जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण ढंग से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, राज्यपाल बोले- हार मान चुके आतंकी

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के बडगाम, पुलवामा, अवंतिपोरा, त्राल, गंदेरबल, कुलगाम, बारामुला, शोपियां, अनंतनाग और बांदीपोरा में स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) का उत्सव शांतिपूर्ण तरीके से मनाया गया.

भाषा
Updated: August 16, 2019, 7:33 AM IST
जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण ढंग से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, राज्यपाल बोले- हार मान चुके आतंकी
राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि सुरक्षा बलों की कार्रवाई के सामने आतंकी हार मान चुके हैं (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: August 16, 2019, 7:33 AM IST
कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) में स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) का उत्सव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ और इस दौरान किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu-Kashmir administration) के मुख्य सचिव रोहित कंसल ने गुरुवार को यह जानकारी दी. जम्मू-कश्मीर प्रशासन के मुख्य सचिव रोहित कंसल ने यह भी बताया कि गुरुवार को रात्रिकाल का पहला विमान 150 यात्रियों को लेकर रवाना होगा.

जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu-Kashmir administration) के मुख्य सचिव रोहित कंसल ने संवाददाताओं से बताया, ‘‘ स्वतंत्रता दिवस का उत्सव शांतिपूर्ण रहा और घाटी में कोई अप्रिय घटना दर्ज नहीं की गई.’’

गुरुवार से ही श्रीनगर हवाई अड्डे से हो चुकी है रात्रिकालीन सेवा की शुरुआत
मुख्य सचिव रोहित कंसल ने बताया कि श्रीनगर पहले से ही रात्रिकालीन सेवा देने की क्षमता रखने वाला अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा है और यह खुशी की बात है कि गुरुवार को ही रात्रिकालीन सेवा की शुरुआत भी हो गई. गुरुवार को रात्रिकाल का पहला विमान 150 यात्रियों को लेकर रवाना होगा.

जम्मू-कश्मीर के कई जिलों में शांतिपूर्वक मनाया गया स्वतंत्रता दिवस का उत्सव
जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu-Kashmir administration) की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक बडगाम, पुलवामा, अवंतिपोरा, त्राल, गंदेरबल, कुलगाम, बारामुला, शोपियां, अनंतनाग और बांदीपोरा में स्वतंत्रता दिवस का उत्सव मनाया गया.

राज्यपाल बोले सशस्त्र बलों की सतत कार्रवाई से आतंकवादी मान चुके हैं हार
Loading...

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि सशस्त्र बलों की सतत कार्रवाई से आतंकवादियों ने हार मान ली है.

जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद यह पहला स्वतंत्रता दिवस है. मलिक ने गुरुवार को श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में तिरंगा फहराया. ध्वजारोहण के बाद उन्होंने अर्धसैनिक बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस की परेड का निरीक्षण किया. बाद में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि केंद्र के फैसले के बाद लोगों को अपनी पहचान को लेकर चिंतित होने की जरूरत नहीं है.

यह भी पढ़ें: चीन-पाकिस्तान ने चली चाल, UNSC में कश्मीर पर होगी चर्चा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 5:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...