कांग्रेस में शामिल होंगे प्रशांत किशोर? राहुल-सोनिया संग मुलाकात के बाद अटकलों का बाज़ार गर्म

रणनीतिकार के तौर पर प्रशांत किशोर का करियर काफी शानदार रहा है. (फाइल फोटो)

Prashant Kishor Update: सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि प्रशांत किशोर कांग्रेस (Congress) में शामिल हो सकते हैं. उन्होंने एक दिन पहले ही तीनों गांधी- राहुल, प्रियंका, सोनिया से सांसद के आवास पर मुलाकात थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 (UP Assembly Election) के बाद कांग्रेस से रूठे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब पार्टी में शामिल हो सकते हैं. इस बात के संकेत हाल ही में सामने आई कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में मिले हैं. किशोर ने बीते मंगलवार को ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi), प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) और पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात की थी. कयास लगाए जा रहे थे कि ये मुलाकात 2024 के लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) को लेकर हो सकती है.

    एनडीटीवी की एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि प्रशांत किशोर कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. उन्होंने एक दिन पहले ही तीनों गांधी- राहुल, प्रियंका, सोनिया से सांसद के आवास पर मुलाकात की थी. बीती मई में संपन्न हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस के साथ काम करने वाले किशोर ने रणनीतिकार के तौर पर अपने काम पर विराम लगाने की बात कही थी.

    एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा था, 'मैं जो कर रहा हूं उसे जारी नहीं रखना चाहता. मैंने पर्याप्त काम कर लिया है. अब मेरे लिए कुछ देर रुकने और जीवन में कुछ अलग करने का वक्त आ गया है. मैं यह जगह छोड़ना चाहता हूं.' राजनेता बनने के सवाल पर उन्होंने खुद को असफल नेता बताया था. रणनीतिकार के तौर पर किशोर का करियर काफी शानदार रहा है. पश्चिम बंगाल चुनाव के दौरान भी उन्होंने दावा किया था कि भारतीय जनता पार्टी राज्य में 100 सीटें नहीं जीत पाएगी. उन्होंने तमिलनाडु में मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के साथ भी काम किया था.

    यह भी पढ़ें: शरद पवार होंगे विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार? राहुल-सोनिया गांधी से मुलाकात में प्रशांत किशोर ने रखी बात

    5 साल बाद हुई थी मुलाकात
    2017 के उत्तर प्रदेश चुनाव में कांग्रेस के असफल होने के पांच साल बाद राहुल और किशोर की मुलाकात हुई थी. इस लिहाज से भी बैठक को काफी अहम माना जा रहा था. समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में यूपी विधानसभा चुनाव लड़ रही कांग्रेस का 'यूपी के लड़कों' का नारा फेल हो गया था और पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था.

    चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद किशोर ने कहा था यह होना ही था. उन्होंने कांग्रेस के काम करने के तरीके पर सवाल उठाया था. साथ ही पार्टी को जिद्दी और अहंकारी बताया था. किशोर ने यह तक कह दिया था कि भविष्य में कांग्रेस के साथ काम करने का कोई सवाल नहीं उठता, लेकिन वो प्रियंका गांधी के संपर्क में बने रहेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.