Home /News /nation /

Exclusive: प्रकाश जावड़ेकर बोले- देशभर में कृषि कानूनों का स्‍वागत, केवल पंजाब में विरोध प्रदर्शन

Exclusive: प्रकाश जावड़ेकर बोले- देशभर में कृषि कानूनों का स्‍वागत, केवल पंजाब में विरोध प्रदर्शन

प्रकाश जावड़ेकर. (फाइल फोटो)

प्रकाश जावड़ेकर. (फाइल फोटो)

Exclusive: न्‍यूज 18 इंडिया से खास बातचीत में प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने कहा, 'पूरे देश में किसान हैं लेकिन कहीं भी आंदोलन नहीं हो रहा है क्योंकि किसान समझ गया है कि कानून उसके पक्ष में है. MSP भी रहेगी लेकिन कोई ज्यादा पैसा देता है तो उसको भी बेच सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...
इस साल मानसून सत्र में केंद्र की मोदी सरकार द्वारा संसद के दोनों सदनों से पास कराए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन दिल्ली पहुंच चुका है. दिल्ली स्थित निरंकारी मैदान में प्रदर्शन की इजाजत मिलने के बाद किसानों के लिए हरियाणा और पंजाब की सीमाएं खोल दी गई हैं. किसानों के प्रदर्शन के लिए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है. प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘देश के अन्य हिस्सों में यह प्रदर्शन नहीं हो रहा यह केवल पंजाब में हो रहा है.’ न्‍यूज 18 इंडिया से खास बातचीत में प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'पूरे देश में किसान हैं लेकिन कहीं भी आंदोलन नहीं हो रहा है क्योंकि किसान समझ गया है कि कानून उसके पक्ष में है. MSP भी रहेगी लेकिन कोई ज्यादा पैसा देता है तो उसको भी बेच सकते हैं. कांग्रेस ने पंजाब सहित पूरे देश में एक भूमिका ले ली है, लेकिन उसे सहयोग नहीं मिला. पंजाब में फसलों की 20% ज्यादा खरीद की है. ये आंदोलन केवल कांग्रेस का है और भी कई दल इसमें शामिल हैं. हमने आंदोलनकारियों को मौका दिया है अपनी बात रखिए हम बात करने को भी तैयार हैं.’

किसान आंदोलन नहीं ये राजनीतिक आंदोलन
जावड़ेकर ने कहा, ‘देश भर में आंदोलन नहीं हुए हैं सभी जगह स्वागत हुआ है. अगर कोई ज्यादा कीमत देता है तो फसल उसको भी बेच सकते हैं. इससे लाभ मिलेगा. राहुल ट्वीट करते रहे उससे कुछ नहीं होगा. ये एक राजनीतिक आंदोलन है. अगर किसी को कोई समस्या है तो हम दूर करने को बैठे हैं. कांग्रेस का अहंकार अभी भी कम नहीं हुआ है. उनका अहंकार हमारी सरकार की अच्छाई के सामने टिक नही पाएगा.’

वन नेशन वन इलेक्शन पर -उनके पैरों तले जमीन खिसक रही है. इसलिए कांग्रेस के नेता बयान देते रहते है. ONE NATION ONE ELECTION कई देशों में होता रहा है. इससे समय भी बचेगा, मोदी जी भी कहते हैं अलग-अलग चुनाव क्यों करना. सभी चुनाव के लिए एक लिस्ट होगी. उन्होंने कहा कि हमने हमारी बात कह दी है. हमारे साथी हमारे साथ हैं. जो दल छोड़कर गए उनको सच्चाई पता है. अकाली को पता चल जाएगी. कॉन्ट्रैक्ट फॉर्मिंग तो पंजाब से ही शुरू हुई. इससे बेहतर कानून किसान के लिए हो नही सकता है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि हर एक पार्टी का अपना विचार होता है उसका एक लोकल मामला होता है. तो एक आध विषय पर मतभेद हो सकता है.

टीआरपी और ब्राडकास्टिंग पर बोलते हुए जावड़ेकर ने कहा, ‘सरकार ने कमेटी बनायी है हम सही रास्ता बताएंगे. किसी तरह की गड़बड़ी की आशंका को खत्म करना ही मुख्य काम है. हम नहीं तय करते हैं कि सरकार की एक भूमिका है. कमेटी जो सिफारिश करेगी उसके बाद हम करेंगे. सिफारिश के आधार पर ही काम करेंगे. महीने भर में रिपोर्ट आ जाएगी. सुप्रीम कोर्ट ने दिशा निर्देश दिए हैं कि एक चैनल को टारगेट करके ही एफआईआर होनी चाहिए. एफआईआर एक सामान्य प्रक्रिया है लेकिन न्याय कैसे होगा ये देखना है.’

ओटीटी को लेकर आती हैं सैकड़ों शिकायतें
जावड़ेकर ने कहा, ‘ चैनलों के अलावा न्यूज पोर्टल भी हैं. जो भी कंटेंट जेनरेट होता है उसकी देखभाल करना भी जरूरी हो गया है. ओटीटी को लेकर सैकड़ों शिकायत आती हैं. लेकिन ओटीटी के लिए कोई सेंसर बोर्ड नहीं है. मैं भी ओटीटी पर सीरियल देखता हूं. जो कंटेंट के मामले में बहुत बुरे सीरियल हैं उसके लिए व्यवस्था तैयार करनी चाहिए औऱ हम करेंगे.’ जावड़ेकर ने कहा,’लिबरल गैंग सेंसर बोर्ड के खिलाफ कुछ नहीं बोलता है. हमारे यहां आजादी का गला नहीं घोंटा जा रहा है. कोई भी व्यवस्था आजादी का गला घोंटना नही है. सोशल मीडिया पर पाबंदी की जरूरत नहीं मानता, लेकिन इनको जिम्मेदारी से चलना चाहिए. सोशल मीडिया पर तो कोई भी कुछ लिख सकता है, लेकिन जिम्मेदारी होनी चाहिए.’

पश्चिम बंगाल में होगा सत्ता में बदलाव
2021 में पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनावों पर बोलते हुए जावड़ेकर ने कहा, ‘सत्ता का बदलाव होगा. लेफ्ट को देखा और ममता को मौका दिया, लेकिन अब लोग ऊब चुके हैं. लोग विकास चाहते हैं. ममता कैसे स्वीकार करेंगी. बीजेपी आ रही है ममता जा रही हैं.’ महाराष्ट्र पर उन्होंने कहा, ‘बात साफ है कि महा अघाड़ी सरकार अंतरविरोधी सरकार बनी है. शिवसेना के विधायक मोदी जी के नाम पर जीत कर आये हैं. उन लोगों ने गद्दारी की है. ऐसे विरोधाभासों के साथ सरकार नहीं चलती है. जब बदलाव होगा तो आपको देखने को मिलेगा.’



कांग्रेस को बताया अहंकार का शिकार
कांग्रेस को समझ नही रहा कि वो उनके अहंकार के कारण इस जगह है. वो खुद के अहंकार के शिकार हैं. आजाद भी बोल सकते हैं.

इंडस्ट्री होंगी तो प्रदूषण होगा
वहीं, पराली जलाने और दिल्ली में बढ़ते कोरोना केस पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘पहले तो प्रदूषण दिल्ली में होता है या दुनिया में होता है तो वो सच्चाई है. इंडस्ट्री होंगी तो प्रदूषण होगा. पराली जलाने से भी प्रदूषण होगा. पराली 62 दिन जलती है लेकिन दिल्ली मे 180 दिन प्रदूषण होता है पहले एक्यूआई 240 होता है, लेकिन हमने काम किया और 180 पर लाए.’जियोग्राफी, मेट्रोलॉजी भी प्रदूषण का एक कारण है. जीरो पॉल्यूशन नहीं हो सकता है लेकिन हम काम कर रहे है. नेशनल क्लीन एयर प्रोग्रामहमने बनाया है, 45 साल में इन शहरों की हवा मे बदलाव लायेंगे ये हमारा संकल्प है.

Tags: Congress, Farmer, Farmer Protest, Farmers Bill, Farmers Delhi March, Prakash Javadekar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर