राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति ने लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटले को दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के अग्रदूत लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि.
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के अग्रदूत लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के अग्रदूत लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 11:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश आज लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटले की 145वीं जयंती मना रहा है. देश की आजादी में सरदार वल्लभभाई पटेल की अहम भूमिका थी. पटेल ने देश की आजादी में पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में अहम भूमिका निभाई थी. यही कारण है कि वल्लभभाई पटेल की जयंती को देश में राष्ट्रीय एकता दिवस के तौर पर मनाया जाता है.

आज के खास मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की. कई गणमान्य हस्तियों ने स्वतंत्र भारत के पहले गृह मंत्री की यहां पटेल चौक स्थित प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित की.
शाह ने सरकारी अधिकारियों, सुरक्षा कर्मियों और अन्य को राष्ट्रीय एकता दिवस पर शपथ दिलाई. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और नई दिल्ली से सांसद मीनाक्षी लेखी भी इस मौके पर मौजूद थीं. बाद में शाह ने ट्वीट किया, आज दिल्ली के पटेल चौक पर राष्ट्रीय गौरव और हम सबके प्रेरणास्रोत श्रद्धेय सरदार वल्लभभाई पटेल जी की जयंती पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की.

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि, सरदार पटेल जी का लौह नेतृत्व, कर्तव्यनिष्ठा और राष्ट्रभक्ति सदैव हमारा मार्गदर्शन करती रहेगी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पटेल की जयंती पर गुजरात के केवडिया में ‘स्‍टैच्यू ऑफ यूनिटी’ पर उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने ट्वीट किया, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के अग्रदूत लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि.



सरदार पटेल भारत के पहले गृहमंत्री थे
सरदार पटेल भारत के पहले गृहमंत्री थे और स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देश की 560 से अधिक रियासतों का एकीकरण कर अखंड भारत के निर्माण का श्रेय उनकी सियासी और कूटनीतिक क्षमता को दिया जाता है. साल 2014 से हर साल 31 अक्टूबर को ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है. पटेल का जन्म 31 अक्टूबर, 1875 को गुजरात के नडियाड में हुआ था. पटेल की जयंती पर देशभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और भारत के एकीकरण में उनके योगदान को याद किया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज