Home /News /nation /

भौतिकवादी मानसिकता के बीच आध्यात्मिक विचारधारा को बढ़ावा दे रहे हैं प्रशान्त पांडेय

भौतिकवादी मानसिकता के बीच आध्यात्मिक विचारधारा को बढ़ावा दे रहे हैं प्रशान्त पांडेय

फाइल फोटो...

फाइल फोटो...

प्रशान्त पांडेय का कहना है कि बाहर के कानून व्यवस्था का निर्वहन वही ठीक से कर सकता है जो अपने अंदर एक सयंमित अनुशासन या कानून बना कर चले. अंदर का कानून आपको अध्यात्म सिखाता है इसलिए इस दिशा में हमें ज्यादा से ज्यादा काम करना होगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. वर्तमान समय जितनी तेजी से लोग भौतिकवादिता के ओर बढ़ रहे हैं उस बीच बड़ी संख्या में लोग अध्यात्म का मूल अर्थ न समझते हुए इसे निरर्थक समझ रहे हैं. आज के समाज की विचारधारा को एक अलग ही पथ पर आकर्षित करने का कार्य बहुत ही बड़े स्तर पर किया जा रहा है. यह विचारधारा लोगों के बीच द्वेष, लालच एवं क्रोध की भावना का तेजी से विकास कर रही है. जहां एक तरफ बड़े स्तर पर अध्यात्मिकवाद को दबाने की कोशिश की जाती रही है ऐसे समय में प्रशान्त पांडेय जैसे लोग पूरी निष्ठा के साथ खड़े हो रहे हैं और आध्यात्मिक विचारधारा को नई ऊर्जा और दिशा दे रहे हैं.

    प्रशान्त पांडेय का कहना है कि बाहर के कानून व्यवस्था का निर्वहन वही ठीक से कर सकता है जो अपने अंदर एक सयंमित अनुशासन या कानून बना कर चले. अंदर का कानून आपको अध्यात्म सिखाता है इसलिए इस दिशा में हमें ज्यादा से ज्यादा काम करना होगा. इस दिशा में बहुत से लोग अपने अपने स्तर पर कार्य कर रहे है और यही वजह है कि भौतिकवादिता और अध्यात्मिकवाद के बीच आज भी ऐसे लोगों के वजह से ही संतुलन बना हुआ है.

    उन्होंने कहा कि अध्यात्म के विषय को लोगों के सामने गलत तरीके से आज पेश किया जा रहा है और आध्यात्मिकता को धर्मिकवाद समझा जाने लगता है जबकि ऐसा नहीं है अंतः अनुशासन एवं अंतः क्रियाशीलता ही अध्यात्म की सरल व्याख्या है. भौतिक उन्नति के साथ ही साथ अगर व्यक्ति आध्यात्मिक उन्नति पर भी ध्यान दें तो एक उच्च व्यवस्था बनाई जा सकती है.

    याद रहे अध्यात्म कभी भी भौतिक उन्नति में बाधक नहीं बना सकता है, बल्कि हमेशा से ही इसका सहायक रहा है. उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति या समाज इन दोनों में बीच भेद उत्पन्न करता है तो यह महज एक कूटनीति का हिस्सा है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर