की सुबह पूछताछ समाप्त होने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

गौरतलब है कि सीसीबी को रेड्डी की तलाश थी. पुलिस ने करोड़ों रूपये की पोंजी स्कीम घोटाले से कथित रूप से जुड़े करोड़ों रूपये के लेनदेन के सिलसिले में गत सप्ताह उन्हें फरार घोषित कर दिया था. रेड्डी के वकील आर पी चंद्रशेखर ने बताया कि रेड्डी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 204, 120बी और 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है.



ये भी पढ़ें: पोंजी घोटालाः दो दिन की पूछताछ के बाद खनन कारोबारी जनार्दन रेड्डी गिरफ्तार
उन्होंने कहा कि रेड्डी के खिलाफ धनशोधन निरोधक अधिनियम, 2002 के तहत भी मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने बताया कि लंबी पूछताछ के चलते रेड्डी को सीसीबी कार्यालय में सोना पड़ा. अदालत में पेश करने से पहले रेड्डी का चिकित्सकीय परीक्षण कराया गया.

कथित तौर पर फरार चल रहे रेड्डी अपने अधिवक्ताओं के साथ शनिवार शाम में पुलिस के समक्ष पेश हुए. उससे पहले उन्होंने एक वीडियो में दावा किया कि वह फरार नहीं हैं और वह पुलिस के समक्ष पेश होंगे. उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके खिलाफ जो आरोप लगाए गए हैं वह ‘‘राजनीतिक साजिश’’ का हिस्सा हैं.

पहले यह कहा गया था कि सीसीबी ने रेड्डी के एक नजदीकी सहयोगी अली खान को इस मामले में हिरासत में लिया है. एसीपी ने बाद में कहा कि चूंकि खान ने सत्र अदालत से जमानत ले ली थी, पुलिस को अभी उसे गिरफ्तार करने में तकनीकी समस्या आ रही है.

ये भी पढ़ें: पोंजी घोटाला: वीडियो जारी कर दी सफाई फिर पुलिस के पास पहुंचे जनार्दन रेड्डी

सीसीबी को खान की तलाश थी जिसने एंबिडेंट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के सैयद अहमद फरीद के साथ उसे (फरीद को) प्रवर्तन निदेशालय की जांच से बाहर निकालने के लिए 20 करोड़ रूपये का सौदा किया था. कंपनी पर पोंजी स्कीम में शामिल होने के आरोप हैं.

जांच के दौरान जमानत पर रहे फरीद ने दावा किया था कि उसने पैसे का भुगतान इसलिए किया था ताकि वह प्रवर्तन निदेशालय की जांच के सिलसिले में रेड्डी से मदद ले सके. रेड्डी ने शनिवार को आरोपों से इनकार किया और आरोपों को एक राजनीतिक षड्यंत्र बताया है.

रेड्डी के नजदीकी सहयोगी श्रीरामुलू की बहन जे शांता (भाजपा उम्मीदवार)बल्लारी लोकसभा सीट से चुनाव हार गईं. बल्लारी को रेड्डी भाइयों को गढ़ माना जाता है. बल्लारी से कांग्रेस उम्मीदवार ने जीत दर्ज की. इससे पहले रेड्डी के वकील चंद्रशेखर ने संवाददाताओं से कहा कि सत्र अदालत उनके मुवक्किल की जमानत अर्जी पर सोमवार पर सुनवायी करेगी.

ये भी पढ़ें:  जनार्दन रेड्डी से रात 2:30 बजे तक चली पूछताछ, क्राइम ब्रांच के वेटिंग रूम में बिताई रात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज