अपना शहर चुनें

States

5 राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले BJP की अहम बैठक, PM मोदी भी हुए शरीक

पीएम मोदी ने बैठक को संबोधित भी किया (Photo- Twitter/BJP4India)
पीएम मोदी ने बैठक को संबोधित भी किया (Photo- Twitter/BJP4India)

BJP Office Bearers Meeting: प्रधानमंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर बैठक की शुरुआत की और बाद में उसे संबोधित भी किया. बैठक में कोविड-19 महामारी के दौरान मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी गई और इस संबंध में एक शोक प्रस्ताव भी पारित किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 5:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने एनडीएमसी कनवेंशन सेंटर में रविवार को आयोजित भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित किया. भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा (BJP Chief JP Nadda) ने भी बैठक को संबोधित किया. इस बैठक में भाजपा के सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रदेशों के अध्यक्ष, राज्यों के प्रभारी व सह-प्रभारी तथा राज्यों के संगठन मंत्री भी शामिल हुए. प्रधानमंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर बैठक की शुरुआत की और बाद में उसे संबोधित भी किया. बैठक में कोविड-19 महामारी के दौरान मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी गई और इस संबंध में एक शोक प्रस्ताव भी पारित किया गया.

भाजपा महासचिव अरुण सिंह ने बताया कि दिन भर चलने वाली बैठक के दौरान असम, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव, आत्मनिर्भर भारत अभियान और तीन कृषि कानूनों के बारे में भी चर्चा होगी. उन्होंने बताया कि बैठक में फिलहाल प्रस्तावों पर चर्चा हो रही है और बैठक के बाद पार्टी के आगामी कार्यक्रमों की रुपरेखा की घोषणा की जाएगी.

बंगाल में भाजपा को जीत का विश्वास
वहीं भाजपा के उपाध्यक्ष रमन सिंह ने कहा कि बैठक में पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी के आगामी विधानसभा चुनावों पर चर्चा हुई. सभी कार्यकर्ताओं ने आत्मविश्वास के साथ कहा कि पश्चिम बंगाल में इस बार भाजपा की जीत होगी. इसके अलावा हम असम में भी जीत दर्ज करने जा रहे हैं. सिंह ने कहा कि इस बार पश्चिम बंगाल की जनता का अपार समर्थन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा को मिल रहा है.
वहीं कृषि कानूनों को लेकर सिंह ने कहा कि कृषि कल्याण, कृषि सुधार और किसानों के हित में पीएम मोदी ने तीन कानूनों के माध्यम से बड़े फैसले लिए. किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य मिले, आय दोगुनी हो, किसान अपनी उपज कहीं भी बेचने सके ऐसी स्वतंत्रता इन कानूनों में मिली है.



रमन सिंह ने कहा कि "किसानों का प्रदर्शन राजनीति से प्रेरित है. देश भर के किसान कानूनों से खुश हैं. देश के अलग-अलग हिस्सों में इन कानूनों का स्वागत किया गया है. मुझे लगता है कि प्रदर्शन को जिंदा के पीछे कांग्रेस और वामपंथी पार्टियों की साजिश है."

कोरोना काल में देश ने पेश की मिसाल
रमन सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कोरोना की चुनौतियों से निपटने में भाजपा सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि कि कोरोना के दौरान भारत के सामने सबसे बड़ी चुनौती इस संकट से निपटने की थी, क्योंकि 130 करोड़ की आबादी वाले देश में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत नहीं था. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना की चुनौती से बखूबी निपटते हुए भारत को दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की.

सिंह ने कहा कोरोना काल में सेवा के संकल्प में संगठन को गतिशील करने का काम माननीय प्रधानमंत्री ने किया.

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने साथ-साथ सेवा भाव, संतुलन, संयम, समन्वय, सकारात्मक, सद्भाव और संवाद के मंत्र के साथ सेवा ही संगठन कार्यक्रम से 22 करोड़ से अधिक लोगों को खाने की व्यवस्था की गई. हमारे वैज्ञानिकों की मेहनत के कारण भारत ने दो-दो कोरोना वैक्सीन बनाने में सफलता हासिल की. उन्होंने कहा कि आज दुनिया के 17 देशों को भारत वैक्सीन भेज रहा है.

सिंह ने कहा कि भारत ने 1 करोड़ कोरोना टीकाकरण का लक्ष्य मात्र 34 दिन में पूरा किया है, जबकि यूके ने 56 दिनों में 1 करोड़ टीकाकरण किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज