पूर्वोत्‍तर में बाढ़ से 16 लोगों की मौत, हालात पर काबू पाने के लिए अमित शाह ने दिए ये निर्देश

इस बैठक में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन दल ने जानकारी दी की फिलहाल 73 टीमें तैनात कर दी गई हैं. इसके साथ ही 50 अन्य टीमें रिजर्व में रखी गई हैं.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 9:00 PM IST
पूर्वोत्‍तर में बाढ़ से 16 लोगों की मौत, हालात पर काबू पाने के लिए अमित शाह ने दिए ये निर्देश
गृहमंत्री की मौजूदगी में बैठक (तस्वीर- twitter.com/AmitShah)
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 9:00 PM IST
पूर्वोत्‍तर में बाढ़ और भूस्‍खलन से कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई है. जबकि उत्‍तर प्रदेश, बिहार और असम समेत अन्‍य राज्‍यों के कई इलाकों में अभी भी मुसलाधार बारिश जारी है. केवल असम के 25 जिलों के लगभग 14 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. जबकि अरूणाचल प्रदेश में 2, मेघायल में 5 और मिजोरम में 2 लोगों की मौत की खबर भी सामने आ रही है. बिगड़ती स्थिति को देखते हुए राज्‍य और केंद्र सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. बाढ़ के मौजूदा हालात पर शनिवार को गृहमंत्री अमित शाह ने उच्च स्तरीय बैठक की.

इस बैठक में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन दल ने जानकारी दी की फिलहाल 73 टीमें तैनात कर दी गई हैं. इसके साथ ही 50 अन्य टीमें रिजर्व में रखी गई हैं.



बैठक में गृहमंत्री के साथ-साथ गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय और गृह सचिव मौजूद थे. सरकार ने आश्वासन दिया है कि जो प्रदेश बाढ़ से प्रभावित है उन्हें हर संभव मदद दी जाएगी. बैठक में राहत और बचाव कार्य में तैनात, एनडीआरएफ समेत अन्य एजेंसियों को विस्तृत योजना बनाने का निर्देश दिया गया है.

बिहार : कई जिलों पर बाढ़ का खतरा

बिहार के सभी जिलों में पिछले एक हफ्ते से भारी बारिश हो रही है, जिस कारण कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. बारिश कोसी क्षेत्र, सीमांचल और चम्पारण में तबाही लेकर आ रही है. कोसी का जलस्तर एक बार फिर से उफान पर है और इसमें लगातार वृद्धि हो रही है.

यह भी पढ़ें:  सीतामढ़ी: बाढ़ प्रभावित इलाकों में धारा 144 लागू

लगातार बारिश के चलते नेपाल से निकलने वाली नदियां उफान पर हैं, जिससे अररिया जिले के चार प्रखंड बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं. भारी बारिश के चलते कई स्थानों पर रेल परिचालन बाधित होना भी शुरू हो चुका है.
Loading...

असम में स्थिति गंभीर 

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की बाढ़ रिपोर्ट के अनुसार, धेमाजी जिले के सिसिबरगाँव में एक व्यक्ति की मौत हो गई. इसके साथ, इस साल राज्य में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में जान गंवाने वाले व्यक्तियों की कुल संख्या सात हो गई है.

एएसडीएमए की रिपोर्ट के अनुसार, धेमाजी, लखीमपुर, बिश्वनाथ, सोनितपुर, दरंग, बक्सा, बारपेटा, नलबाड़ी, चिरांग, बोंगाईगांव, कोकराझार, धुबरी, गोलपारा, कामरूप, मोरीगांव, होजई, नागांव, गोलाघाट, मझगांव, गोलाघाट, मझगांवा. शिवसागर, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया, काचा और पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिले में 14.06 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. बारपेटा 5.22 लाख लोग बुरी तरह से पीड़ित है.

यूपी में 15 की मौत

उत्तर प्रदेश में पिछले तीन दिनों में राज्य के 14 जिलों में करीब 15 लोगों की मौत हो गई. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार जुलाई 9 से 12 के बीच वर्षा जनित हादसों में करीब 133 इमारतें ढह गईं. वहीं करीब 23 जानवरों की भी इसमें जान चली गई.

यह भी पढ़ें: असम में बिगड़ सकती है बाढ़ की हालत, भारी बारिश का अलर्ट जारी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...