Home /News /nation /

कोविंद के लिए प्रणब मुखर्जी से भी बड़ी जीत हासिल करने की तैयारी में बीजेपी

कोविंद के लिए प्रणब मुखर्जी से भी बड़ी जीत हासिल करने की तैयारी में बीजेपी

राष्ट्रपति पद के लिए यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार बुधवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी. लेकिन उससे पहले ही बीजेपी ने उन्हें बड़ी मात देने की रणनीति पर अमल शुरू कर दिया है.

राष्ट्रपति पद के लिए यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार बुधवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी. लेकिन उससे पहले ही बीजेपी ने उन्हें बड़ी मात देने की रणनीति पर अमल शुरू कर दिया है.

राष्ट्रपति पद के लिए यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार बुधवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी. लेकिन उससे पहले ही बीजेपी ने उन्हें बड़ी मात देने की रणनीति पर अमल शुरू कर दिया है.

    राष्ट्रपति पद के लिए यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार बुधवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी तो एनडीए उम्‍मीदवार रामनाथ कोविंद प्रचार में जुटे हुए हैं. बीजेपी ने भी कोविंद की बड़ी जीत के लिए रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. कोविंद की जीत लगभग तय है बावजूद इसके वे कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. उत्‍तर प्रदेश से उन्‍होंने प्रचार शुरू किया था.

    अब तक कोविंद उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का दौरा कर चुके हैं और बुधवार को जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे. बीजेपी सूत्रों का कहना है कि उनकी जीत तो सुनिश्चित है, लेकिन अब वो चाहते हैं कि यूपीए और एनडीए के प्रत्याशी के बीच का अंतर बढ़ाया जा सके. बीजेपी की वर्तमान गणना के मुताबिक उनके पास 62 से 63% वोट संख्या मौजूद है. अब कोशिश है कि इस वोट प्रतिशत को 70 फीसदी तक पहुंचा दिया जाए.

    अगर बीजेपी 70 प्रतिशत वोट जुटा लेती है तो पिछली बार प्रणब मुखर्जी को मिले वोट संख्या भी पीछे छूट जाएगी. इसके जरिए वो जनता में ये संदेश देने में भी कामयाब रहेगी कि विपक्ष नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के खिलाफ जिस महागठबंधन या महाएकता की बात करता है, वो सिर्फ कागजों में है.

    दरअसल एनडीए के पास अपने बूते पर 49 फीसदी के करीब वोट मौजूद हैं. लेकिन गैर-एनडीए पार्टियों जैसे जेडीयू, एआईएडीएमके (दोनों धड़े), बीजू जनता दल, तेलंगाना राष्ट्र समिति, वाईएसआरसीपी जैसे दलों को जोड़ दिया जाए तो ये आंकड़ा 62 फीसदी तक पहुंच जाता है. इसके अलावा ओम प्रकाश चौटाला की इनेलो को लेकर भी बीजेपी आश्वस्‍त है कि उनका समर्थन भी उन्हें ही मिलेगा. अब बीजेपी ने इससे आगे का खेल शुरू कर दिया है.

    पार्टी सूत्रों की माने तो वो तीन-चार छोटे राजनीतिक दलों और देश भर के निर्दलीय विधायकों से भी संपर्क कर रही है. बीजेपी उन्‍हें एनडीए के पक्ष में वोटिंग करने के लिए समझाने में जुटी है. बीजेपी को उम्मीद है कि चूंकि राष्ट्रपति चुनाव में किसी तरह का पार्टी व्हिप नहीं होता, लिहाजा पूर्वोत्तर में जिस तेजी से उनके गठबंधन का प्रभाव बढ़ा है, उससे कई विधायक अपनी पार्टी लाइन के खिलाफ जाकर भी उन्हें समर्थन दे सकते हैं.

    बीजेपी की कोशिश है कि पिछली बार प्रणब मुखर्जी को 69 फीसदी मतों के साथ जीत हासिल हुई थी. इस बार जीत का आंकड़ा अगर उससे ऊपर जाता है तो वो 2019 के चुनाव में जनता को दिखाई जा रही विपक्षी महाएकता की तस्वीर को बनने से पहले ही बिगाड़ सकती है.

    ये भी पढ़ें

    राष्ट्रपति चुनाव: रामनाथ कोविंद के समर्थन में उतरा यह कांग्रेसी नेता और फिल्म स्टार

    राष्ट्रपति चुनाव के लिए खड़ी हुईं मीरा कुमार तो लोगों ने कहा 'बैठ जाइये'

    Tags: Meira kumar, Ramnath kovind

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर