भाजपा का आरोप- बंगाल सरकार की आड़ में अधिकारियों पर दबाव बना रही प्रशांत किशोर की टीम

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) ने दावा किया है कि प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) और उनकी टीम के सदस्य सरकारी कार्यालयों का दौरा कर रहे हैं.

भाषा
Updated: August 12, 2019, 12:03 AM IST
भाजपा का आरोप- बंगाल सरकार की आड़ में अधिकारियों पर दबाव बना रही प्रशांत किशोर की टीम
भारतीय जनता पार्टी ने दावा किया है कि प्रशांत किशोर और उनकी टीम के सदस्य सरकारी कार्यालयों का दौरा कर रहे हैं.
भाषा
Updated: August 12, 2019, 12:03 AM IST
भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) की पश्चिम बंगाल ईकाई ने रविवार को चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) की टीम पर राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार (Trinmool Congress Government) के अधिकारियों के कामकाज में हस्तक्षेप करने और वरिष्ठ अधिकारियों पर उनका आदेश मानने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया.

सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और किशोर के संगठन, द इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमिटी (आई-पीएसी) (The Indian Political Committee I-PAC) ने इन आरोपों से इनकार किया है. लोकसभा में खराब प्रदर्शन के बाद तृणमूल कांग्रेस ने 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के मद्देनजर लोकप्रियता बढ़ाने के लिए आई-पीएसी (I-PAC) की सेवाएं ली है.

किशोर की सलाह पर तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने पार्टी से सीधे संपर्क करने और अपनी शिकायतें एवं सुझाव देने के लिए हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number) और वेबसाइट (Website) लॉन्च की है.

सरकारी दफ्तरों का दौरा कर रही टीम

भाजपा (BJP) के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने मीडिया रिपोर्ट के हवाले से दावा किया कि किशोर और उनकी टीम के सदस्य सरकारी कार्यालयों का दौरा कर रहे हैं. लोगों के फीडबैक के नाम पर अधिकारियों को आदेश दे रहे हैं कि वे क्या करें और क्या नहीं.

बीजेपी बोली- तृणमूल डूबता हुआ जहाज
सिन्हा ने कहा, ‘‘ तृणमूल सलाह के लिए किशोर को नियुक्त करे इसमें कोई समस्या नहीं है. तृणमूल डूबता हुआ जहाज है और न तो किशोर और न ही कोई अन्य चुनाव रणनीतिकार ममता बनर्जी को बचा सकता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे सरकारी अधिकारियों को दिए गए काम में हस्तक्षेप करते हैं. यह खतरनाक और अस्वीकार्य है. कैसे कोई पार्टी सरकार के कामकाज का राजनीतिकरण कर सकती है? यह तुरंत बंद होना चाहिए?’’
Loading...

तृणमूल ने आरोपो को बताया आधारहीन
इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पश्चिम बंगाल (West Bengal) के संसदीय कार्यमंत्री और तृणमूल पार्टी के वरिष्ठ नेता पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘‘मीडिया और भाजपा दोनों के आरोप आधारहीन है. ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा है. कोई सरकार के कामकाज में हस्तक्षेप नहीं कर रहा. सरकार अपना काम कर रही है और हमारी पार्टी अपना. ’’

ये भी पढ़ें-
सीईसी अरोड़ा बोले आपराधिक इरादे से लगाये ईवीएम पर छेड़छाड़ के आरोप

TMC के पास नहीं है 'कट मनी' के सवाल का नहीं कोई जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 7:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...