Home /News /nation /

Surrogacy Law: किराए की कोख के कारोबार पर रोक लगाएगा नया कानून, राष्‍ट्रपति ने दी मंजूरी

Surrogacy Law: किराए की कोख के कारोबार पर रोक लगाएगा नया कानून, राष्‍ट्रपति ने दी मंजूरी

सेरोगेसी (विनियमन) विधेयक 2019 को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी.

सेरोगेसी (विनियमन) विधेयक 2019 को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी.

Surrogacy (Regulation) Act 2021: बता दें कि सेरोगेसी (विनियमन) विधेयक 2019 (Surrogacy (Regulation) Act 2019) को 17 दिसंबर को राज्यसभा (Rajya Sabha) से पारित करा लिया गया था. उस समय विपक्ष के हंगामे के बीच इसे सदन में ध्‍वनिमत से मंजूरी दे दी गई थी.लोकसभा (लोकसभा) में ये बिल पहले ही पारित हो गया था.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. किराए की कोख या सेरोगेसी (विनियमन) अधिनियम 2021(Surrogacy (Regulation) Act 2021) को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने भी मंजूरी दे दी है. राष्‍ट्रपति की ओर से कानून को मंजूरी मिलने के बाद इसे गजट में प्रकाशित करने के बाद कानून के रूप में लागू कर दिया जाएगा. इस कानून के जरिए सेरोगेसी को वैधानिक मान्यता देने और इसके व्यवसायीकरण को गैरकानूनी बनाने का प्रावधान किया गया है.

    केंद्र सरकार की ओर से लाए गए इस नए कानून से सेरोगेसी के वाणिज्यिक पैमाने पर हो रहे दुरुपयोग पर अंकुश लगेगा. इस नए कानून के जरिए केवल मातृत्व प्राप्त करने के लिए सरोगेसी की अनुमति दी जाएगी. इसके साथ ही इस कानून के जरिए सरोगेट मां को गर्भ की अवधि के दौरान चिकित्सा खर्च और बीमा कवरेज के अलावा कोई और वित्तीय मुआवजा नहीं दिया जा सकेगा. पहले सेरोगेसी के लिए लोग ज्‍यादा से ज्‍यादा खर्च किया करते थे, जिसके कारण सेरोगेसी को आर्थिक लाभ या अन्‍य लाभ के लिए अपनाया जाने लगा था.

    सेरोगेसी की अनुमति तब ही दी जाएगी जब संतान का इच्‍छुक जोड़ा चिकित्‍सा के आधार पर प्रमाणि बांझपन से प्रभावित हो. इस कानून के जरिए बच्चे पैदा करके उसे बेचने, वेश्यावृत्ति कराने और किसी अन्य प्रकार के शोषण पर रोक लगाई जा सकेगी. बता दें कि सेरोगेसी (विनियमन) विधेयक 2019 को 17 दिसंबर को राज्यसभा से पारित करा लिया गया था. उस समय विपक्ष के हंगामे के बीच इसे सदन में ध्‍वनिमत से मंजूरी दे दी गई थी.लोकसभा में ये बिल पहले ही पारित हो गया था.

    इसे भी पढ़ें :- क्या होती है सरोगेसी, जानें किन स्वास्थ्य समस्याओ में है बेहतर विकल्प

    क्या है सेरोगेसी ?
    सेरोगेसी बच्चे पैदा करने की एक नई तकनीक है. इस तकनीक में माता या पिता किसी की भी शारीरिक कमजोरी की वजह से यदि वे बच्चा पैदा करने में परेशानियां हो रही हैं तो वे इसका सहारा ले सकते हैं. सेरोगेसी में किसी महिला की कोख को किराये पर लिया जाता है. कोख करिए पर लेने के बाद आईवीएफ के जरिए शुक्राणु को कोख में प्रतिरोपित किया जाता है. जो महिला किसी दंपत्ति के बच्चे को अपनी कोख में पालती है उसे सेरोगेट मदर कहा जाता है. किराए पर कोख लेने वाली महिला और दंपत्ति के बीच एक खास एंग्रीमेंट किया जाता है. सरोगेट मदर को प्रेग्नेंसी के दौरान अपना ध्यान रखने और मेडिकल जरूरतों के लिए पैसे दिए जाते हैं.

    Tags: President Ram Nath Kovind, Ram Nath Kovind

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर