लाइव टीवी

अयोध्या का फैसला नया सवेरा लेकर आया, सबकी जिम्मेदारी बढ़ी: पीएम नरेंद्र मोदी

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 7:23 PM IST
अयोध्या का फैसला नया सवेरा लेकर आया, सबकी जिम्मेदारी बढ़ी: पीएम नरेंद्र मोदी
अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले और करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन पर पीएम ने राष्ट्र को संबोधित किया.

अयोध्या भूमि विवाद (Ayodhya Verdict) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि पूरी दुनिया ये तो मानती ही है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है, आज दुनिया ने जान लिया है कि भारत का लोकतंत्र कितना जीवंत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 7:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शनिवार को राष्ट्र के नाम संदेश दिया. पीएम ने यह संदेश अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले और करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के बाद दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे अहम मामले में फैसला सुनाया है जिसके पीछे सैकड़ों वर्षों का इतिहास है. पूरे देश कि ये इच्छा थी कि इस मामले की कोर्ट में हर रोज़ सुनवाई हो. सुप्रीम कोर्ट के फैसले से दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया का समापन हुआ है.

पीएम मोदी ने कहा कि साथियों पूरी दुनिया ये तो मानती ही है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है, आज दुनिया ने जान लिया है कि भारत का लोकतंत्र कितना जीवंत है. भारत विविधता में एकता के लिए जाना जाता है और आज ये मंत्र अपनी पूर्णता के साथ खिला हुआ नज़र आ रहा है. हज़ारों साल बाद आज भी किसी को भारत के इस गुण को समझना होगा तो वो आज के इस फैसले और घटना का ज़रूर उल्लेख करेगा. ये घटना इतिहास के पन्नों से उठाई हुई नहीं है देश के सवा सौ करोड़ लोगों ने इसका सृजन किया है. भारत की न्यायपालिका के लिए भी ये स्वर्णिम दिन है.



देश की न्याय प्रणाली अभिनंदन के काबिल

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सबको सुना और ख़ुशी की बात है कि फैसला सर्वसम्मति से आया. नागरिक होने के नाते हम जानते हैं कि घर में भी कोई फैसला सुलझाना हो तो कितनी दिक्कत होती है. पीएम ने कहा देश के न्यायाधीश, न्यायालय और न्याय प्रणाली अभिनंदन के काबिल हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज 9 नवंबर है और आज ही के दिन बर्लिन की दीवार गिरी थी और आज ही करतारपुर कॉरिडोर की शुरुआत हुई है. इसमें भारत का भी सहयोग है और पाकिस्तान का भी.
9 नवंबर की ये तारीख हमें साथ रहकर आगे बढ़ने का संदेश दे रही है, आज का दिन जुड़ने और आगे बढ़ने का है. इसके संबंध में अगर किसी के भी मन में कोई कटुता रही तो आज उसे तिलांजली देने का भी दिन है.
Loading...

पीएम ने कहा धैर्य रखना जरूरी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने देश को संदेश दिया है कि कठिन से कठिन मसले का हल कानून और संविधान के दायरे से ही आता है. हमें सीख लेनी चाहिए कि भले ही कुछ वक़्त लगे लेकिन धैर्य रखना ज़रूरी है. पीएम ने कहा कि हमें भारत के संविधान और उनकी न्यायिक प्रणाली पर विश्वास अडिग रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि ये फैसला एक नया सवेरा लेकर आया है

पीएम ने कहा कि इस विवाद का भले ही कई पीढ़ियों पर असर पड़ा हो लेकिन अब हमें संकल्प लेना होगा कि नई पीढ़ी नए सिरे से न्यू इंडिया के निर्माण में जुट जाएगी. हम आज नया इंडिया बनाने का संकल्प लेना होगा. हमें सबको साथ लेते हुए, सबको विश्वास में लेते हुए आगे ही बढ़ते जाना है.

पीएम ने कहा- नागरिकों का दायित्व बढ़ा
प्रधानमंत्री ने कहा कि राम मंदिर का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने दे दिया है, अब हर नागरिक की राष्ट्र निर्माण की जिम्मेदारी और बढ़ गयी है. अब हर नागरिक का दायित्व पहले से ज्यादा बढ़ गया है. हमारे बीच का सौहार्द, शांति सद्भाव और स्नेह देश के विकास के लिए महत्वपूर्ण है. हमें भविष्य की ओर देखना है और उनके लिए काम करना है. भारत के पास और लक्ष्य है और मंजिलें भी हैं. आज हम 9 नवंबर को याद रखते हुए आगे बढ़ने का संकल्प लें.

ये भी पढ़ें-
अयोध्या पर फैसले के बाद बीजेपी नेता बोले-इन 2 नेताओं की वजह हम यहां पहुंचे

1986 में राममंदिर का ताला खुलवाने में राजीव गांधी की नहीं थी कोई भूमिका

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 5:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...