निजामुद्दीन में प्रार्थना कर नकवी बोले- महामारी में धार्मिक स्थलों पर आत्म अनुशासन, सतर्कता बरती गई

निजामुद्दीन में प्रार्थना कर नकवी बोले- महामारी में धार्मिक स्थलों पर आत्म अनुशासन, सतर्कता बरती गई
केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी. (फाइल फोटो)

हजरत निजामुद्दीन दरगाह (Hazrat Nizamuddin Aulia) में प्रार्थना के बाद नकवी ने कहा, “देश के लोगों ने संयम, सजगता, संवेदनशीलता का प्रदर्शन किया और महामारी (pandemic) को रोकने के लिये ऐहतियात बरतते हुए सामाजिक दूरी के दिशानिर्देशों (Social Distancing Guidelines) का पालन कर सभी त्योहार मनाएं.”

  • Share this:
नई दिल्ली. अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Minority Affairs Minister Mukhtar Abbas Naqvi) ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के दौरान भारत में धार्मिक स्थलों (Religious Places) पर बेहद आत्म अनुशासन और सतर्कता (alertness) बरती गई और इसने समूची दुनिया के लिये उदाहरण पेश किया. उन्होंने कहा कि दुनिया के लगभग सभी धर्मों (all religions) के लोग भारत में रहते हैं और कोरोना वायरस संकट के दौरान विभिन्न त्योहार और धार्मिक आयोजन (various festivals and religious events) भी हुए.

हजरत निजामुद्दीन दरगाह (Hazrat Nizamuddin Aulia) में प्रार्थना के बाद नकवी ने कहा, “देश के लोगों ने संयम, सजगता, संवेदनशीलता का प्रदर्शन किया और महामारी (pandemic) को रोकने के लिये ऐहतियात बरतते हुए सामाजिक दूरी के दिशानिर्देशों (Social Distancing Guidelines) का पालन कर सभी त्योहार मनाएं.” नकवी ने दरगाह में लोगों के अच्छे स्वास्थ्य (good health) के लिये कामना की. करीब पांच महीने बाद दक्षिण दिल्ली (South Delhi) स्थित इस दरगाह को रविवार को खोला गया लेकिन कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) की वजह से यहां शाम को आयोजित होने वाली कव्वाली फिलहाल नहीं होगी.

कुछ राज्यों में धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत अभी नहीं दी गई है
मंत्री ने कहा कि सभी धार्मिक और सामाजिक संगठनों ने महामारी के दौरान बेहद आत्म संयम, आत्म अनुशासन और सजगता दिखाई. उन्होंने कहा कि भारत में धार्मिक स्थलों पर भी बेहद आत्म संयम, आत्म अनुशासन और सतर्कता देखने को मिली जिसने दुनिया के सामने एक उदाहरण पेश किया है.
कई धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है जबकि कुछ राज्यों में धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत अभी नहीं दी गई है.



यह भी पढ़ें: ईरानी रक्षा मंत्री से मिले राजनाथ सिंह, चीन समेत इन मुद्दों पर हुई चर्चा

नकवी ने कहा, “हमें इस स्थिति में घबराने की नहीं ऐहतियात बरतने की जरूरत है. हमें ‘जान भी, जहान भी’ के संकल्प के साथ संयम, सावधानी और संवेदनशीलता सुनिश्चित करते हुए जिंदगी के सफर को आगे बढ़ाना है.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज