उमा भारती के करीबी प्रह्लाद पटेल भी मोदी मंत्रिमंडल में, जनता से जुड़े नेता की है पहचान

उमा भारती के करीबी प्रह्लाद पटेल भी मोदी मंत्रिमंडल में, जनता से जुड़े नेता की है पहचान
प्रह्लाद पटेल को मध्य प्रदेश में तेज तर्रार नेता के तौर पर जाना जाता है

अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में भी कैबिनेट मिनिस्टर रह चुके प्रह्लाद पटेल को नरेंद्र मोदी कैबिनेट 2.0 मे भी जगह मिली है. गुरूवार देर शाम उन्होंने राष्ट्रपति भवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में मंत्रीपद की शपथ ली.

  • Share this:
अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में भी कैबिनेट मिनिस्टर रह चुके प्रह्लाद पटेल को नरेंद्र मोदी कैबिनेट 2.0 मे भी जगह मिली है. गुरूवार देर शाम उन्होंने राष्ट्रपति भवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में मंत्रीपद की शपथ ली.

बता दें कि  प्रह्लाद पटेल मध्य प्रदेश के दमोह से चुनाव जीते थे. मध्य प्रदेश में बीजेपी ने एक तरह से क्लीन स्वीप किया था. यहां की 29 में से 28 सीटें बीजेपी के हिस्से रही थीं. पिछली लोक सभा में राज्य से सुषमा स्वराज, नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गहलोत और वीरेंद्र कुमार को मंत्री पद मिला था।

पहले नहीं मिला था पद
प्रह्लाद पटेल को पिछली बार मंत्रीपद नहीं मिला था. हालांकि वे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री थे. पटेल को जनता से जुड़े नेताओं में शुमार किया जाता है. उनका जन्म 28 जून 1960 को नरसिंहपुर जिले की गोटेगांव तहसील में हुआ था. करीब डेढ़ दशक पहले पैदल नर्मदा यात्रा कर चुके हैं. पटेल को अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बनी एनडीए सरकार में जगह मिली थी. तब उन्हें कोयला मंत्रालय में राज्यमंत्री बनाया गया था. पटेल चार बार सांसद रह चुके हैं. 1999 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर मध्य प्रदेश के बालाघाट से लोकसभा का चुनाव जीता था. पेशे से अधिवक्ता पटेल असंगठित मजदूर संघ के अध्यक्ष और बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य हैं.



तीन लाख से ज्यादा वोटों से दर्ज की जीत


इस बार लोकसभा चुनाव में पटेल ने अपने पिछले प्रदर्शन को और बेहतर करते हुए तीन लाख से ज्यादा मतों से जीत हासिल की थी. दमोह लोकसभा की आठों विधानसभा में कुल 17 लाख 37 हजार मतदाता थे. इनमें से 11 लाख 64 हजार 617 मत पड़े थे. पटेल को कुल 7 लाख 4 हजार 334 मत मिले थे. कांग्रेस प्रत्याशी प्रताप सिंह को 3 लाख 51 हजार 70 मत मिले थे. बीजेपी प्रत्याशी को कुल 60.51 प्रतिशत वोट मिले थे. पटेल पहली बार 1989 में सांसद बने थे. उसके बाद दूसरे टर्म के लिए 1996 में चुने गए. तीसरा टर्म 1999 में था. इसी कार्यकाल के दौरान उन्हें 24 मई 2003 को कोयला मंत्री बनाया गया था. 2014 यानी पिछली लोकसभा में वे एक बार फिर चुने गए.

नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह के पल-पल के अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading