केरल में बेहद तेज है कोरोना की रफ्तार, 23 मई तक के लिए बढ़ा संपूर्ण लॉकडाउन

पिनराई विजयन. (पीटीआई फाइल फोटो)

पिनराई विजयन. (पीटीआई फाइल फोटो)

राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (CM Pinarayi Vijayan) ने कहा है कि अधिक पॉजिटिविटी रेट को देखते हुए केरल में 23 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा रहा है.

  • Share this:

तिरुवनंतपुरम. केरल (Kerala) में कोरोना (Covid-19) की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है और टेस्ट पॉजिटिविटी रेट (TPR) लगातार ज्यादा बना हुआ है. शुक्रवार को राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (CM Pinarayi Vijayan) ने कहा है कि अधिक पॉजिटिविटी रेट को देखते हुए केरल में 23 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा रहा है.

राज्य में बीते 24 घंटे के दौरान 34964 नए मामले सामने आए हैं. कुल 93 मौतें हुई हैं. राज्य में अब तक महामारी से कुल 6243 लोगों ने जान गंवाई है. हालांकि कोरोना से रिकवर करने वाले की संख्या भी उत्साहजनक रही है. शुक्रवार को 31 हजार से अधिक लोगों ने महामारी को हराया और स्वस्थ हुए. राजधानी तिरुवनंतपुरम, एर्नाकुलम और थ्रिसूर जैसे जिलों में कोरोना की तेज रफ्तार के मद्देनजर विशेष ध्यान रखा जा रहा है.

पीएम मोदी को खत लिखकर सीएम विजयन ने की थी मदद की गुहार

लगातार तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के मद्देनजर मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर ऑक्सीजन सिलेंडर और वैक्सीन की मांग की थी. विजयन ने पीएम को लिखे अपने इस पत्र में पी कहा था कि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन भंडारण को तत्काल बढ़ाया जाना चाहिए क्योंकि जीवनरक्षक गैस की मांग बढ़ रही है.
विजयन ने कहा था, 'भंडारण बढ़ाने के लिए हमें 1000 टन आयातित तरल मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता है. विदेश मंत्रालय को सलाह दी जा सकती है कि आयात की वर्तमान किश्त से आंशिक रूप से आवश्यक मात्रा आवंटित करें और भविष्य के आयात से संतुलन प्राप्त करें.' विजयन ने इसके साथ ही बढ़ते मामलों को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर प्रधानमंत्री से ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर्स, वेंटिलेटर्स और अन्य उपकरण मुहैया कराने की भी मांग की थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज