Home /News /nation /

राष्ट्र के नाम पीएम मोदी का संबोधनः सज्जनों के नाम रियायत, बुरे लोगों पर कठोरता के संकेत

राष्ट्र के नाम पीएम मोदी का संबोधनः सज्जनों के नाम रियायत, बुरे लोगों पर कठोरता के संकेत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार शाम राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि दीपावली के बाद देश में ऐतिहासिक शुद्धि यज्ञ चला है. उन्होंने नए साल की बधाई देते हुए कहा कि सवा सौ करोड़ देशवासियों ने दिक्कतें सहकर देश के लिए अपना दायित्व निभाया.

अधिक पढ़ें ...
  • Pradesh18
  • Last Updated :
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार शाम राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि दीपावली के बाद देश में ऐतिहासिक शुद्धि यज्ञ चला है. उन्होंने नए साल की बधाई देते हुए कहा कि सवा सौ करोड़ देशवासियों ने दिक्कतें सहकर देश के लिए अपना दायित्व निभाया.

    अपने संबोधन में नोटबंदी को लेकर उन्होंने कहा कि गरीबी से निकलने को आतुर देशवासियों ने भारत के उज्ज्वल भविष्य के लिए गजब की मेहनत की है. सवा सौ करोड़ देशवासियों ने अपप्रचार के बीच भी सकारात्मकता बना कर रखा. सच्चाई और अच्छाई के लिए सरकार और जनता ने कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ी है.

    बीते 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद किए जाने के एलान के बाद पीएम मोदी का राष्‍ट्र के नाम यह दूसरा संबोधन है. प्रधानमंत्री ने लेसकैश अर्थव्यवस्था के लिए एक रोडमैप भी पेश किया.

    नोटबंदी के बाद तय मियाद पूरी, आलोचकों को जवाब

    नोट बदलने के लिए तय मियाद यानी 50 दिन पूरे होने के मौके पर पीएम मोदी देशवासियों को धन्यवाद दिया. उन्होंने नोटबंदी से देश को हुए नफे को भी गिनाया. इन बेहद मुश्किल दिनों में लोगों ने धैर्य और संयम बनाए रखा और सरकार ने कैसे इसे संभालने की कोशिश की पीएम मोदी इसके बारे में भी बताया.

    बेईमानों, भ्रष्टचारियों को कठोर कानूनी सजा, ईमानदारों की मदद

    प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष की ओर से लगातार लगाए जा रहे आरोपों पर भी बयान दिया. उन्होंने अपप्रचार को जनता ने नकार दिया. कालाधन, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, नक्सलवाद वगैरह पर लगाम लगने के साथ ही देश को कई बड़े फायदे नोट बदलने से हुई. लेस कैश इकोनॉमी को लेकर भी देश आगे बढ़ा है.

    बैंकिंग प्रणाली को दिए गए सुधार के निर्देश

    पीएम मोदी ने कहा कि समान आकार वाली अर्थव्यवस्थाओं के मुकाबले भारतीय अर्थव्यवस्था में नकदी प्रचलन गैर अनुपातिक रूप से अधिक था जिससे महंगाई बढ़ी. लोगों की परेशानियों को दूर करने के लिए सभी संबंधित पक्षों को बैंकिंग प्रणाली को खासतौर से ग्रामीण और दूरदराज के इलाकों में सामान्य रूप से बहाल करने के निर्देश दिए गए हैं.

    लोगों को तकलीफ हुई पर डटे रहे

    पीएम मोदी ने कहा कि मुझे पता है कि लोगों को अपना पैसा निकालने के लिए कतारों में खड़े होना पड़ा लेकिन लोग भ्रष्टाचार, काला धन और जाली मुद्रा के खिलाफ लड़ाई में एक कदम भी पीछे नहीं हटना चाहा. इन लोगों के खून पसीने और कडी मेहनत से एक उज्ज्वल भविष्य की नींव रखी गयी है.

    केवल 24 लाख लोगों की आय 10 लाख से ज्यादा

    उन्होंने कहा कि 125 करोड़ लोगों ने यह साबित कर दिया है कि नोटबंदी के बाद की कठिनाइयों के बावजूद सचाई और ईमानदारी उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण है. पीएम मोदी ने कहा कि हमें आर्थिक प्रणाली में नकदी और नकदीविहीन होने के बीच संतुलन कायम करना होगा. केवल 24 लाख लोगों ने अपनी आय दस लाख रूपये से अधिक होने की घोषणा की है.

    खेती, आवास और उद्यम के लिए नई योजनाएं

    देश के सवा सौ करोड़ नागरिकों के लिए सरकार कुछ नई योजनाएं ला रही है. गरीब, निम्न मध्यम वर्ग, और मध्यम वर्ग के लोग घर खरीद सकें, इसके लिए सरकार ने कुछ बड़े फैसले लिए हैं. अब प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरों में इस वर्ग को नए घर देने के लिए दो नई स्कीमें बनाई गई हैं.

    नोटबंदी के बाद खेती के आंकड़ों में बढ़त

    पीएम मोदी ने 2017 में घर बनाने के लिए 9 लाख रुपए तक के कर्ज पर ब्याज में 4 प्रतिशत की छूट और 12 लाख रुपए तक के कर्ज पर ब्याज में 3 प्रतिशत की छूट. पिछले साल की तुलना में इस वर्ष रबी की बुवाई 6 प्रतिशत ज्यादा हुई है. फर्टिलाइजर भी 9 प्रतिशत ज्यादा उठाया गया है. डिस्ट्रिक्ट कॉपरेटिव सेंट्रल बैंक और प्राइमरी सोसायटी से जिन किसानों ने खरीफ और रबी की बुवाई के लिए कर्ज लिया था.

    किसानों को सरकार देगी बड़ी आर्थिक मदद

    उन्होंने कहा कि उस कर्ज के 60 दिन का ब्याज सरकार वहन करेगी और किसानों के खातों में ट्रांसफर करेगी. अगले तीन महीने में 3 करोड़ किसान क्रेडिट कार्डों को रूपे कार्ड में बदला जाएगा. उन्होंने कहा कि 7.5 लाख रुपए तक की रकम पर 10 साल तक के लिए सालाना 8 प्रतिशत का ब्याज दर सुरक्षित किया जाएगा.

    पीएम मोदी ने देश के युवाओं से, व्यापारी वर्ग से, किसानों से आग्रह किया कि भीम एप से ज्यादा से ज्यादा जुड़ें. भ्रष्टाचार औऱ कालेधन के खिलाफ इस लड़ाई को हमें रुकने नहीं देना है.

    Tags: Happy new year, Narendra modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर