'शरद पवार से मुलाकात में प्रशांत किशोर ने शेयर किया बीजेपी को हराने का प्लान'

प्रशांत किशोर और शरद पवार की मुलाकात को लेकर अटकलों को दौर जारी है. (फ़ाइल फोटो)

शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाकात के दौरान प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने बताया कि देश में करीब 400 लोकसभा सीटें ऐसी हैं जहां पर क्षेत्रीय दलों के सामने भाजपा कमजोर पड़ती दिखाई पड़ती है. गैरभाजपाई सीटों पर क्षेत्रीय दल बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं.

  • Share this:
    मुंबई. राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) की मुलाकात ने राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज कर दी है. ऐसी खबर आ रही है कि शरद पवार ने प्रशांत किशोर के साथ मिलकर राष्‍ट्रीय स्‍तर पर भाजपा (BJP) को रोकने के लिए कोई प्‍लान तैयार किया है. इस संबंध में एनसीपी प्रवक्‍ता व अल्‍पसंख्‍यक विकास मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा है कि एनसीपी ने प्रशांत किशोर को अपना चुनावी रणनीतिकार नहीं बनाया है लेकिन भाजपा को राष्‍ट्रीय स्‍तर पर रोकने की रणनीति जरूर तैयार की गई है.

    शरद पवार से मुलाकात के दौरान प्रशांत किशोर ने बताया कि देश में करीब 400 लोकसभा सीटें ऐसी हैं जहां पर क्षेत्रीय दलों के सामने भाजपा कमजोर पड़ती दिखाई पड़ती है. गैरभाजपाई सीटों पर क्षेत्रीय दल बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं. ऐसे में अगर सभी क्षेत्रीय दलों को एकजुट कर लिया जाए तो लोकसभा चुनावों में भाजपा को हराना काफी आसान हो जाएगा. उन्‍होंने कहा कि पिछले कुछ चुनावों में कांग्रेस के प्रदर्शन को देकर अंदाजा लगाया जा सकता है कांग्रेस ऐसी स्थिति में नहीं है जो अकेले भाजपा को चुनौती दे सके. ऐसे समय में क्षेत्रीय पार्टियों को भाजपा के खिलाफ खड़ा करना होगा.

    इसे भी पढ़ें :- शरद पवार से क्यों मिले प्रशांत किशोर? भतीजे अजित ने बताया सबकुछ

    राष्ट्रीय स्तर पर यदि क्षेत्रीय दलों को मिलाकर कोई मोर्चा तैयार किया जाता है तो भाजपा को चुनौती देना काफी आसान हो जाएगा. इसके लिए सबसे पहले ऐसे चेहरे का चुनाव करना होगा जो सामूहिक मोर्चे का नेतृत्‍व कर सके और सभी दल उसके साथ एक साथ खड़े हों.

    इसे भी पढ़ें :- आखिर शरद पवार से क्यों की मुलाकात? प्रशांत किशोर ने बताई बात

    प्रशांत किशोर ने कहा कि अगर साल 2024 में होने वाला लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी बनाम राहुल गांधी हुआ तो बीजेपी को हराना बेहद मुश्किल होगा. ऐसे समय में जरूरत है कि पार्टी विशेष को ध्‍यान में न रखते हुए सभी दल एक ऐसा नेता चुनें तो बीजेपी को सीधे लोकसभा चुनाव में टक्‍कर दे सके. उन्‍होंने बताया कि कम पढ़े लिखे क्षेत्रों की सीटों और एससी-एसटी के लिए आरक्षित सीटों पर बीजेपी काफी ताकतवर है. इन सीटों पर हर बार बीजेपी अपनी पूरी ताकत लगाती है जिसका परिणाम भी देखने को मिलता है. कांग्रेस इन सभी जगहों पर कमजोर पड़ जाती है. ऐसे में क्षेत्रीय दल सीधे बीजेपी को टक्‍कर दे सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.