लाइव टीवी

प्रज्ञा ठाकुर ने संसद में गोडसे को बताया 'देशभक्‍त', सोशल मीडिया पर लोगों ने ऐसा दिया रिएक्‍शन

भाषा
Updated: November 28, 2019, 12:01 AM IST
प्रज्ञा ठाकुर ने संसद में गोडसे को बताया 'देशभक्‍त', सोशल मीडिया पर लोगों ने ऐसा दिया रिएक्‍शन
प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर विवाद खड़ा हो गया है.

प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) ने लोकसभा (Loksabha) में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) का हवाला 'देशभक्त' के तौर पर दिया.

  • भाषा
  • Last Updated: November 28, 2019, 12:01 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लोकसभा (Lok sabha) में भाजपा सदस्य प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Singh Thakur) ने बुधवार को तब एक टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया जब द्रमुक सदस्य ए राजा अदालत के समक्ष नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) द्वारा दिये गए उस बयान को उद्धृत कर रहे थे कि उसने महात्मा गांधी  (Mahatma Gandhi) को क्यों मारा. ठाकुर की टिप्पणी को लेकर विपक्षी सदस्यों द्वारा विरोध जताए जाने के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि एसपीजी (संशोधन) विधेयक पर चर्चा के दौरान सिर्फ द्रमुक नेता का बयान ही रिकॉर्ड में जाएगा.

प्रज्ञा ठाकुर की टिप्‍पणी दर्ज नहीं की गई
लोकसभा सचिवालय ने बाद में एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि ठाकुर की टिप्पणी 'दर्ज नहीं की गई है.' राजा ने कहा कि गोडसे ने स्वीकार किया था कि गांधी की हत्या का फैसला करने से पहले 32 सालों तक उसके मन में गांधी के प्रति द्वेष पनप रहा था. राजा ने कहा कि गोडसे ने गांधी को मारा क्योंकि वह एक खास विचारधारा में विश्वास रखता था. विपक्षी सदस्य जहां ठाकुर द्वारा टोकाटाकी के खिलाफ विरोध जता रहे थे वहीं भाजपा सदस्यों ने उनसे बैठ जाने का अनुरोध किया. इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि सिर्फ ए राजा का बयान रिकॉर्ड में रखा जाएगा.

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे को देशभक्त करार दिया था जिसकी वजह से बड़ा राजनीतिक विवाद मचा था. प्रज्ञा ठाकुर का बयान आज सोशल मीडिया का ट्रेंडिंग टॉपिक बना रहा. कुछ लोग प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर उनका विरोध कर रहे हैं तो कुछ लोग उनके बचाव में उतर आए हैं. वहीं एक वर्ग ऐसा भी है जो उनके बयान का मजाक उड़ा रहा है:-

प्रज्ञा ठाकुर की शिक्षा पर एक यूजर ने सवाल उठाए हैं.



एक यूजर ने कहा कि अगर भाजपा का कोई नेता नाथूराम गोडसे को देश भक्त बताता है तो भाजपा वामपंथी और सेक्युलर इतना भयभीत क्‍यों हो जाते हैं. गोडसे के मुद्दे पर भाजपा को रक्षात्मक नीति का त्याग अब कर ही देना चाहिए.



एक यूजर ने तो प्रज्ञा ठाकुर के बयान की आड़ में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है.



वहीं एक यूजर ने लिखा कि गोडसे कातिल है, आतंकवादी नहीं है.



इस यूजर ने भी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर उनका समर्थन किया है.



गगन वर्मा नाम ने यूजर ने भी प्रज्ञा ठाकुर के बयान का समर्थन किया है. उन्‍होंने कहा कि किसी को प्रज्ञा ठाकुर को दोष देने का अधिकार नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 11:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर