Home /News /nation /

prashant kishor said congress will learn how to be in opposition

कांग्रेस को प्रशांत किशोर की नसीहत, बोले- विपक्षी दलों की तरह व्यवहार करना सीखें

प्रशांत किशोर ने कहा है कि अगले 20-30 वर्षों के लिए, भारतीय राजनीति कम से कम भाजपा के इर्द-गिर्द घूमेगी. फाइल फोटो

प्रशांत किशोर ने कहा है कि अगले 20-30 वर्षों के लिए, भारतीय राजनीति कम से कम भाजपा के इर्द-गिर्द घूमेगी. फाइल फोटो

Prashant Kishor News: कांग्रेस की कार्यशैली के सवाल पर जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा- कांग्रेस को विपक्ष की राजनीति करने और विपक्ष में रहने का तरीका सीखने की जरूरत है. कांग्रेस पार्टी के नेताओं को लगता है कि सरकार के कामकाज से तंग होकर लोग खुद ही उनको वोट देंगे.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. भारतीय राजनीति के रणनीतिकार कहे जाने वाले प्रशांत किशोर ने कहा है कि अगले 20-30 वर्षों के लिए भारतीय राजनीति कम से कम भाजपा के इर्द-गिर्द घूमेगी, और वह इस बात पर विश्वास नहीं करते हैं कि भाजपा अपने आप घट जाएगी. एक कार्यक्रम में बोलते हुए प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को विपक्ष में रहने और विपक्षी दल की तरह व्यवहार करने की सलाह दी. इंडियन एक्सप्रेस के ई-अड्डा कार्यक्रम में प्रशांत किशोर ने देश की राजनीति में ध्रुवीकरण और कांग्रेस से हुई बातचीत को भी साझा किया. हाल ही में कांग्रेस पार्टी के साथ हुई बातचीत और कांग्रेस को कैसे पुनर्जीवित किया जाए, इस पर प्रशांत किशोर ने कहा कि विपक्ष को ‘कहानी कहने और बने रहने की कोशिश’ करनी चाहिए न कि चेहरों की चिंता करनी  चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘यदि आपके पास कहानी है और आप इसे जारी रखते हैं तो इससे चेहरे उभरने की संभावना अधिक है.’ कांग्रेस की कार्यशैली के सवाल पर जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा, ‘कांग्रेस को विपक्ष की राजनीति करने और विपक्ष में रहने का तरीका सीखने की जरूरत है. कांग्रेस पार्टी के नेताओं को लगता है कि सरकार के कामकाज से तंग आकर लोग खुद ही उनको वोट देंगे और वो सरकार में आ जाएंगे तो ये सोच ठीक नहीं है.’ प्रशांत किशोर ने ये भी कहा कि अगर कोई भी एक दल सोचता है कि वह भाजपा को हरा देगा तो यह गलत है. भाजपा से फिलहाल कोई एक भी दल मुकाबला नहीं कर पाएगा. इसलिए मैं कहता हूं कि अगर एक मजबूत गठजोड़ बनाकर भाजपा को चुनौती नहीं दी गई तो आने वाला एक लंबा वक्त भाजपा का हो सकता है.

‘कांग्रेस को इस मानसिकता से बाहर आने की जरूरत की वो अब सत्ता में नहीं हैं’
कांग्रेस पर प्रशांत किशोर ने  कहा कि पार्टी का इस मानसिकता से बाहर आना बाकी है कि वह अभी सत्ता में नहीं है. उदाहरण के लिए उन्होंने कहा, ‘सत्ता में एक पार्टी विपक्ष में होने की तुलना में अधिक मीडिया कवरेज प्राप्त कर सकती है. कांग्रेस आज सड़कों पर उतरती है, वे कुछ करते हैं, और उन्हें मीडिया का समान ध्यान या आकर्षण नहीं मिलता है. उनकी स्वाभाविक प्रतिक्रिया यह है कि हम कुछ भी कैसे करें क्योंकि मीडिया हमें कवर नहीं करता है. उन्होंने हमें (बाहर) पूरी तरह से खाली कर दिया. यह एक सत्तारूढ़ दल की मानसिकता को दर्शाता है, जो अभी तक एक विपक्षी दल होने की स्थिति में नहीं आया है.’

शाहीन बाग और किसान आंदोलन
इसके अलावा प्रशांत किशोर ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस किसी स्थिति पर प्रतिक्रिया करती है, उसकी विचार प्रक्रिया में मुझे यही मूलभूत समस्या दिखाई देती है. सलाह देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा, ‘शाहीन बाग को देखिए, किसानों के विरोध को देखिए. बहुत से लोगों ने कहा ‘चेहरा कहाँ है? संगठन कहाँ है, मीडिया का समर्थन कहाँ है? कुछ लोग एक साथ आए और एक कारण के लिए बैठ गए और तब तक बैठे रहे जब तक लोगों ने ध्यान नहीं दिया और उस हठ को सरकार ने नोटिस किया और दोनों ही मामलों में, एक कदम पीछे हट गए.’

‘अगले 20 से 30 साल देश की राजनीति भाजपा के इर्द-गिर्द घूमेगी’
पीके ने कहा, यह एक वास्तविकता है कि भाजपा आने वाले दशकों तक एक ‘विजयी चुनावी दल’ बनी रहेगी. एक बार जब आप भारत के स्तर पर 30 प्रतिशत से अधिक वोट हासिल कर लेते हैं, तो कोई भी आपको दूर नहीं कर सकता. यह कोई ऐसी चीज नहीं है जो अपने आप नीचे आ जाएगी. उन्होंने कहा, ‘इसका मतलब यह नहीं है कि वे हर चुनाव जीतना जारी रखेंगे. इसका मतलब यह है कि, पहले 40-50 वर्षों की तरह, भारत में राजनीति (घूमती हुई) कांग्रेस के इर्द-गिर्द या तो आप कांग्रेस के साथ थे या कांग्रेस के विरोध में, अगले 20-30 वर्षों में भारतीय राजनीति को मैं भाजपा के इर्द-गिर्द घूमता देखता हूं. आप भाजपा के साथ हैं या इसके विरोध में हैं.’

Tags: BJP, Congress, Prashant Kishor, Shaheen Bagh

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर