Home /News /nation /

Precaution Dose: पहली दो डोज में दी जा चुकी वैक्‍सीन ही होगी तीसरी खुराक

Precaution Dose: पहली दो डोज में दी जा चुकी वैक्‍सीन ही होगी तीसरी खुराक

10 जनवरी से स्वास्थ्य व अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों और 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों को दी जाएगी एहतियाती खुराक. .

10 जनवरी से स्वास्थ्य व अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों और 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों को दी जाएगी एहतियाती खुराक. .

India Coronavirus Precaution Dose: सरकारी सूत्रों के मुताबिक 10 जनवरी से स्वास्थ्य व अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों (Health and Frontline Workers ), अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित 60 साल से ऊपर के लोगों को एहतियात के तौर पर दी जाने वाली वैक्‍सीन (Vaccine) वही होगी जिसकी उन्‍होंने पहली और दूसरी डोज ले रखी है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के खतरे के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब से कोविड वैक्सीन की ‘एहतियाती खुराक’ (Precaution Dose) दिए जाने की बात कही है, तब से इस बात को लेकर चर्चा जोरों पर है कि वैक्‍सीन (Vaccine) की तीसरी डोज कौन सी होगी? देश की शीर्ष तकनीकी संस्‍था नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्‍युनाइजेशन (NTAGI) के विशेषज्ञों ने कहा है कि कोरोना वैक्‍सीन की बूस्‍टर डोज यानी तीसरी डोज पहली और दूसरी डोज की वैक्‍सीन से अलग वैक्‍सीन की होनी चाहिए. जबकि सरकारी सूत्रों के मुताबिक 10 जनवरी से स्वास्थ्य व अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों, अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित 60 साल से ऊपर के लोगों को एहतियात के तौर पर दी जाने वाली वैक्‍सीन वही होगी जिसकी उन्‍होंने पहली और दूसरी डोज ले रखी है.

    बता दें कि कोरोना की तीसरी डोज लेने वालों में शामिल स्वास्थ्य व अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों की संख्‍या करीब 3 करोड़ है जबकि 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों की संख्‍या भी इसी के आसपास दिखाई पड़ती है. इन सभी लोगों को जिस कंपनी की पहली और दूसरी वैक्‍सीन लगाई गई है उसी कंपनी की तीसरी या फिर एहतियारी डोज लगाई जाएगी.

    विशेषज्ञों के मूताबिक दूसरी और तीसरी (एहतियाती डोज) के बीच नौ से 12 महीने का अंतराल होना जरूरी है. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक भारत के टीकाकरण कार्यक्रम में वर्तमान में उपयोग किए जा रहे टीकों– कोविशील्ड और कोवैक्सिन के लिए अंतराल की बारीकियों पर काम किया जा रहा है और इस पर अंतिम निर्णय जल्द ही लिया जाएगा.

    इसे भी पढ़ें :- अगर बूस्‍टर डोज दी जाए तो क्‍या ये पहली और दूसरी डोज की वैक्‍सीन से अलग हो? जानिये शीर्ष संस्‍था का क्‍या है मानना

    गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार रात राष्ट्र के नाम एक संबोधन में घोषणा करते हुए कहा था कि 15-18 वर्ष के किशोरों के लिए कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण तीन जनवरी से शुरू होगा, जबकि स्वास्थ्य देखभाल और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए ‘एहतियाती खुराक’ 10 जनवरी से दी जाएगी.यह फैसला कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप से जुड़े कोविड मामले बढ़ने के बीच आया है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एहतियाती खुराक अगले साल 10 जनवरी से 60 वर्ष से अधिक उम्र के और अन्य गंभीर बीमारी वाले नागरिकों को उनके डॉक्टर की सलाह पर दी जाएगी.

    इसे भी पढ़ें :- क्या है कोविड-19 का ‘प्रीकॉशन डोज’ और किस वैक्सीन का होगा इस्तेमाल? जानें सारी अहम बातें

    61 प्रतिशत आबादी को टीके की दोनों खुराकें दी जा चुकी हैं
    एक सूत्र ने कहा, ‘टीकाकरण विभाग और टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) द्वारा इन विषयों पर चर्चा करने के साथ कोविड टीके की दूसरी और एहतियाती खुराक के बीच का अंतर नौ से 12 महीने होने की संभावना है.’ भारत की 61 प्रतिशत से अधिक वयस्क आबादी को टीके की दोनों खुराकें मिल चुकी हैं.

    Tags: Booster Dose, Corona, Corona 19, Covid vaccine, Narendra modi, Omicron, Omicron Alert, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर