BJP से नाराज़ ममता ने की सुषमा-राजनाथ की तारीफ, कहा- आलू और चिप्स बराबर नहीं होते

BJP से नाराज़ ममता ने की सुषमा-राजनाथ की तारीफ, कहा- आलू और चिप्स बराबर नहीं होते
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

ममता ने मंगलवार देर शाम गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. इस दौरान टीएमसी प्रमुख ने कहा कि बीजेपी की असहिष्णुता वाली राजनीति स्वीकार नहीं की जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2018, 12:35 PM IST
  • Share this:
असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) की दूसरे और फाइनल ड्राफ्ट को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और बाकी विपक्षी दलों के बीच खींचतान तेज हो गई है. NRC की दूसरी लिस्ट में 40 लाख लोगों का नाम नहीं होने पर पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख ममता बनर्जी ने बीजेपी के खिलाफ जोरदार तरीके से अपनी आवाज़ बुलंद की है.

हालांकि, ममता बनर्जी ने बीजेपी के विभिन्न नेताओं में अंतर का जिक्र करते हुए कहा, "मैं नहीं कह रहीं हूं कि सभी लोग खराब हैं. सुषमा स्वराज और राजनाथ सिंह अच्छे हैं. आलू और आलू चिप्स बराबर नहीं हो सकता."

NRC से बाहर हुए लोग कहीं चले न जाएं दूसरे राज्य, बायोमीट्रिक डेटा से किया जाएगा ट्रैक



ममता ने मंगलवार देर शाम गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. इस दौरान टीएमसी प्रमुख ने कहा कि बीजेपी की असहिष्णुता वाली राजनीति स्वीकार नहीं की जाएगी. विपक्ष एकजुट होकर 2019 में सत्तासीन दल को हराएगा. टीएमसी नेता ने बताया कि वह बुधवार को यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से भी मिलेंगी.

राजनाथ ने ममता को दिया ये भरोसा
राजनाथ सिंह ने ममता से कहा कि असम में एनआरसी को अपडेट करना पूरी तरह निष्पक्ष, पारदर्शी और कानूनी प्रक्रिया है. उन्होंने ममता को भरोसा दिलाया कि एनआरसी प्रक्रिया में किसी को भी परेशान नहीं किया जाएगा. सभी को पर्याप्त मौका दिया जाएगा.

NRC मुद्दे पर संसद में कांग्रेस का विरोध तुष्टिकरण की घटिया राजनीति: केशव प्रसाद मौर्य

ममता ने दी थी सिविल वॉर की चेतावनी
बता दें कि असम के एनआरसी के दूसरे और अंतिम ड्राफ्ट में 40 लाख लोगों का नाम नहीं होने को लेकर ममता बनर्जी ने देश में सिविल वॉर की चेतावनी दी थी, जिसे लेकर उनके खिलाफ शिकायत दर्ज हुई है.

सिविल वॉर की चेतावनी देते हुए ममता बनर्जी ने कहा था कि बंगाली ही नहीं अल्पसंख्यकों, हिंदुओं और बिहारियों को भी एनआरसी से बाहर रखा गया है. जिन 40 लाख से ज्यादा लोगों ने सत्ताधारी पार्टी के लिए वोट किया था, उन्हें अपने ही देश में रिफ्यूजी बना दिया गया है. ममता ने कहा, 'वे लोग देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं. यह जारी रहा तो देश में खून की नदियां बहेंगी, देश में सिविल वॉर शुरू हो जाएगा.'


शाह का विपक्ष पर हमला, वोटबैंक के लिए नहीं राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अहम है NRC

डिब्रुगढ़ में शिकायत दर्ज
असम एनआरसी मुद्दे पर दिए गए बंगाल सीएम के इस बयान को लेकर डिब्रुगढ़ जिले के नाहरकटिया पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई है. ममता पर प्रदेश की सांप्रदायिक सद्भावना को नुकसान पहुंचाने की कोशिश का आरोप लगाया गया है. पुलिस ने फिलहाल केस दर्ज नहीं किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज