Home /News /nation /

इस वजह से जियो इंस्टीट्यूट को दिया गया ‘उत्कृष्ट संस्थान’ का दर्जा

इस वजह से जियो इंस्टीट्यूट को दिया गया ‘उत्कृष्ट संस्थान’ का दर्जा

जियो प्रतिकात्मक तस्वीर

जियो प्रतिकात्मक तस्वीर

ग्रीनफील्ड कैटेगिरी में उत्कृष्ठ संस्थान का दर्जा पाने के लिए 11 आवेदन आए थे, लेकिन इनमें से जियो ने ही जरूरी चार मानकों को पूरा किया.

    मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को छह विश्वविद्यालयों को उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा दिया, जिनमें तीन सरकारी और तीन प्राइवेट विश्वविद्यालय शामिल हैं. जिन विश्वविद्यालयों को उत्कृष्ठ संस्थान का दर्जा दिया गया उनमें एक जियो इंस्टीट्यूट भी है जिसे नीता अंबानी की अगुवाई में रिलायंस फाउंडेशन द्वारा प्रस्तावित किया गया है.

    जानिए क्‍यों जियो इंस्टीट्यूट को उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा मिला है- 

    उत्कृष्ठ संस्थान  के लिए ग्रीनफील्ड और ब्राउनफील्ड श्रेणी के तहत  सरकारी और प्राइवेट दोनों तरह की संस्थाओं से आवेदन आमंत्रित किए गए थे.  वेदनों का आकलन करने के लिए सरकार ने श्रीएन गोपालस्वामी (चेयरमैन), प्रो. तरुण खन्ना, प्रो. प्रीतम सिंह और रेणू खाटोर की एक समिति का गठन किया था.

    सरकारी संस्थानों में आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली और आईआईएससी बेंगलुरु को उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा दिया गया. सरकारी संस्थान अधिक स्वायत्तता के साथ 1000 करोड़ रुपये तक के अतिरिक्त वित्त पोषण के लिए पात्र होंगे.

    ये भी पढ़ें: देश में 20 बेहतरीन संस्थान खोज पाने में नाकाम रही एक्सपर्ट कमेटी, दिए महज 6 के नाम

    प्राइवेट कैटेगिरी में बिट्स पिलानी, मनिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन को ब्राउनफील्ड कैटेगिरी में उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा दिया गया है तो जियो इंस्टीट्यूट को ग्रीनफील्ड कैटेगिरी में यह दर्जा दिया गया है. उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा मिलने के बाद प्राइवेट संस्थान अधिक स्वायत्तता के पात्र तो होंगे लेकिन उन्हें कोई फंड नहीं दिया जाएगा.

    ईसीसी ने ग्रीनफील्ड कैटेगिरी के तहत उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा देने के लिए इन मानकों को ध्यान में रखा था.

    1- संस्थान के निर्माण के लिए भूमि की उपलब्धता

    2- उच्च योग्यता और व्यापक अनुभव वाली टीम

    3- संस्थान की स्थापना के लिए पर्याप्त फंड होना

    4- स्पष्ट रणनीति और कार्य योजना

    ग्रीनफील्ड कैटेगिरी में उत्कृष्ट संस्थान का दर्जा पाने के लिए 11 आवेदन आए थे, लेकिन इनमें से जियो ने ही जरूरी चार मानकों को पूरा किया. इसी वजह से जियो का नाम उत्कृष्ट संस्थान की लिस्ट में शामिल हुआ.

    (डिस्क्लेमरः न्यूज 18 हिंदी नेटवर्क 18 समूह का हिस्सा है. न्यूज 18 हिंदी और अन्य डिजिटल, प्रिंट और टीवी चैनल नेटवर्क 18 के अंतर्गत आते हैं. नेटवर्क 18 का स्वामित्व और प्रबंधन रिलायंस इंडस्ट्रीज के हाथ में है.)

    Tags: Prakash Javadekar, Reliance Jio

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर