लाइव टीवी

प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी के बाहर छात्रों का प्रदर्शन, कुलपति को रहना पड़ा घंटों चैंबर में कैद

भाषा
Updated: February 4, 2020, 11:03 AM IST
प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी के बाहर छात्रों का प्रदर्शन, कुलपति को रहना पड़ा घंटों चैंबर में कैद
प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी (फाइल-फोटो)

छात्रों ने हॉस्टल में मरम्मत कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने और बर्खास्त हॉस्टल कर्मचारियों को वापस बुलाने की मांग कर कार्यालय के बाहर धरना दिया. धरने के कारण प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी की कुलपति अनुराधा लोहिया घंटों चैंबर में कैद रहना पड़ा.

  • Share this:
कोलकाता. कोलकाता के प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी (Presidency University) की कुलपति अनुराधा लोहिया (Vice Chancellor Anuradha Lohia) को छात्रों के प्रदर्शन के कारण घंटों अपने चैंबर में ही कैद रहना पड़ा. इन छात्रों ने हॉस्टल में मरम्मत कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने और बर्खास्त हॉस्टल कर्मचारियों को वापस बुलाने की मांग कर कार्यालय के बाहर धरना दिया. धरने के कारण कुलपति लोहिया बाहर नहीं निकल पाई, अपने चैंबर में ही कैद हो गई. छात्रों ने सोमवार दोपहर 2 बजे अपना प्रदर्शन शुरू किया था.

प्रदर्शन कर रहे छात्र 130 साल पुराने हिंदू हॉस्टल के पांच वार्डों में से तीन में रिपेयरिंग कार्य, बिना किसी देरी के पूरा करने और आठ बर्खास्त हॉस्टल कर्मचारियों को तुरन्त वापस बुलाने की मांग कर रहे हैं. यूनिवर्सिटी के एक अधिकारी ने बताया कि लोहिया यूनिवर्सिटी के कुछ अन्य अधिकारियों के साथ वीसी कक्ष में हैं.

इंडिपेंडेंट कंसोलिडेशन (आईसी) और एसएफआई से जुड़े छात्र हाथ में तख्तियां लिए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, जिन पर लिखा है 'हम पूरा हिंदू हॉस्टल वापस चाहते हैं' और 'छात्रों और कर्मचारियों के खिलाफ कोई भी कठोर कदम ना उठाएं'.

लोहिया से सम्पर्क करने की कोशिश की गई पर उन्होंने फोन नहीं उठाया. लेकिन एक अधिकारी ने बताया कि वह सही हैं हालांकि काफी समय से अंदर बंद होने के कारण थोड़ी तनाव में हैं. आईसी से जुड़े प्रदर्शनकारी सुभो बिश्वास ने कहा, हम कुलपति मैडम को जाने देंगे लेकिन उससे पहले उन्हें हमें हमारी मांगों पर लिखित आश्वासन देना होगा.

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: शिक्षिका को बांध कर घसीटा और पिटाई करने के बाद मकान में बंद किया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 11:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर