Home /News /nation /

गर्भवती हथिनी को खिला दिया विस्फोटक भरा अनानास, 3 दिन तक पानी में खड़ी करती रही मौत का इंतजार

गर्भवती हथिनी को खिला दिया विस्फोटक भरा अनानास, 3 दिन तक पानी में खड़ी करती रही मौत का इंतजार

दर्द दे तड़पती हथिनी (साभार: मोहन कृष्णन के फेसबुक पन्ने से)

दर्द दे तड़पती हथिनी (साभार: मोहन कृष्णन के फेसबुक पन्ने से)

केरल के मलप्पुरम जिले में कुछ लोगों ने मिलकर एक गर्भवती हथिनी को विस्फोटक भरा अनानास खिला दिया, जिससे उसके जबड़े बुरी तरह से फट गए और दांत टूट गए.

    मलप्पुरम. उत्तरी केरल के मलप्पुरम जिले से इंसानियत को शर्मसार करने और बेहद ही चौंकाने वाली एक घटना सामने आई है. यहां पर कुछ लोगों ने मिलकर एक गर्भवती हथिनी को विस्फोटक भरा अनानास खिला दिया, जिससे उसकी ऐसी स्थिति हो गई कि वह मरने के लिए नदी में जा खड़ी हुई. यह मामला गुरुवार का है, जिसमें बुरी तरह से घायल हथिनी की बीते शनिवार को मौत हो गई. जानवर बहुत जल्द ही इंसानों पर भरोसा कर लेते हैं, लेकिन ऐसे में इंसान उनके साथ क्या करते हैं. इस घटना ने जानवरों की सुरक्षा पर भी प्रश्नचिन्ह लगा दिया है.

    खाने की तलाश में आई थी शहर की तरफ
    दरअसल ये हथिनी खाने की तलाश में भटकते हुए 25 मई को जंगल से पास के गांव में आ गई थी. गर्भवती होने के कारण उसे अपने बच्चे के लिए खाने की जरूरत थी, उसी समय कुछ लोगों ने उसे अनानास खिला दिया. खाते ही उसके मुंह में विस्फोट हुआ, जिस कारण उसका जबड़ा बुरी तरह से फट गया और उसके दांत भी टूट गए. दर्द से तड़प रही हथिनी को जब कुछ समझ नहीं आया तो वह वेलियार नदी में जा खड़ी हुई. अपने दर्द को कम करने के लिए वह पूरे समय बस बार-बार पानी पीती रही.

    (साभार:मोहन कृष्णन के फेसबुक पन्ने से)


    तीन दिन खड़ी रही नदी में
    हथिनी का दर्द इतना था कि वह तीन दिन तक नदी में सूंढ़ डालकर खड़ी रही. आखिर वह जिंदगी की जंग हार ही गई और उसकी मौत हो गई. वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार इसकी उम्र 14-15 साल थी. अधिकारियों ने बताया कि समय पर उस तक मदद नहीं पहुंचाई जा सकी. हथिनी की जानकारी मिलने पर वन विभाग के कर्मचारी उसे रेस्क्यू करने पहुंचे. लेकिन वो पानी से बाहर नहीं आई और शनिवार को उसकी मौत हो गई.

    (साभार:मोहन कृष्णन के फेसबुक पन्ने से)


    फ़ेसबुक पोस्ट से घटना सामने आई
    वन अधिकारी मोहन कृष्णन्न ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट कर बताया कि यह मादा हाथी खाने की तलाश में भटकते हुए जंगल से पास के गांव में आ गई थी. उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि घायल होने के बाद हथिनी एक गांव से भागते हुए निकली लेकिन उसने किसी को भी चोट नहीं पहुंचाई.

    लिखा भावनात्मक पोस्ट
    मोहन कृष्णन्न ने एक बहुत ही भावनात्मक पोस्ट लिखा, वो गंभीर रूप से घायल थी लेकिन इसके बावजूद भी उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया और ना हमला किया. इंसान पर विश्वास करने की उसे ये सजा मिली, वह भलाई से भरी हुई थी. इन तस्वीरों में उसका दर्द क़ैद नहीं हुआ.

    ये भी पढ़ें : अजगर ने चंगुल में जकड़ लिया हिरण, शख्स ने छड़ी से बचाई जान- Video वायरल

    Tags: Elephants are reaching the village, Kerala, Viral news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर