Assembly Banner 2021

राष्ट्रपति कोविंद ने JNU दीक्षांत समारोह में कहा- यहां के छात्रों ने दुनिया भर में अपना असर छोड़ा

राष्ट्रपति ने छात्रों से कहा कि जेएनयू के छात्र के तौर पर आप कई मायनों में विशेषाधिकार प्राप्त करते हैं.  (Photo-Twitter/@rashtrapatibhvn)

राष्ट्रपति ने छात्रों से कहा कि जेएनयू के छात्र के तौर पर आप कई मायनों में विशेषाधिकार प्राप्त करते हैं. (Photo-Twitter/@rashtrapatibhvn)

JNU Convocation: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के चौथे वार्षिक दीक्षांत समारोह को वीडियो संदेश के माध्यम से संबोधित किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2020, 6:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने बुधवार को दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) के दीक्षांत समारोह (Convocation Ceremony) को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संबोधित किया. राष्ट्रपति ने इस मौके पर विश्वविद्यालय की सराहना की और कहा कि यहां के छात्रों ने दुनिया भर में अपना असर छोड़ा है. राष्ट्रपति ने कहा कि मैं जेएनयू (JNU) से जुड़े हर के व्यक्ति को सामाजिक विज्ञान से लेकर तकनीक के क्षेत्र में उच्च मानक स्थापित करने की सराहना करता हूं. राष्ट्रपति ने कहा कि यहां के शिक्षण और रिसर्च दोनों ने ही एकेडमिक्स की दुनिया पर असर छोड़ा है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आगे कहा कि समग्र शिक्षा के संदर्भ की जहां तक बात है तो मुझे बताया गया है कि जेएनयू युवाओं के कौशल विकास और उन्हें रोजगार दिए जाने के उद्देश्य से अध्ययन के नए क्षेत्रों में केंद्र स्थापित करने के लिए कदम उठा रहा है. राष्ट्रपति ने कहा कि यह ज्ञान आधारित उद्यम बनाने में सक्षम होगा और हमारी अर्थव्यवस्था में भी योगदान देगा. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि मेरे लिए यह खुशी की बात है कि जेएनयू को राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद से उच्चतम श्रेणी का ग्रेड मिला है. उन्होंने कहा कि यह भारत सरकार के राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग ढांचे के तहत सभी विश्वविद्यालयों के बीच लगातार नंबर 2 पर है.

ये भी पढ़ें- बंगाल फतह के लिए BJP ने कसी कमर, अमित शाह चुनाव तक हर महीने करेंगे राज्य का दौरा



वित्त मंत्री और विदेश मंत्री रहे हैं जेएनयू के छात्र
राष्ट्रपति ने छात्रों से कहा कि जेएनयू के छात्र के तौर पर आप कई मायनों में विशेषाधिकार प्राप्त करते हैं. आप अत्यधिक विविध छात्रों और संकायों के साथ सबसे विविध और जीवंत बौद्धिक समुदायों में से एक का हिस्सा हैं. जेएनयू ने कई प्रख्यात हस्तियों को तैयार किया है और इसे कुछ महान दिमागों द्वारा निर्देशित किया गया है.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि यह विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए गर्व की बात होनी चाहिए कि भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री एस जयशंकर जेएनयू के पूर्व छात्र रहे हैं.

Youtube Video


राष्ट्रपति ने कहा कि देश और उसके लोगों की सेवा के लिए महात्मा गांधी और बाबासाहेब अंबेडकर के मार्गदर्शन को सभी विश्वविद्यालयों के छात्रों द्वारा पालन किया जाना चाहिए.

राष्ट्रपति ने कहा कि जेएनयू परिसर में स्थापित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा जिसका हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अनावरण किया गया था, वह छात्रों को स्वामीजी द्वारा प्रचारित और प्रचलित सार्वभौमिक आदर्शों की याद दिलाती रहेगी.

राष्ट्रपति ने कहा कि जेएनयू के करीब 80 हजार से ज्यादा पूर्व छात्रों में से कई सिविल सेवा, शिक्षा, राजनीति, सामाजिक कार्य, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, मीडिया और संचार, ललित कला और व्यापार नेतृत्व में अपना योगदान देकर भारत और विदेशों में अपना प्रभाव बना रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज