लाइव टीवी

दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद फोर्स में छिपे 'जासूस' की तलाश करेगी CRPF

News18Hindi
Updated: January 28, 2020, 7:12 PM IST
दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद फोर्स में छिपे 'जासूस' की तलाश करेगी CRPF
दविंदर सिंह की गिरफ्तारी ने घाटी में सुरक्षा ग्रिड को खतरे में डाल दिया है. (File Photo)

जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu Kashmir) के डिप्टी सुपरिटेंडेंट दविंदर सिंह (Davinder Singh) को इस महीने की शुरुआत में पुलिस द्वारा की जा रही तलाशी के दौरान हिज्बुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के दो आतंकियों नवीद बाबू और आसिफ अहमद के साथ पकड़ा गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2020, 7:12 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu Kashmir) के डिप्टी सुपरिटेंडेंट दविंदर सिंह (Davinder Singh) को लेकर हुए खुलासे के बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force) इस मामले में सुरक्षा में हुई चूक की पड़ताल के लिए आंतरिक ऑडिट करेगी.

दविंदर सिंह को इस महीने की शुरुआत में पुलिस द्वारा की जा रही तलाशी के दौरान हिज्बुल मुजाहिदीन (Hizbul Muzahideen) के दो आतंकियों नवीद बाबू और आसिफ अहमद के साथ पकड़ा गया था. इसमें नवीद बाबू दक्षिण कश्मीर (South Kashmir) के शोपियां जिले के नाज़नीनपोरा का रहने वाला था. दविंदर को उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह इन दोनों आतंकियों के साथ उनके कुछ महीनों तक  रहने का इंतजाम करने के लिए चंडीगढ़ (Chandigarh) जा रहा था. कुछ दिन बाद दविंदर सिंह को पद से बर्खास्त कर दिया गया था.

फोर्स के अंदर ही होगी नियमित जांच
हाल ही में नियुक्त किए गए सीआरपीएफ के डायरेक्टर जनरल एपी माहेश्वरी ने कहा कि दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद फोर्स द्वारा एक आंतरिक ऑडिट किया गया. माहेश्वरी ने कहा, "सीआरपीएफ ने हमारे आंतरिक सिस्टम का पुनरीक्षण/ऑडिट किया है और ये हम नियमित रूप से करेंगे ताकि यह जांच की जा सके कि बल के भीतर किसी तरह की साजिश की कोई कोशिश तो नहीं हो रही है."



माहेश्वरी ने कहा, "यह एक गंभीर घटना है जो कि अत्यधिक चिंता की बात है." इस तरह के प्रकरणों से सुरक्षा ग्रिड को किसी भी तरह से कमजोर नहीं होने दिया जाना चाहिए. इसलिए, सभी बलों की एक आंतरिक निगरानी रखनी जरूरी है. सभी बलों को सतर्कता रखनी चाहिए ताकि सिस्टम के भीतर इस तरह की घुसपैठ न हो. हमें यह देखने की जरूरत है कि कोई इस तरह की कोशिश तो नहीं कर रहा है. यह एक गंभीर मामला है."



सिस्टम को मजबूत करने के लिए उठाए जा रहे कदम
माहेश्वरी ने कहा कि अगर फ्लैग ऑफ अधिकारियों और अन्य कर्मियों में से कोई गलत कार्यों में लिप्त पाया जाता है तो इसके लिए सीआरपीएफ में एक मौजूदा तंत्र है, लेकिन जम्मू-कश्मीर पुलिस अधिकारी की अपमानजनक गिरफ्तारी के बाद, सिस्टम को और मजबूत करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद हमें एक बार फिर इसकी जांच करनी होगी. हम अपने सिस्टम को और मजबूत करने के लिए कदम उठा रहे हैं.

सभी स्तरों पर किया जा रहा ऑडिट
सीआरपीएफ अधिकारियों ने कहा कि मौजूदा सिस्टम के तहत यूनिट, रेंज, सेक्टर और मुख्यालय स्तर पर सतर्कता बरती जाती है. ये इंटरनल ऑडिट जम्मू-कश्मीर में तैनात सभी इकाइयों में इन सभी स्तरों पर किया गया.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने न्यूज़18 को बताया "विजिलेंस टीमें नियमित जांच करती हैं और यदि उन्हें किसी व्यक्ति पर किसी प्रकार (भ्रष्टाचार या किसी और तरह का) का कोई शक होता है तो वह सीआरपीएफ मुख्यालय में खुफिया शाखा को इसकी रिपोर्ट करती हैं. यूनिट स्तर पर टीम में आठ लोग शामिल हैं, सीमा स्तर पर 12 लोग हैं. वे मुख्यालय में खुफिया विंग को नियमित रिपोर्ट भेजते हैं. हमारे पास एक मजबूत प्रणाली है. "

फिर से नहीं होगी पुलवामा हमले की जांच
दविंदर सिंह की गिरफ्तारी ने घाटी में सुरक्षा ग्रिड को खतरे में डाल दिया है क्योंकि पिछले साल पुलवामा हमले, 2001 में संसद हमले और अन्य मामलों में उनकी भूमिका के बारे में आरोप लगाए गए थे.

माहेश्वरी ने कहा कि ऐसी घटनाओं का इस्तेमाल पूरी फोर्स की छवि को खराब करने के लिए नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ पुलवामा हमले को लेकर दोबारा जांच नहीं कर रही है. आपको बता दें पिछले साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला हुआ था जिसमें 40 से ज्यादा जवानों की जान चली गई थी.

ये भी पढ़ें :-

पाकिस्तान आतंकी समूहों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई करे, जो सबको नजर आए: रक्षा मंत्री

पुलवामा हमले के बाद CPRF की सिक्योरिटी ड्रिल हुई बेहतर, किए गए ये इंतजाम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 5:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading