अपना शहर चुनें

States

बस कुछ महीने बाद भारत में प्रेग्‍नेंट महिलाओं को मिलेगा कोविड का टीका, वैक्‍सीन पर रिसर्च हुआ शुरू 

भारत में जल्‍द ही प्रेग्‍नेंट महिलाओं को भी कोविड का टीका लगाया जाएगा. इस पर रिसर्च शुरू कर दिया गया है.
भारत में जल्‍द ही प्रेग्‍नेंट महिलाओं को भी कोविड का टीका लगाया जाएगा. इस पर रिसर्च शुरू कर दिया गया है.

अभी तक कोविड वैक्‍सीन के ट्रायल से दूर रहीं गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को आने वाले कुछ महीनों में कोरोना का टीका मिल सकेगा. भारत में वैक्‍सीन बनाने वाली कंपनियां इस पर रिसर्च कर रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 12:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पूरे विश्‍व में कोरोना के खिलाफ चल रहे अभियान और वैक्‍सीनेशन से अभी तक गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को दूर रखा गया है. इसकी मुख्‍य वजह है कि भारत के अलावा अन्‍य देशों में बनाई गई वैक्‍सीन का न तो परीक्षण ही गर्भवती महिलाओं (Pregnant women) पर किया गया और न ही गर्भवती महिला के जननांगों पर पड़ने वाले इसके प्रभाव को देखा गया था. लेकिन भारत में गर्भवती होने वाली महिलाओं को अब जल्‍द ही कोविड का टीका (Covid Vaccine) मिल सकेगा. इसके लिए भारत में रिसर्च शुरू कर दिया गया है.

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की टास्‍क फोर्स ऑपरेशन ग्रुप फॉर कोविड के हेड डॉ. एन के अरोड़ा ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को कोविड से बचाने के लिए भारत सरकार काफी तेजी से काम कर रही है. इसके लिए मिनिस्‍ट्री ऑफ साइंस एंड टैक्‍नोलॉजी के डिपार्टमेंट ऑफ बायोटैक्‍नोलॉजी के अंतर्गत बन रहीं वैक्‍सीनों पर रिसर्च शुरू करने के लिए कहा गया है. अभी तक भारत में इमरजैंसी इस्‍तेमाल में लाई जा रहीं भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन और सीरम इंस्‍टीट्यूट की कोविशील्‍ड वैक्‍सीनों के अलावा नई बन रहीं वैक्‍सीनों पर रिसर्च शुरू कर दिया है.

डॉ. अरोड़ा कहते हैं कि कोवैक्‍सीन (Covaxin) और कोविशील्‍ड (Covishield) के किसी भी ट्रायल में अभी तक प्रेग्‍नेंट और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को शामिल नहीं किया गया है. लेकिन भारत में फंडिंग ग्रुप्‍स और साइंटिफिक एजेंसीज अब वैक्‍सीन के रिसर्च ग्रुप्‍स से कह रही हैं कि वे वैक्सीन की एनिमल स्‍टडीज में रिप्रोडक्टिव टॉक्सिसिटी स्‍टडी यानि कि जननांग में पड़ने वाले टॉक्सिक प्रभाव को शामिल करें. ऐसे में पहले से बन चुकी कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड के अलावा नई बन रहीं सभी वैक्‍सीन के रिसर्च ग्रुप्‍स ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है. संभावना जताई जा रही है कि आने वाले चार महीने में प्रेग्‍नेंट महिलाओं (Pregnant women) को लेकर यह अध्‍ययन पूरा हो जाएगा और इन्‍हें भी कोविड का टीका दिया जा सकेगा.



coronavaccine भारत में कोरोना की करीब 25 वैक्‍सीनों पर काम चल रहा है. (File)
भारत में कोरोना की करीब 25 वैक्‍सीनों पर काम चल रहा है. (File)

चूंकि विश्‍व में कई वैक्‍सीन बनी हैं और कई जगहों पर वैक्‍सीनों पर काम भी चल रहा है, ऐसे में संभावना है कि प्रेग्‍नेंट महिलाओं पर भी वहां रिसर्च किया जा रहा हो. हालांकि भारत में जितनी तेजी से इस पर काम चल रहा है, उससे उम्‍मीद जताई जा रही है कि जल्‍द ही इस संबंध में हमारे पास रिसर्च परिणाम आ जाएगा और यहां सबसे पहले प्रेग्‍नेंट महिलाओं को कोविड की वैक्‍सीन दी जा सकेगी. यह न केवल भारत की मांओं और उनके बच्‍चों  के लिए खुशखबरी है बल्कि विश्‍व की गर्भवती महिलाओं के लिए भी बेहतर कदम होगा.

हर साल तीन करोड़ महिलाएं होती हैं गर्भवती

भारत में हर साल प्रेग्‍नेंट होने वाली महिलाओं की संख्‍या किसी भी देश से काफी ज्‍यादा है. यहां हर साल तीन करोड़ महिलाएं गर्भवती होती हैं. हालांकि जननी सुरक्षा योजना राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के मुताबिक गर्भावस्‍था और बच्‍चे के जन्‍म के दौरान करीब 56 हजार महिलाओं की सालाना मौत हो जाती है. इतना ही नहीं करीब 13 लाख नवजात बच्‍चों की भी सालाना मौत हो जाती है. ऐसे में गर्भवती महिलाओं की सुरक्षा केंद्र और राज्‍य सरकारों के लिए चिंता का विषय है. यही वजह है कि अब कोरोना से गर्भवती महिलाओं और उनके नवजातों को बचाने की एक और चुनौती सामने आ गई है.

pregnancy भारत में हर साल तीन करोड़ महिलाएं प्रेग्‍नेंट होती हैं.
भारत में हर साल तीन करोड़ महिलाएं प्रेग्‍नेंट होती हैं.


भारत में बन रहीं 25 कोरोना वैक्‍सीन

डॉ. अरोड़ा बताते हैं कि देशभर में  कोरोना वायरस के खिलाफ करीब 25 वैक्‍सीन  पर  काम  चल रहा है. जिनमें से दो वैक्‍सीन अभी तक आ चुकी हैं. साथ ही करीब आठ वैक्‍सीन साल 2021 के अंत तक आ जाएंगी. इतना ही नहीं बाकी वैक्‍सीन भी जल्‍द आने  की संभावना है.

बता दें कि भारत में भी गर्भवती महिलाओं में कोविड का प्रभाव देखा गया था. यहां भी प्रेग्‍नेंट महिलाएं कोविड की चपेट में आई थीं. इस दौरान दर्जनों ऐसे मामले हुए थे जब कोविड प्रभाव‍ित महिलाओं ने बच्‍चों को जन्‍म दिया था. हालांकि अब जल्‍द ही इनको भी वैक्‍सीन मिलने का रास्‍ता साफ हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज