लाइव टीवी

प्रणिति शिंदे को पिता से विरासत में मिली है सोलापुर की सीट

News18Hindi
Updated: October 18, 2019, 5:44 PM IST
प्रणिति शिंदे को पिता से विरासत में मिली है सोलापुर की सीट
महाराष्ट्र के 288 विधानसभा सीटों में से एक सोलापुर शहर मध्य पर कांग्रेस का कब्जा है. कांग्रेस की प्रणिति शिंदे यहां से विधायक हैं.

प्रणिति शिंदे कांग्रेस के दिग्गज नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे की बेटी हैं. कांग्रेस ने प्रणिति शिंदे को दोबारा सोलपुर सीट से टिकट दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 5:44 PM IST
  • Share this:
सोलापुर. महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में से एक सोलापुर शहर मध्य पर कांग्रेस का कब्जा है. कांग्रेस की प्रणिति शिंदे यहां से विधायक हैं. प्रणिति शिंदे कांग्रेस के दिग्गज नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे की बेटी हैं. कांग्रेस ने प्रणिति शिंदे को दोबारा यहां से टिकट दिया है. दअसल, कांग्रेस ने जीते हुए उम्मीदवारों की सीटें नहीं बदली है. 

सोलापुर शहर मध्य विधानसभा सीट सोलापुर जिले और सोलापुर लोकसभा क्षेत्र में आती है. ये मराठवाड़ा और पश्चिमी महाराष्ट्र को आपस में जोड़ता है. 

चुनाव आयोग के मुताबिक 2014 में सोलापुर सिटी सेंट्रल विधानसभा क्षेत्र में 142157 पुरुष मतदाता, 136017 महिला मतदाता और 278177 कुल मतदाता थे.

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे सोलापुर लोकसभा की सीट से लोकसभा चुनाव हार चुके हैं. इससे पहले साल 2004 में उनकी पत्नी यहां से लोकसभा चुनाव हारी थीं.  हालांकि साल 2009 में सुशील कुमार शिंदे यहां से चुनाव जीते लेकिन उसके बाद वो साल 2014 और 2019 में लगातार हार का सामना करना पड़ा. सोलापुर से तीन बार सांसद रहने के बावजूद उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा.

सोलापुर में 6 विधानसभा की सीटें आती हैं. सोलापुर में दलित,मराठा, लिंगायत और मुस्लिम मतदाताओं का असर देखा जाता रहा है. 

हालांकि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में सुशील कुमार शिंदे को हार का सामना करना पड़ा था. उन्हें बीजेपी उम्मीदवार और धार्मिक गुरु जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य ने हरा दिया था. इस सीट से वंचित बहुजन अघाड़ी पार्टी के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर भी हार गए थे. इससे पहले साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भी सुशील कुमार शिंदे को हार का सामना करना पड़ा था. उन्हें बीजेपी उम्मीदवार शरद बनसोडे ने हराया था. जबकि साल 2009 में इसी सीट से शरद बनसोडे को सुशील कुमार शिंदे से ही हार का सामना करना पड़ा था. 

प्रणिति शिंदे अपने विवादास्पद बयानों की वजह से सुर्खियों में रहती आई हैं. कभी वो पीएम मोदी के बारे में विवादास्पद टिप्पणी करती हैं तो कभी उन्होंने एमआईएम पार्टी के बारे में बयान दिए थे. उनके खिलाफ सोलापुर में एक मामला भी दर्ज हुआ था.
Loading...

ये भी पढ़ें:

आसान नहीं है ताऊ देवीलाल का ये रिकॉर्ड तोड़ पाना!

अंबाला कैंट: हरियाणा के तीन लालों के दौर में भी इस विधानसभा सीट पर चला बीजेपी सिक्का! 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 5:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...