Home /News /nation /

Prashant Kishor and Congress: 'साथ आने के लिए भरोसा जरूरी...' कांग्रेस के साथ संबंधों पर प्रशांत किशोर ने किए कई खुलासे

Prashant Kishor and Congress: 'साथ आने के लिए भरोसा जरूरी...' कांग्रेस के साथ संबंधों पर प्रशांत किशोर ने किए कई खुलासे

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के साथ संबंधों पर खुलकर चर्चा की. (फाइल फोटो)

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के साथ संबंधों पर खुलकर चर्चा की. (फाइल फोटो)

Prashant Kishor and Congress: प्रशांत किशोर ने कहा, 'साथ आने के लिए भरोसा करने की जरूरत होती है और कई कारणों से हम भरोसा नहीं कर सके. उदाहरण के लिए मेरी तरफ से यूपी (2017 चुनाव) पर साथ काम करने का अनुभव खराब रहा. और इसलिए मुझे बहुत संदेह रहा. मैं अपने हाथ बांधकर काम नहीं करना चाहता था.' उन्होंने कहा, 'मैं पार्टी में शामिल होने जा रहा था. यह एक खास चुनाव के बारे में नहीं था. यह 2024 चुनाव के बारे में भी नहीं था. यह कांग्रेस को दोबारा तैयार करने के बारे में था.' किशोर ने बताया कि वे पार्टी के साथ '90' फीसदी मुद्दों पर सहमत थे.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने कांग्रेस पार्टी (Congress) के साथ अपने संबंधों को लेकर कई खुलासे किए हैं. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस के बगैर असरदार विपक्ष मुमकिन नहीं है. वहीं, उन्होंने पार्टी के नेतृत्व पर भी सवाल उठाए हैं. हाल ही में दिए एक सक्षात्कार के दौरान किशोर ने कांग्रेस में शामिल होने को लेकर भी चर्चा की. बीते साल खबरें आई थीं कि किशोर कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं.

एनडीटीवी से बातचीत में किशोर ने कहा, ‘बंगाल के नतीजों के बाद सबसे ज्यादा समय मैंने कांग्रेस के साथ बातचीत में गुजारा है. लगभग पांच महीनों तक मई और सितंबर के बीच मैंने अपना हर मिनट दिया है.’ उन्होंने बताया कि वे करीब दो सालों से पार्टी के साथ चर्चा में बने हुए हैं. उन्होंने आगे कहा, ‘दूसरों को यह स्वभाविक लगता है कि प्रशांत किशोर औऱ कांग्रेस को साथ आना चाहिए और काम करना चाहिए. लेकिन साथ काम करने के लिए दोनों पक्षों को भरोसा करना होगा. कांग्रेस के साथ ऐसा नहीं हुआ.’

उन्होंने कहा, ‘साथ आने के लिए भरोसा करने की जरूरत होती है और कई कारणों से हम भरोसा नहीं कर सके. उदाहरण के लिए मेरी तरफ से यूपी (2017 चुनाव) पर साथ काम करने का अनुभव खराब रहा. और इसलिए मुझे बहुत संदेह रहा. मैं अपने हाथ बांधकर काम नहीं करना चाहता था.’ उन्होंने कहा, ‘मैं पार्टी में शामिल होने जा रहा था. यह एक खास चुनाव के बारे में नहीं था. यह 2024 चुनाव के बारे में भी नहीं था. यह कांग्रेस को दोबारा तैयार करने के बारे में था.’ किशोर ने बताया कि वे पार्टी के साथ ’90’ फीसदी मुद्दों पर सहमत थे.

यहां कांग्रेस को सराहा

Tags: Congress, Prashant Kishor

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर