व्लादिमिर पुतिन बोले-भारत और चीन शुरू कर सकते हैं रूसी कोरोना वैक्सीन का उत्पादन

रूसी राष्ट्रपति पुतिन ये यह बात ब्रिक्स देशों के सम्मेलन में कही है. (फाइल फोटो)
रूसी राष्ट्रपति पुतिन ये यह बात ब्रिक्स देशों के सम्मेलन में कही है. (फाइल फोटो)

इस बात की जानकारी रूस की सरकार न्यूज़ एजेंसी RIA Novosti ने राष्ट्रपति पुतिन भाषण के हवाले से दी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि पुतिन ने BRICS देशों को वैक्सीन रिसर्च सेंटर शुरू करने का प्रस्ताव भी दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 9:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और चीन (India and China) जल्द ही रूस की वैक्सीन Sputnik V का उत्पादन (Production) शुरू कर सकते हैं. इस बात की जानकारी रूस की सरकारी न्यूज़ एजेंसी RIA Novosti ने राष्ट्रपति पुतिन (Vladimir Putin) के भाषण के हवाले से दी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि पुतिन ने BRICS देशों को वैक्सीन रिसर्च सेंटर शुरू करने का प्रस्ताव भी दिया है. पुतिन ने यह बात BRICS वर्चुअल सम्मेलन के दौरान कही है. इस सम्मेलन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी संबोधित किया है.

92 प्रतिशत लोगों पर प्रभावी होने का दावा
गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले स्पूतनिक-V (Sputnik V) वैक्सीन को लेकर रूस ने दावा किया था कि ये 92 प्रतिशत लोगों पर प्रभावी है. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा था कि कोविड-19 के खिलाफ रूस की दो वैक्सीन प्रभावी और सुरक्षित हैं. पुतिन ने कहा कि रूस जल्द ही कोरोना वायरस की तीसरी वैक्सीन को तैयार करने वाला है. उन्होंने यह भी कहा कि टीका संबंधी मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.

पुतिन ने कहा था-हमारे पास कोरोना के दो टीके मौजूद, तीसरा बनाएंगे
शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए पुतिन ने कहा था, 'हमारे पास रूस में दो पंजीकृत टीके हैं और परीक्षण पहले ही पुष्टि कर चुके हैं कि टीके सुरक्षित हैं तथा इनका कोई दुष्प्रभाव नहीं है और ये प्रभावी हैं. तीसरा टीका भी आने वाला है.'





वैक्सीन पर एक्सपर्ट्स ने उठाए थे सवाल
बीते 11 अगस्त को कोविड-19 की वैक्सीन को मंजूरी देने वाला रूस दुनिया का पहला देश बन गया था. यह वैक्सीन अगले साल एक जनवरी से आम लोगों के लिए उपलब्ध होगी. हालांकि इस वैक्सीन को लेकर काफी आलोचनाएं भी हुई हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये वैक्सीन जल्दबाजी में बनाई गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज